BREAKING NEWS

पीएम मोदी UNGA को आज करेंगे संबोधित, आतंकवाद समेत इन मुद्दों पर होगी चर्चा ◾मोदी सरकार द्वारा किसानों पर किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ साथ मिलकर उठाएं आवाज : राहुल गांधी ◾देश में एक दिन की वृद्धि के बाद फिर घटे कोरोना के एक्टिव केस, संक्रमितों का आंकड़ा 59 लाख के पार ◾बॉलीवुड से जुड़े ड्रग केस की जांच के लिए तैयार NCB, दीपिका पादुकोण एजेंसी के सामने हुईं पेश ◾दुनियाभर में कोरोना केस 3 करोड़ 24 लाख के पार, 9 लाख 87 हजार से अधिक की मौत◾पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग, भारत ने दिया करारा जवाब ◾ अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह के जन्मदिन पर जानिये उनसे जुड़ी ख़ास बातें ◾पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के जन्मदिन पर बोले राहुल- उनके जैसे गंभीर प्रधानमंत्री की कमी महसूस कर रहा है देश ◾ अमेरिका में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 70 लाख के पार ◾ बिहार के 'रोबिनहुड' ने नीतीश की जमकर तारीफ की, NDA में हो सकते हैं शामिल ◾संयुक्त राष्ट्र महासभा में बोले पोप फ्रांसिस- कोरोना महामारी बदलाव के लिए अवसर है ◾आज का राशिफल (26 सितम्बर 2020)◾बिहार चुनाव में NDA को जीत का अनुमान : सर्वे ◾बिहार विधानसभा चुनाव में NDA ने सेट किया तीन चौथाई बहुमत का टारगेट◾UN में भाषण के दौरान पाक PM इमरान खान ने RSS और कश्मीर का मुद्दा उठाया, भारत ने किया बायकॉट◾CSK vs DC (IPL 2020) : दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 44 रन से हराया◾UP में विधानसभा उपचुनाव के लिये राजनीतिक दलों ने कसी कमर◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट, संक्रमितों का आंकड़ा 13 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 17,794 नए केस◾IPL-13: पृथ्वी शॉ का तूफानी अर्धशतक, दिल्ली ने चेन्नई के सामने रखा 176 रनों का लक्ष्य◾कोविड-19 : हर्षवर्धन ने बोले- देश की स्वास्थ्य सेवा से मृत्यु दर न्यूनतम और ठीक होने की दर अधिकतम रही◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बोले- विश्व भारती ने राष्ट्र निर्माण में शानदार भूमिका निभाई

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने विश्व भारती विश्वविद्यालय की सराहना करते हुए उसे देश की संस्कृति और चरित्र को बरकरार रखने वाला करार देते हुए कहा कि इस संस्थान का उनका यह दौरा किसी तीर्थयात्रा से कम नहीं है। विश्वविद्यालय के वार्षिक दीक्षांत समारोह को परिदर्शक (विजिटर) के तौर पर संबोधित करते हुए कोविंद ने कहा कि शिक्षा के इस केंद्र ने राष्ट्र निर्माण में शानदार भूमिका निभाई है। 

उन्होंने कहा, “मैं इसे (विश्वविद्यालय के दौरे को) एक तीर्थयात्रा कहूंगा क्योंकि आधुनिक भारत की दो महान विभूतियां रवींद्रनाथ टैगोर (विश्वविद्यालय के संस्थापक) और महात्मा गांधी अक्सर यहां मिलते थे। यहीं से हम इन महान संतों के जीवन के सूत्रों और सबकों को समझकर उनसे शिक्षा ले सकते हैं।” कोविंद ने कहा कि 1935 में जब विश्वविद्यालय को कोष की नितांत आवश्यकता थी तब टैगोर ने गांधी से इस बारे में जिक्र किया और उन्हें 60 हजार रुपये का ड्राफ्ट प्राप्त हुआ। 

राष्ट्रपति ने जोर देकर कहा कि गुरुदेव (टैगोर) और महात्मा दोनों ही मानते थे कि सही शिक्षा राष्ट्र पुनर्निर्माण के लिये महत्वपूर्ण है। कोविंद ने कहा, “गुरुदेव ने (शिक्षा के) एक वैकल्पिक मॉडल का विचार किया जो प्रकृति के साथ करीबी संबंध की वकालत करती थी और विश्व भारती विश्वविद्यालय आज तक इस परंपरा का पालन कर रहा है।” उन्होंने कहा कि विश्वभारती की खासियत ऐसी है जिसे हमें “सहेजने और गर्व के साथ बरकरार रखने की जरूरत है।”

 

कोविंद ने छात्रों को अपने संबोधन में कहा, “यह वो जगह है जहां टैगोर जिये, काम किया और अपने सपनों को ठोस आकार दिया। जो समुदाय यहां हैं - छात्र, शिक्षा विद्, कर्मचारी, आश्रम में रहने वाले- वो उस समृद्ध विरासत के उत्तराधिकारी हैं जो यहां के संस्थापक आपके लिये छोड़कर गए हैं।” 

उन्होंने कहा, “इस संस्थान के पूर्व छात्रों में इंदिरा गांधी और सत्यजीत  जैसी शख्सियत रहे हैं जिन्होंने न सिर्फ काफी हद तक इस संस्थान के संस्थापक के सपनों को पूरा किया बल्कि स्वतंत्र भारत को नयी ऊंचाइयों तक ले जाने में भी योगदान दिया।” राष्ट्रपति ने कहा कि ऐसे वक्त में जब मशीनों और संपत्ति को प्रगति का पैमाना माना जाता है, विश्वभारती परंपरा और आधुनिकता के एक विशिष्ट मिश्रण के तौर पर सामने आया है।