BREAKING NEWS

Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे के दौरान 8 हजार से अधिक नए केस, 415 लोगों की मौत◾चक्रवाती तूफान 'जवाद' की दस्तक, स्कूल-कॉलेज बंद, पुरी में बारिश और हवा का दौर जारी◾विश्वभर में कोरोना के आंकड़े 26.49 करोड़ के पार, मरने वालों की संख्या 52.4 लाख से हुई अधिक ◾आजाद ने सेना ऑपरेशन के दौरान होने वाली सिविलिन किलिंग को बताया 'सांप-सीढ़ी' जैसी स्थिति◾SKM की बैठक से पहले राकेश टिकैत ने कहा- उम्मीद है कि आज की मीटिंग में कोई समाधान निकलना चाहिए◾राष्ट्रपति ने किया ट्वीट, देश की रक्षा सहित कोविड से निपटने में भी नौसेना ने निभाई अहम भूमिका◾तेजी से फैल रहा है ओमिक्रॉन, डब्ल्यूएचओ ने कहा- वेरिएंट पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन अंतिम उपाय◾सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की आज होगी अहम बैठक, आंदोलन की आगे की रणनीति होगी तय◾ओमीक्रोन का असर कम रहने का अंदाजा, वैज्ञानिक मार्गदर्शन पर होगा बूस्टर देने का फैसला◾सुरक्षा के प्रति किसी भी खतरे से निपटने में पूरी तरह सक्षम है भारतीय नौसेना : एडमिरल कुमार◾एक बच्चे सहित तीन यात्री कोरोना संक्रमित , जांच के बाद ही ओमीक्रन स्वरूप की होगी पुष्टि : तमिलनाडु सरकार◾जनवरी से ATM से पैसे निकालना हो जाएगा महंगा, जानिए क्या है सरकार की नई नीति◾जयपुर में मचा हड़कंप, एक ही परिवार के नौ लोग कोरोना पॉजिटिव, 4 हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे◾लुंगी छाप और जालीदार टोपी पहनने वाले गुंडों से भाजपा ने दिलाई निजात: डिप्टी सीएम केशव ◾ बच्चों को वैक्सीन और बूस्टर डोज पर जल्दबाजी नहीं, स्वास्थ्य मंत्री ने संसद में दिया जवाब◾केंद्र के पास किसानों की मौत का आंकड़ा नहीं, तो गलती कैसे मानी : राहुल गांधी◾किसानों ने कंगना रनौत की कार पर किया हमला, एक्ट्रेस की गाड़ी रोक माफी मांगने को कहा ◾ओमीक्रॉन वेरिएंट: केंद्र ने तीसरी लहर की संभावना पर दिया स्पष्टीकरण, कहा- पहले वाली सावधानियां जरूरी ◾जुबानी जंग के बीच TMC ने किया दावा- 'डीप फ्रीजर' में कांग्रेस, विपक्षी ताकतें चाहती हैं CM ममता करें नेतृत्व ◾राजधानी में हुई ओमीक्रॉन वेरिएंट की एंट्री? दिल्ली के LNJP अस्पताल में भर्ती हुए 12 संदिग्ध मरीज ◾

प्रधानमंत्री मोदी बने दुनिया के तीसरे सबसे लोकप्रिय नेता, ट्रंप-पुतिन-जिनपिंग को पछाड़ा

नई दिल्लीः दावोस (स्विट्जरलैंड) वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम की बैठक से पहले इंटरनेशनल रेटिंग एजेंसी गैलप ने भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को दुनिया का तीसरा सबसे लोकप्रिय नेता बताया है। दुनिया के 50 अलग-अलग देशों में हुए सर्वे के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकप्रियता के मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति ब्लादमीर पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी पीछे छोड़ दिया है। गैलप इंटरनेशनल ने इस सर्वे के लिए जिस मेथोडलॉजी का इस्तेमाल किया उनमें अलग-अलग देशों के तहत कुल 53 हजार 769 लोगों ने अपनी राय दी है।

इन लोगों से इंटरव्यू के जरिए पसंदीदा शख्सियतों के बारे में राय पूछी गई थी। सर्वे में पीएम मोदी के पक्ष में 30 फीसदी लोगों ने अपनी राय जाहिर की जबकि 22 फीसदी लोगों ने उनके विपक्ष में राय जाहिर की थी। इस लिहाज से पीएम मोदी के पसंद और नापसंद का स्कोर +8 है और वो तीसरे नंबर पर हैं।

पहले-दूसरे स्थान पर फ्रांस-जर्मनी के राष्ट्रपति

इस सर्वे में प्रधानमंत्री मोदी 8 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है। जबकि 7 अंकों के साथ चौथे स्थान पर ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मैरी मे हैं। इस लिस्ट में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग 6 के अंकों के साथ पांचवें स्थान पर है। सर्वे में सबसे ज्यादा 21 अंकों के साथ पहले स्थान पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मकरॉन हैं वहीं जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल प्लस 20 स्कोर के साथ दूसरे नंबर पर हैं।

पुतिन छठे-ट्रंप ग्यारवें स्थान पर

इस सर्वे में रूसी राष्ट्रपति ब्लादमीर पुतिन को छठे, सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुल्लाजीज साउ को सातवें और इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को आठवें स्थान पर रखा गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को 11वें नंबर पर रखा गया है। पोप फ्रांसिस को भी इस सर्वे में शामिल किया गया है. वो टॉप पर हैं. उन्हें प्लस 38 स्कोर दिए गए हैं।

दावोस बैठक में भाग लेंगे प्रधानमंत्री, निवेश के अवसरों के बारे में देंगे जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार स्विट्जरलैंड के दावोस में विश्व आर्थिक मंच के वार्षिक सम्मेलन में भाग लेंगे, जहां वह सम्मेलन के पहले पूर्ण अधिवेशन को संबोधित करेंगे। मोदी पांच दिन के इस सम्मेलन में वैश्विक निवेशकों को भारत में निवेश के विशाल अवसरों की ओर आकर्षित करने के साथ-साथ अपनी सरकार के नीतियों और कार्यक्रमों की भी जानकारी देंगे। पांच दिन चलने वाला सम्मेलन 22 जनवरी को शुरू होगा। आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार वह 23 जनवरी को सम्मेलन के पहले पूर्ण अधिवेशन को संबोधित करेंगे।

सालाना बैठक में 60 देशों के प्रमुखों समेत 350 राजनीतिज्ञ भाग लेंगे. सम्मेलन में दुनिया की महत्वपूर्ण कंपनियों के मुख्य कार्यपालक अधिकारी तथा विभिन्न क्षेत्रों से 1,000 नेता भाग लेंगे। इससे पहले, 1997 में तत्कालीन प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की बैठक में शामिल हुए थे।

दावोस विश्व आर्थिक मंच में हिस्सा लेंगे ट्रंप, कर सकते हैं मोदी से मुलाकात

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस महीने दावोस में विश्व आर्थिक मंच में हिस्सा लेंगे और इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी बैठक की संभावना को बल मिला है। यह 18 वर्षों में पहली बार होगा जब अमेरिका के राष्ट्रपति वैश्विक आर्थिक नेताओं की वार्षिक बैठक में हिस्सा लेंगे। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘राष्ट्रपति वैश्विक नेताओं के साथ अपने ‘अमेरिका पहले’ के एजेंडे को आगे बढ़ाने के अवसरों का स्वागत करते हैं।’’ उन्होंने कहा कि ट्रंप ‘‘अमेरिकी कारोबार, अमेरिकी उद्योगों और अमेरिकी कर्मियों’’ को मजबूत करने की अपनी नीतियों को प्रोत्साहित करना चाहते हैं।’’ सारा ने कहा कि द्विपक्षीय बैठकों समेत दावोस में राष्ट्रपति की यात्रा का कार्यक्रम तय किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रपति का जो संदेश यहां है, वह वही संदेश वहां लेकर जाएंगे। यही संदेश वह एशिया के अपने दौरे में लेकर गए थे। उनका एजेंडा ‘अमेरिका पहले’ है।’’ सारा ने कहा कि ट्रंप का ध्यान अमेरिकी कारोबार और अमेरिकी कर्मियों को मजबूत करने वाली नीतियों को प्रोत्साहित करने पर ‘‘अब भी 100 प्रतिशत केंद्रित है और वह इसे लेकर प्रतिबद्ध हैं।’’ उन्होंने कहा कि कैबिनेट और प्रशासन के कई वरिष्ठ सदस्य इस समारोह का हिस्सा होंगे।

विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक 2018 स्विट्जरलैंड के दावोस-क्लोस्टर्स में इस महीने बाद में आयोजित होगी जिसका विषय ‘‘क्रिएटिंग ए शेयर्ड फ्यूचर इन ए फ्रैक्चर्ड वर्ल्ड’ होगा। मोदी दो दिवसीय यात्रा पर 22 जनवरी को स्विट्जरलैंड जाएंगे, जहां वह विश्व आर्थिक मंच के पूर्ण सत्र में अहम भाषण देंगे। वर्ष 1997 के बाद ऐसा पहली बार होगा जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री दावोस शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे।

विश्व आर्थिक मंच की सालाना बैठक की शुरुआत देसी व्यंजनों, योग से

विश्व आर्थिक मंच की पांच दिवसीय सालाना बैठक इस महीने स्विटजरलैंड के दावोस कस्बे में होगी। इस साल के आयोजन में भारत पर निगाह रहेगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसमें पहली बार शामिल हो सकते हैं। इस साल के आयोजन में भारत से पीएम मोदी के अलावा छह केंद्रीय मंत्री, दो मुख्यमंत्री, आला अधिकारी व 100 से अधिक सीईओ भाग लेंगे। यह भारत की अपनी तरह की सबसे बड़ी उपस्थिति होगी। यह बैठक 22 जनवरी से शुरू होगी। सम्मेलन के पहले दिन शाम को स्वागत भोज कार्यक्रम वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के अधीनस्थ औद्योगिक नीति व संवर्धन विभाग आयोजित करेगा। इसमें देश के विशिष्ट व्यंजनों, सदियों पुराने योग की विरासत व युवा तथा नवोन्मेषी भारत की झलक होगी।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।