BREAKING NEWS

चिदंबरम ईमानदार हैं तो भाग क्यों रहे हैं : श्रीकांत◾पी चिदंबरम मामले पर बोले अखिलेश : सरकार से लड़ना है तो कागज की लड़ाई जीतनी पड़ेगी ◾LIVE : पी चिदंबरम ने अपने आप को बताया बेकसूर , दीवार फांद के घर में घुसी CBI की टीम◾Modi सरकार की कंपनियों को बड़ी राहत, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी इसकी जानकारी !◾अनुच्छेद 370 हटने से पाक अधिकृत कश्मीर लेना आसान नहीं : अखिलेश◾प्रियंका ने PM मोदी पर साधा निशाना , कहा - सरकार के दावों की पोल खोल रहे हैं औद्योगिक संस्थाओं के विज्ञापन◾TOP 20 NEWS 21 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾INX मीडिया मामले में चिदंबरम की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾SC में अयोध्या मामले की सुनवाई, हिंदू पक्ष के वकील ने रामलला को बताया नाबालिग◾सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की याचिका पर तत्काल सुनवाई से किया इनकार ◾PM मोदी ने जाम्बिया के राष्ट्रपति से की बातचीत, खनन और कारोबारी सहयोग पर दिया जोर ◾राहुल का केंद्र पर वार, कहा-चिदंबरम के चरित्रहनन के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही मोदी सरकार◾चिदंबरम के बचाव में प्रियंका, बोली-केंद्र की असफलताओं को उजागर करने की भुगत रहे है सजा◾उत्तर प्रदेश : योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, 23 मंत्रियो ने ली शपथ ◾कश्मीर मामले पर ट्रंप ने फिर की मध्यस्थता की पेशकश, कहा- PM मोदी से करूंगा बात◾INX मीडिया : चिदंबरम की बढ़ी मुश्किलें, ईडी ने जारी किया लुकआउट नोटिस ◾मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के निधन पर PM मोदी ने किया शोक व्यक्त ◾भारतीय सेना ने लिया अभिनंदन का बदला, गिरफ्तार करने वाले पाक कमांडो को किया ढेर◾चिदंबरम के लिए कयामत की रात, जेल या बेल पर फैसला सुबह ◾पंजाब, हरियाणा में बनी हुई है बाढ़ की स्थिति◾

देश

बैंकों में कैश की किल्लत जनता को हुई दिक्कत : सदानंद सिंह

पटना : बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि इन दिनों बैंकों में कैश की किल्लत से जनता को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मोदी सरकार की अकुशल वित्तीय प्रबंधन और नोटबंदी जैसे आत्मघाती निर्णयों की वजह से बैंक शाखाओं और एटीएम में कैश की किल्लत हो रही है। लगन और खेती-बारी के समय में लोगों को बैंकों से अपना पैसा ही नहीं मिल रहा है।

जो जनता के लिए बड़ी पीड़ादायक स्थिति है। श्री सिंह ने कहा कि बिहार-झारखंड में एसबीआई के 110 करेंसी चेस्ट हैं। जिसकी क्षमता 12 हजार करोड़ रुपये की हैय किन्तु उपलब्धता मात्र ढ़ाई हजार करोड़ रुपये ही है। ऐसे में स्वाभाविक रूप से शाखाओं और एटीएम में करेंसी सप्लाई प्रभावित होगी।

मार्च 2018 में बैंकों के करेंसी चेस्टो की बैलेंस शीट के अनुसार बैंकों में 2000 रुपये के नोटों की संख्या कुल रकम का औसतन 10 फीसद ही रह गया है। आरबीआई की रिपोर्ट कहती है कि कुल जारी करेंसी में 2000 रुपये के नोटों का हिस्सा 50 फीसद से अधिक है। फिर मनी इन सर्कुलेशन में कमी कैसे हुयी? क्या मोदी सरकार इसका जवाब जनता को देगी?

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी  के साथ।