BREAKING NEWS

जाप ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र, बेरोजगारों को रोजगार देने का किया वादा ◾COVID-19 से संक्रमित मनीष सिसोदिया डेंगू से भी पीड़ित हुए, लगातार गिर रही है ब्लड प्लेटलेट्स◾कृषि और श्रम कानून को लेकर राकांपा का केंद्र पर तंज, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी स्थापित कर रही है सरकार ◾महिला अपराध पर सीएम योगी सख्त, छेड़खानी और बलात्कारियों के पोस्टर लगाने का दिया आदेश ◾कांग्रेस का बड़ा आरोप - केंद्र सरकार ने कृषि विधेयकों के जरिए नयी जमींदारी प्रथा का उद्घाटन किया◾IPL 2020 KXIP vs RCB: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾कृषि बिल के विरोध पर बोले केंद्रीय मंत्री तोमर, कांग्रेस पहले अपने घोषणापत्र से मुकरने की करे घोषणा◾महीनों के लॉकडाउन के बाद भी नहीं थम रहा है कोरोना, जानिये भारत क्यों चुका रहा है भारी कीमत◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा- विपक्षी दलों की राजनीति हो गई है दिशाहीन ◾ICU में भर्ती डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की हालत स्थिर, अगले कुछ दिनों में फिर होगा कोरोना टेस्ट ◾रेलवे ने जताई चिंता - 'रेल रोको आंदोलन' से जरूरी सामानों और राशन की आवाजाही पर पड़ेगा असर ◾महाराष्ट्र : एकनाथ शिंदे भी कोरोना वायरस से संक्रमित, संपर्क में आए लोगों से जांच करवाने की अपील की ◾कांग्रेस ने अमित शाह की रैली को बताया जनता का अपमान, कोरोना संकट में धनबल की राजनीति का लगाया आरोप◾Fit India Movement के एक वर्ष पूरा होने पर बोले PM मोदी-जितना फिट होगा इंडिया, उतना हिट होगा इंडिया◾कैग की रिपोर्ट में खुलासा: दिल्ली में लगे 44% CCTV कैमरे खराब, 20 साल पुरानी तकनीक के भरोसे पुलिस◾ श्रम कानून : राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना, बोले-किसानों के बाद मजदूरों पर किया वार ◾लफ्फाजी का लॉलीपॉप हो गए हैं राहुल गांधी : मुख्तार अब्बास नकवी◾J&K के पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया, बडगाम में 1 जवान शहीद ◾देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 86,508 नए मामले दर्ज, संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख से अधिक◾ड्रग्स केस : बॉलीवुड की ड्रग्स मंडली का होगा खुलासा, सिमोन खंबाटा से NCB की पूछताछ जारी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

आतंकी समूहों के बचाव के लिए राजनीतिक सहूलियत की दलीलें अब बर्दाश्त नहीं : सीतारमण 

भारत ने जोर देकर कहा कि दुनिया को अब यह अहसास हो गया है कि "अच्छे आतंकवादी" कुछ नहीं होता। साथ ही कहा कि आतंकी संगठनों के बचाव के लिए दी जाने वाली राजनीतिक सहूलियत की दलीलें अब बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। उन्होंने यह स्पष्ट रूप से पाकिस्तान के संदर्भ में कहा, जिस पर आरोप लगते रहते हैं कि वह पड़ोसियों पर हमले करने वाले आतंकी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करवाता है। शंघाई सहयोग संगठन परिषद के रक्षा मंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सीमापार आतंकवाद, चरमपंथ, साइबर सुरक्षा और मादक पदार्थों की तस्करी जैसे मुद्दे उठाए।

उन्होंने कहा, "इन मुद्दों के ऐसे समाधान की जरूरत है जो सहयोग की रूपरेखा पर आधारित हों और जिसमें सभी देश और पक्षकार शामिल हों।" पाकिस्तानी रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर खान की मौजूदगी में सीमापार आतंकवाद के मुद्दे को उठाते हुए सीतारमण ने कहा कि आतंकवाद को किसी भी तरह का समर्थन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

उन्होंने कहा , "आतंकी संगठनों के बचाव के लिए राजनीतिक सहूलियत के तर्क देना अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। निश्चित ही अब दुनिया को अहसास हो चुका है कि अच्छे आतंकी जैसा कुछ नहीं होता।" भारत और अफगानिस्तान आरोप लगाते हैं कि पाकिस्तान लश्कर ए तैयबा , जैश ए मोहम्मद , तालिबान और हक्कानी नेटवर्क जैसे आतंकी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करवाता है।

सीतारमण ने कहा , "अफगानिस्तान में आतंकवाद के लगातार बने हुए खतरे के प्रति हमें कोई भी समझौता नहीं करने का रूख अपनाना चाहिए। स्थिरता प्राप्त करने में अफगानिस्तान की सहायता करने के लिए भारत प्रतिबद्ध है, इसमें अफगान सुरक्षा बलों की क्षमता निर्माण में सहयोग करना भी शामिल है।"

रक्षा मंत्री बनने के बाद पहली बार चीन आई सीतारमण ने कहा कि प्रभाव के नए केंद्र विकसित हुए हैं , खासकर एशिया में जिसके कारण भू रणनीतिक शत्रुता पनप रही है। एससीओ रक्षा मंत्रियों की बैठक में उन्होंने कहा, "एससीओ सदस्यों के तौर पर हम बेहतर सहयोग के लिए काम करते हुए शांति और स्थिरता की ओर बढ़ सकते हैं।"

रक्षा मंत्री ने कहा, "सालाना सात से आठ फीसदी की दर से विकसित होती अर्थव्यवस्था के साथ एक युवा और सक्रिय भारत एससीओ में शामिल हुआ और सहयोग के नए दौर में प्रवेश करना चाहता है। मैं सभी को आमंत्रित करती हूं कि वह साझा समृद्धि और शांति की साझेदारी की ओर भारत के साथ मिलकर सक्रियता से काम करे।"

सीतारमण ने कहा कि रूस में इस वर्ष के अंत में होने वाले एससीओ शांति मिशन के संयुक्त सैन्य अभियान में वह मजबूत भागीदारी करेगा। उन्होंने कहा , "हमारा मानना है कि एससीओ रूपरेखा में सहयोग से क्षेत्र में भारत के द्विपक्षीय रक्षा संबंध मजबूत होंगे।"

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।