BREAKING NEWS

कोविड-19 : देश में संक्रमण के मामले 18 लाख के पार, स्वस्थ होने वालों की संख्या 11.86 लाख हुई◾पीएम मोदी, राजनाथ, नड्डा ने रक्षा बंधन पर दी देशवासियों को शुभकामनाएं ◾दिल्लीः उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रक्षाबंधन की बधाई दी ◾सुशांत राजपूत मामले की जांच के लिए मुंबई पहुंचे IPS विनय तिवारी को बीएमसी ने किया क्वारनटीन◾कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा भी कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में कराए गए भर्ती◾विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए गाइडलाइन्स जारी किए ◾बिहार में बाढ़ की स्थिति और बिगड़ी, 53.67 लाख लोग बेहाल और जनजीवन बुरी तरह प्रभावित◾आईपीएल के लिए सरकार ने दी हरी झंडी, फाइनल 10 नवंबर को, चीनी प्रायोजक बरकरार ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 4.41 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 9,509 नए केस◾ममता बनर्जी समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के जल्द स्वस्थ होने की कामना की◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रेम और भाईचारे के त्योहार रक्षाबंधन के अवसर पर देशवासियों को दी शुभकामनाएं◾तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित कोरोना पॉजिटिव पाए गए◾8 महीने बाद भी लटका है CAA , गृह मंत्रालय ने नियम बनाने के लिए तीन और महीने का समय मांगा◾बीते 24 घंटों में रिकॉर्ड 51,000 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, रिकवरी रेट बढ़कर हुआ 65.44 प्रतिशत◾कोरोना वायरस की चपेट में आए गृहमंत्री अमित शाह, ट्वीट कर दी जानकारी ◾राम मंदिर भूमि पूजन में शामिल होंगे महंत नरेंद्र गिरी, सुन्नी वक्फ बोर्ड को भी न्योता◾सुशांत सुसाइड केस : जांच में तेजी लाने के लिए पटना के सिटी SP विनय तिवारी को भेजा गया मुंबई ◾सुशांत सिंह राजपूत केस : केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने CBI जांच की मांग को बताया जायज◾गैरकानूनी तरीके से नेताओं को हिरासत में लेने पर देश के लोकतंत्र को पहुंचता है नुकसान : राहुल गांधी◾UP की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण का कोरोना संक्रमण से निधन, CM योगी ने जताया शोक ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जल के बेहतर प्रबंधन के लिए ‘रिवर बेसिन प्रबंधन बिल’ लाने की तैयारी : शेखावत

जल के बेहतर प्रबंधन और अंतरराज्यीय बेसिन में जल विवादों को निपटाने के मकसद से सरकार गंगा नदी के साथ-साथ दर्जनभर अन्य नदियों के लिए 'रिवर बेसिन प्राधिकार' बनाने की पहल कर रही है और शीघ्र ही इस उद्देश्य के लिये ‘रिवर बेसिन प्रबंधन विधेयक’ लाने की तैयारी है। 

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि रिवर बोर्ड एक्ट बनाने का विषय इतने वर्षो से लंबित पड़ा है। ‘‘हमने इस दृष्टिकोण से वर्तमान समय में प्रासंगिक और ज्याद प्रभावशाली ‘रिवर बेसिन प्रबंधन विधेयक’ तैयार किया है। आने वाले समय में शीघ्र ही इस विधेयक को संसद में पेश करेंगे।’’ 

इस मसौदा विधेयक में जिन नदियों के लिए रिवर बेसिन अथॉरिटी का गठन किया जाना है उनमें गंगा बेसिन, गोदावरी बेसिन, ब्रह्मपुत्र-बराक और पूर्वोत्तर की अन्य नदियों के बेसिन, ब्रह्माणी - वैतरणी बेसिन, कावेरी बेसिन, सिंधु बेसिन, कृष्णा बेसिन, महानदी बेसिन, माही बेसिन, नर्मदा बेसिन, पेन्नार बेसन, स्वर्णरेखा बेसिन और तापी बेसिन शामिल हैं। 

बेसिन का आशय एक ऐसे भौगोलिक क्षेत्र से है जिसमें एक मुख्य नदी और उसकी सहायक नदियां प्रवाहित होती है और यह नदी जाकर समुद्र से मिलती है। प्रस्तावित विधेयक में रिवर बेसिन प्राधिकार गठित करने की बात कही गई है जिसका उद्देश्य अंतरराज्यीय नदी बेसिन का विकास, प्रबंधन और नियमन है। 

प्राधिकार को रिवर बेसिन मास्टर प्लान तैयार करना है। इसके तहत संरक्षित क्षेत्र की पहचान करना, मानव के हस्तक्षेप के प्रभाव का आकलन करना, पर्यावरण जरूरतों के मूल्यांकन के अलावा भूजल का आकलन जैसे विषय शामिल हैं। द्वितीय प्रशासनिक सुधार आयोग ने भी अपनी रिपोर्ट में 2008 में रिवर बेसिन ऑर्गेनाइजेशन बनाने की सिफारिश की थी। 

प्रस्तावित कानून रिवर बोर्ड एक्ट 1956 का स्थान लेगा जो काफी पुराना हो चुका है। इसके तहत जो भी नदी बेसिन प्राधिकरण बनाए जाएंगे उनकी प्रत्येक की एक संचालन परिषद होगी जिसमें उस नदी बेसिन में आने वाले राज्यों के मुख्यमंत्री बतौर सदस्य शामिल होंगे।

ये मुख्यमंत्री बारी-बारी से इस काउंसिल के अध्यक्ष का पदभार संभालेंगे। इस प्रस्तावित विधेयक के तहत जल को साझा सामुदायिक संसाधन के रूप में प्रबंधन करने का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा जल की मांग के प्रभावी प्रबंधन और इसकी बर्बादी रोकने के उपाय भी करने पर जोर दिया गया है।