BREAKING NEWS

उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में थे भर्ती◾पुतिन का दावा-रूस ने बना ली कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन, बेटी को लगाया गया टीका◾ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर प्रणब मुखर्जी, हालत नाजुक◾मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में PM मोदी में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने पर दिया जोर, कहा-महामारी बदल रही अपना रूप◾राजनीति में व्यक्तिगत शत्रुता का कोई स्थान नहीं, बस पार्टी के सामने जरूरी मुद्दों को रखा : सचिन पायलट◾जम्मू-कश्मीर के दो जिलों में ट्रायल के तौर पर 15 अगस्त के बाद शुरू होगी 4G इंटरनेट सेवा ◾CM गहलोत बोले- BJP की सरकार गिराने की साजिश रही नाकाम, हमारे सभी विधायक है हमारे साथ ◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में 53 हजार 601 नए मरीजों की पुष्टि, 871 लोगों ने गंवाई जान ◾मनरेगा पर राहुल ने शेयर किया ग्राफ, क्या सूट-बूट-लूट की सरकार समझ पाएगी गरीबों का दर्द◾बुलंदशहर : US में पढ़ने वाली छात्रा की छेड़खानी के दौरान सड़क हादसे में मौत◾UP : बागपत में BJP नेता एवं पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, CM योगी ने जताया शोक ◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का प्रकोप बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 2 करोड़ के पार◾BSP विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ याचिका पर SC में आज होगी सुनवाई◾पायलट की वापसी के बाद कांग्रेस नेताओं ने जताई खुशी, कहा- 'स्वागत है सचिन'◾अमेरिका : व्हाइट हाउस के पास हुई गोलीबारी के बाद ट्रंप ने अचानक छोड़ी कोरोना ब्रीफिंग◾हाई कमान से मुलाकात के बाद बोले पायलट: पद की कोई लालसा नहीं, समस्या का जल्द समाधान जल्द हो◾वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, सफलतापूर्वक हुई मस्तिष्क की सर्जरी हुई ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 9,181 नये मामले सामने आये ,293 और लोगों की मौत◾केरल : बारिश थमने से कुछ राहत, इडुक्की में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हुई◾पायलट मामले के समाधान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित की ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ पूर्वोत्तर में विरोध प्रदर्शन शुरू

इम्फाल/ कोहिमा/ शिलांग : नागरिकता संशोधन विधेयक संसद में लाने की केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की घोषणा के दो दिन बाद गुरुवार को मणिपुर, नगालैंड और मेघालय में इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन किए गए। 

इम्फाल घाटी में बड़े पैमाने पर नागरिक संस्थाओं, विश्वविद्यालय और कॉलेज छात्रों ने कड़ी सुरक्षा के बीच विरोध प्रदर्शन किया लेकिन राज्य के किसी भी हिस्से में अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है। 

नगालैंड की राजधानी कोहिमा में भी विभिन्न नगा जनजातियों के हजारों प्रतिनिधियों ने अपनी पारंपरिक वेशभूषा में ‘ज्वाइंट कमिटी ऑन प्रोटेक्शन ऑफ इंडिजनस पीपुल (जेसीपीआई), नगालैंड एंड नॉर्थ ईस्ट फोरम ऑफ इंडिजनस पीपुल (एनईएफआईपी) के आह्वान पर विरोध मार्च निकाला और मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो को ज्ञापन सौंपा।

 

ज्ञापन में कहा गया कि नागरिकता संशोधन विधेयक पूर्वोत्तर क्षेत्र की जनजातियों के सिर पर लटक रही खतरे की तलवार है। 

शिलांग में आयोजित रैली में एनईएफआईपी ने आरोप लगाया कि नागरिकता संशोधन विधेयक क्षेत्र से मूल जनजातियों के खात्मे की कोशिश है। 

एनईएफआईपी ने दावा किया कि अगर केंद्र सरकार नगारिकता संशोधन विधेयक को लागू करेगी तो वह संयुक्त राष्ट्र संघ से हस्तक्षेप की मांग करेगा।