BREAKING NEWS

पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾NIA ने संभाली आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच की जिम्मेदारी◾वकील इंदिरा जयसिंह की निर्भया की मां से अपील, बोलीं- सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें◾ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत◾ राजधानी में छाया कोहरा, दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट◾निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾PM मोदी ने मंत्रियों से कहा, कश्मीर में विकास का संदेश फैलाएं और गांवों का दौरा करें ◾भाजपा ने अब तक 8 पूर्वांचलियों पर लगाया दांव◾यूरोपीय संघ के उच्च प्रतिनिधि ने PM मोदी से भेंट की◾दिल्ली पुलिस आयुक्त को NSA के तहत मिला किसी को भी हिरासत में लेने का अधिकार◾न्यायालय से संपर्क करने से पहले राज्यपाल को सूचित करने की कोई जरूरत नहीं : येचुरी◾

बैंकों में कैश की किल्लत जनता को हुई दिक्कत : सदानंद सिंह

पटना : बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि इन दिनों बैंकों में कैश की किल्लत से जनता को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मोदी सरकार की अकुशल वित्तीय प्रबंधन और नोटबंदी जैसे आत्मघाती निर्णयों की वजह से बैंक शाखाओं और एटीएम में कैश की किल्लत हो रही है। लगन और खेती-बारी के समय में लोगों को बैंकों से अपना पैसा ही नहीं मिल रहा है।

जो जनता के लिए बड़ी पीड़ादायक स्थिति है। श्री सिंह ने कहा कि बिहार-झारखंड में एसबीआई के 110 करेंसी चेस्ट हैं। जिसकी क्षमता 12 हजार करोड़ रुपये की हैय किन्तु उपलब्धता मात्र ढ़ाई हजार करोड़ रुपये ही है। ऐसे में स्वाभाविक रूप से शाखाओं और एटीएम में करेंसी सप्लाई प्रभावित होगी।

मार्च 2018 में बैंकों के करेंसी चेस्टो की बैलेंस शीट के अनुसार बैंकों में 2000 रुपये के नोटों की संख्या कुल रकम का औसतन 10 फीसद ही रह गया है। आरबीआई की रिपोर्ट कहती है कि कुल जारी करेंसी में 2000 रुपये के नोटों का हिस्सा 50 फीसद से अधिक है। फिर मनी इन सर्कुलेशन में कमी कैसे हुयी? क्या मोदी सरकार इसका जवाब जनता को देगी?

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी  के साथ।