BREAKING NEWS

RSS चीफ ने चीन , अमेरिका पर साधा निशाना , कहा - महाशक्तियां दूसरे देशों की स्वार्थी तरीके से मदद करती हैं◾T20 World Cup : 6 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना होगा भारत◾PM मोदी ने देरी से पहुंचने की वजह से जनसभा को नहीं किया संबोधित◾PM मोदी ने दादा साहब फाल्के पुरस्कार मिलने पर आशा पारेख को दी बधाई ◾तरंगा-आबू रोड रेल लाइन की योजना 1930 में बनाई गई थी लेकिन दशकों तक ठंडे बस्ते में पड़ी रही : PM मोदी◾पुतिन ने यूक्रेन के इलाकों को रूस का हिस्सा किया घोषित , कीव और पश्चिमी देशों ने किया खारिज , EU ने कहा -कभी मान्यता नहीं देंगे ◾आखिर ! क्या होगा सोनिया का फैसला ?, अब सब की निगाहें राजस्थान पर◾PM मोदी ने अंबाजी मंदिर में प्रार्थना की, गब्बर तीर्थ में ‘महा आरती’ में हुए शामिल◾Maharashtra: महाराष्ट्र में कोविड-19 के 459 नए मामले, 5 मरीजों की मौत◾शाह के दौरे से पहले कश्मीर को दहलाना चाहते थे आतंकी, सुरक्षाबलों ने बरामद किया जखीरा ◾भाजपा ने थरूर को घोषणापत्र में भारत का विकृत नक्शा दिखाने पर लिया आड़े हाथ, जानें क्या कहा ... ◾कार्यकर्ताओं से थरूर का वादा - बंद करूंगा एक लाइन की पंरपरा, क्षत्रपों को दूंगा बढ़ावा ◾कांग्रेस का अध्यक्ष मैं हूं? थरूर बोले- पार्टी को लेकर मेरा अपना दृष्टिकोण.... मैं हूं शशि पीछे नहीं हटूंगा ◾KCR द्वारा राष्ट्रीय पार्टी की औपचारिक घोषणा के बाद विमान खरीदेगा टीआरएस ◾अफगानिस्तान : धमाके में बिखर गए मासूमों के शरीर, काबुल के स्कूल में फिदायीन हमला ◾ अफगानिस्तान : धमाके में बिखर गए मासूमों के शरीर, काबूल के स्कूल में फिदायीन हमला ◾पंजाब : कांग्रेस ने भगवंत मान पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप, पूछा- क्या हुआ उन उपदेशों का ?◾CDS जनरल चौहान ने कार्यभार संभालने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से की मुलाकात ◾कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में नामांकन कर सबको चौंकाने वाले केएन त्रिपाठी कौन ? चुनाव को लेकर कितने गंभीर ◾इलाहाबाद HC ने मुख्यमंत्री योगी द्वारा दिए गए राजस्थान में आपत्तिजनक भाषण पर दायर याचिका को खारिज किया ◾

रोहिंग्याओं पर राजनीति! भाजपा ने कहा- केजरीवाल रोहिंग्याओं को ‘रेवड़ी’ बांट रहे, राष्ट्रीय सुरक्षा के समझौते को तैयार

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री पर हमले तेज करते हुए बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल अवैध प्रवासियों को ‘‘रेवड़ी’’ बांट रहे हैं और वोट बैंक की राजनीति के लिए देश की सुरक्षा से समझौता करने को तैयार हैं।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि राजनीतिक लाभ के लिए ‘‘केजरीवाल रोहिंग्याओं को मुफ्त में पानी, बिजली और राशन दे रहे हैं। और दिल्ली सरकार अब उन्हें आवास देने की योजना बना रही है। अब वे उन्हें ‘रेवड़ी’ बांट रहे हैं।’’

कुर ने केजरीवाल को ‘‘मुख्यमंत्री नहीं झूठमंत्री’’ करार देते हुए कहा....

रोहिंग्या शरणार्थियों को आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए बाहरी दिल्ली के बक्करवाला में बनाए गए विभिन्न अपार्टमेंट में भेजे जाने को लेकर पिछले दो दिनों से भाजपा और राजधानी की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी के बीच वाकयुद्ध जारी है।

यह विवाद ऐसे समय खड़ा हुआ जब केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर कहा था कि रोहिंग्या शरणार्थियों को बक्करवाला के अपार्टमेंट भेजा जाएगा और उन्हें बुनियादी सुविधाएं तथा पुलिस सुरक्षा प्रदान की जाएगी।विवाद बढ़ने पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्पष्टीकरण जारी करते हुए इस तरह का कोई कदम उठाने की बात से इनकार किया और कहा कि दिल्ली सरकार ने रोहिंग्याओं को एक नये ठिकाने पर भेजने का प्रस्ताव रखा था, लेकिन यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया कि ‘अवैध विदेशी प्रवासी’ उनका प्रत्यर्पण लंबित रहने तक शिविरों में रहेंगे।ठाकुर ने केजरीवाल को ‘‘मुख्यमंत्री नहीं झूठमंत्री’’ करार देते हुए कहा कि वह साफ झूठ बोल रहे हैं।उन्होंने कहा, ‘‘केजरीवाल और आप की सरकार वोटबैंक की राजनीति के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने को तैयार हैं। लेकिन भाजपा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है।’’

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने कई बार स्पष्ट किया है कि अवैध प्रवासियों को यहां शरण नहीं दी जाएगी और सरकार उन्हें उनके देशों में भेजने के लिए संबंधित राष्ट्रों से बात कर रही है।उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक बार फिर स्पष्ट कर दूं कि गृह मंत्रालय ने साफ तौर पर कहा है कि रोहिंग्या मुसलमानों को भारतीय नागरिकता नहीं दी जाएगी। उन्हें वापस भेजा जाएगा।’’

सिसोदिया ने किसी का नाम लिये बगैर आरोप लगाया कि......

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इससे पहले आरोप लगाया कि केंद्र सरकार राष्ट्रीय राजधानी में रोहिंग्या शरणार्थियों को ‘स्थायी आवास’ देने की ‘गुपचुप’ कोशिश कर रही है।सिसोदिया ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के इस दावे को खारिज कर दिया कि इस बारे में दिल्ली सरकार ने प्रस्ताव दिया था।उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार शहर में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यू) श्रेणी के फ्लैटों में रोहिंग्या शरणार्थियों को स्थानांतरित करने की घोषणा को सुबह उपलब्धि बता रही थी, लेकिन जब आम आदमी पार्टी (आप) ने इस पर विरोध जताया तो उसने बाद में इसकी जिम्मेदारी दिल्ली सरकार पर डालना शुरू कर दिया।सिसोदिया ने किसी का नाम लिये बगैर आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस और कुछ अधिकारियों ने उप राज्यपाल वी के सक्सेना के निर्देश और केंद्र सरकार के इशारे पर शहर में रोहिंग्याओं को स्थायी आवास देने का फैसला लिया।उन्होंने कहा कि वे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के गृह मंत्री के संज्ञान में लाये बिना प्रस्ताव को सक्सेना की अनुमति के लिए भेज रहे थे।