BREAKING NEWS

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित, पक्ष में पड़े 311 वोट, विपक्ष में 80◾जब तक मोदी प्रधानमंत्री हैं, किसी भी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं : शाह ◾महिलाओं के खिलाफ अत्याचार, चिंताजनक और शर्मनाक : नायडू ◾ओवैसी ने लोकसभा में नागरिकता विधेयक की प्रति फाड़ी भाजपा सदस्यों ने संसद का अपमान बताया ◾पूर्वोत्तर के अधिकतर राज्यों के दलों ने नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन किया ◾अनुच्छेद 370 को रद्द किये जाने के खिलाफ याचिकाओं पर संविधान पीठ कल से करेगी सुनवाई ◾दुष्कर्म की राजधानी बना भारत, फिर भी चुप हैं मोदी : राहुल गांधी◾कांग्रेस कभी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरती : नरेन्द्र मोदी ◾TOP 20 NEWS 09 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भीकाजी कामा प्लेस मेट्रो स्टेशन के नजदीक जेएनयू के छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज ◾नागरिकता संशोधन विधेयक भाजपा के घोषणापत्र का हिस्सा रहा, जनता ने इसे मंजूर किया : अमित शाह◾कर्नाटक उपचुनाव : BJP को 12 सीटों पर जीत मिली, विधानसभा में मिला स्पष्ट बहुमत ◾कर्नाटक : सिद्धारमैया ने कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से दिया इस्तीफा◾JNU छात्रों ने राष्ट्रपति भवन तक शुरू किया मार्च, पुलिस ने की शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील◾रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट से बड़ी राहत, मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए विदेश जाने की मिली अनुमति◾बीजेपी ने छह सीटें जीतने के साथ कर्नाटक विधानसभा में बहुमत किया हासिल ◾झारखंड में बोले राहुल- सत्ता में आने पर लोगों को जल, जंगल और जमीन लौटाया जाएगा◾कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश विभाजन किया जिसके कारण नागरिकता कानून में संशोधन की जरूरत पड़ी : अमित शाह◾अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया भारत और संविधान का अपमान◾झारखंड में बोले PM मोदी- कांग्रेस कभी भी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरी◾

देश

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तेलंगाना छात्रों की आत्महत्या पर मांगी रिपोर्ट

 ramnath

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने इंटरमीडिएट परीक्षाओं के नतीजों में कथित गड़बड़ी को लेकर तेलंगाना में 27 छात्रों की आत्महत्या पर तेलंगाना सरकार से रिपोर्ट मांगी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने तेलंगाना के मुख्य सचिव एस. के. जोशी को पत्र भेजा है और एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। 

गृह मंत्रालय में अंडर सेक्रेटरी अशोक कुमार पाल ने अपनी 7 अगस्त की तारीख वाले पत्र के साथ राष्ट्रपति सचिवालय से प्राप्त पत्र को आगे भेजा। केंद्रीय अधिकारी ने अपने पत्र की एक प्रति बीजेपी तेलंगाना राज्य इकाई के अध्यक्ष के. लक्ष्मण को भी मार्क किया, जिन्होंने पार्टी के अन्य नेताओं के साथ मिलकर पिछले महीने कोविंद को एक ज्ञापन सौंपा था, और तेलंगाना सरकार से रिपोर्ट मांगने की गुजारिश की थी। 

केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने अनुच्छेद 370 को बताया जम्मू-कश्मीर का 'नासूर'

बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति से यह भी अपील की थी कि वह राज्यपाल को शिक्षा अधिकारियों द्वारा किए घपले में न्यायिक जांच का आदेश देने की सलाह की संभावना पर भी गौर करें। इसमें आरोप लगाया गया कि इंटरमीडिएट (कक्षा 11 और 12) की परीक्षाओं के नतीजों में बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट एजुकेशन द्वारा की गई गड़बड़ी के कारण छात्रों ने आत्महत्या कर ली। 

परीक्षा में बैठने वाले 9.43 लाख छात्रों में से 5.6 लाख ने पास किया था। अप्रैल में परिणामों की घोषणा के बाद, उत्तर-पुस्तिकाओं के मूल्यांकन में अधिकारियों द्वारा की गई गड़बड़ी सामने आई, जिसके बाद बड़े पैमाने पर जनाक्रोश देखने को मिला और विपक्षी दलों और छात्र निकायों द्वारा बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। 

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने बाद में सभी असफल छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं की फिर से जांच कराने की घोषणा की। मई में, बीआईए ने 3.82 लाख से अधिक उन छात्रों की फिर से जांच की गई उत्तर पुस्तिकाओं के परिणामों की घोषणा की, जो परीक्षा पास करने के लिए निर्धारित अंक प्राप्त करने में असफल रहे थे। इस प्रक्रिया के बाद, 1,137 छात्र, जिन्हें पहले 'फेल' घोषित किया गया था, ने परीक्षाओं को पास कर लिया। 

बीआईई के अनुसार, आत्महत्या करने वाले 23 छात्रों में से और उन 3 छात्रों जिन्होंने आत्महत्या करने का प्रयास किया उनकी उत्तर पुस्तिकाओं की फिर से जांच से पता चला कि फेल से पास को लेकर कोई बदलाव नहीं हुआ है। छात्र निकायों और गैर सरकारी संगठनों ने दावा किया कि 26 छात्रों ने आत्महत्या कर ली है, हालांकि, बीजेपी ने आत्महत्या करने वाले छात्रों की संख्या 27 बताई है।