BREAKING NEWS

ममता ने नागरिकता कानून को लेकर बंगाल में तोड़फोड़ करने वालों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी ◾भाजपा ने आज तक जो भी वादे किए है वह पूरे भी किए गए हैं - राजनाथ◾असम में हालात काबू में, 85 लोगों को गिरफ्तार किया गया : असम DGP◾पीएम मोदी के सामने मंत्री देंगे प्रजेंटेशन, हो सकता है कैबिनेट विस्तार◾मध्यम आय वर्ग वाला देश बनना चाहते हैं हम : राष्ट्रपति ◾कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रैली में पकौड़े बेच सत्ताधारियों का मजाक उड़ाया ◾भाजपा ने किया कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन : किसानों के प्रति असंवेदनशील होने का लगाया आरोप ◾कांग्रेस जवाब दे कि न्यायालय में उसने भगवान राम के अस्तित्व पर क्यों सवाल उठाए : ईरानी◾दिल्ली के रामलीला मैदान में 22 दिसंबर को रैली कर दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार शुरू करेंगे PM मोदी ◾जामिया के छात्रों ने आंदोलन फिलहाल वापस लिया◾सीएए के खिलाफ जनहित याचिका दायर की, एआईएमआईएम हरसंभव तरीके से कानून के खिलाफ लडे़गी : औवेसी◾गंगा बैराज की सीढियों पर अचानक फिसले प्रधानमंत्री मोदी ◾संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ पूर्वोत्तर, बंगाल में प्रदर्शन जारी◾PM मोदी ने कानपुर में वायुसेना कर्मियों के साथ की बातचीत ◾कानपुर : नमामि गंगे की बैठक के बाद PM मोदी ने नाव पर बैठकर गंगा की सफाई का लिया जायजा ◾राहुल गांधी के लिए ‘राहुल जिन्ना’ अधिक उपयुक्त नाम : भाजपा ◾TOP 20 NEWS 14 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾उत्तर प्रदेश : फतेहपुर में दोहराया गया 'उन्नाव कांड', बलात्कार के बाद पीड़िता को जिंदा जलाया ◾साबित हो गया कि मोदी ने झूठे वादे किए थे : मनमोहन सिंह◾जम्मू-कश्मीर : फारुक अब्दुल्ला की हिरासत अवधि 3 महीने और बढ़ी◾

देश

आतंकी समूहों के बचाव के लिए राजनीतिक सहूलियत की दलीलें अब बर्दाश्त नहीं : सीतारमण 

 sitharaman

भारत ने जोर देकर कहा कि दुनिया को अब यह अहसास हो गया है कि "अच्छे आतंकवादी" कुछ नहीं होता। साथ ही कहा कि आतंकी संगठनों के बचाव के लिए दी जाने वाली राजनीतिक सहूलियत की दलीलें अब बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। उन्होंने यह स्पष्ट रूप से पाकिस्तान के संदर्भ में कहा, जिस पर आरोप लगते रहते हैं कि वह पड़ोसियों पर हमले करने वाले आतंकी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करवाता है। शंघाई सहयोग संगठन परिषद के रक्षा मंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सीमापार आतंकवाद, चरमपंथ, साइबर सुरक्षा और मादक पदार्थों की तस्करी जैसे मुद्दे उठाए।

उन्होंने कहा, "इन मुद्दों के ऐसे समाधान की जरूरत है जो सहयोग की रूपरेखा पर आधारित हों और जिसमें सभी देश और पक्षकार शामिल हों।" पाकिस्तानी रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर खान की मौजूदगी में सीमापार आतंकवाद के मुद्दे को उठाते हुए सीतारमण ने कहा कि आतंकवाद को किसी भी तरह का समर्थन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

उन्होंने कहा , "आतंकी संगठनों के बचाव के लिए राजनीतिक सहूलियत के तर्क देना अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। निश्चित ही अब दुनिया को अहसास हो चुका है कि अच्छे आतंकी जैसा कुछ नहीं होता।" भारत और अफगानिस्तान आरोप लगाते हैं कि पाकिस्तान लश्कर ए तैयबा , जैश ए मोहम्मद , तालिबान और हक्कानी नेटवर्क जैसे आतंकी समूहों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करवाता है।

सीतारमण ने कहा , "अफगानिस्तान में आतंकवाद के लगातार बने हुए खतरे के प्रति हमें कोई भी समझौता नहीं करने का रूख अपनाना चाहिए। स्थिरता प्राप्त करने में अफगानिस्तान की सहायता करने के लिए भारत प्रतिबद्ध है, इसमें अफगान सुरक्षा बलों की क्षमता निर्माण में सहयोग करना भी शामिल है।"

रक्षा मंत्री बनने के बाद पहली बार चीन आई सीतारमण ने कहा कि प्रभाव के नए केंद्र विकसित हुए हैं , खासकर एशिया में जिसके कारण भू रणनीतिक शत्रुता पनप रही है। एससीओ रक्षा मंत्रियों की बैठक में उन्होंने कहा, "एससीओ सदस्यों के तौर पर हम बेहतर सहयोग के लिए काम करते हुए शांति और स्थिरता की ओर बढ़ सकते हैं।"

रक्षा मंत्री ने कहा, "सालाना सात से आठ फीसदी की दर से विकसित होती अर्थव्यवस्था के साथ एक युवा और सक्रिय भारत एससीओ में शामिल हुआ और सहयोग के नए दौर में प्रवेश करना चाहता है। मैं सभी को आमंत्रित करती हूं कि वह साझा समृद्धि और शांति की साझेदारी की ओर भारत के साथ मिलकर सक्रियता से काम करे।"

सीतारमण ने कहा कि रूस में इस वर्ष के अंत में होने वाले एससीओ शांति मिशन के संयुक्त सैन्य अभियान में वह मजबूत भागीदारी करेगा। उन्होंने कहा , "हमारा मानना है कि एससीओ रूपरेखा में सहयोग से क्षेत्र में भारत के द्विपक्षीय रक्षा संबंध मजबूत होंगे।"

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।