BREAKING NEWS

आर्थिक विकास के लिए संविधान के मुताबिक चलना होगा - कोविंद◾भूमि सुधार कानून में बदलाव होगा : येदियुरप्पा◾दिल्ली : भजनपुरा में हुआ दर्दनाक हादसा, कोचिंग सेंटर की छत गिरने से 5 छात्रों की दबकर मौत ◾TOP 20 NEWS 25 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾गृह मंत्री अमित शाह बोले- भ्रांति फैलाकर 2015 का विधानसभा चुनाव जीते केजरीवाल, इस बार विफल रहेंगे◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : CM केजरीवाल बोले- संविधान की रक्षा करने का दायित्व देश के नागरिकों पर है◾राहुल ने भीमा-कोरेगांव मामले की NIA जांच को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने वरिष्ठ नेता आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी से मुलाकात की ◾दिल्ली विधानसभा चुनाव: भाजपा के पूर्व विधायक हरशरण सिंह बल्ली AAP में शामिल◾बुर्के को लेकर बवाल बढ़ने पर पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज का यू-टर्न, जारी किया नया ड्रेस कोड◾प्रधानमंत्री मोदी और ब्राजील के राष्ट्रपति ने द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने के मुद्दों पर चर्चा की, 15 समझौतों पर किये हस्ताक्षर ◾निर्भया मामला : कोर्ट ने कहा किसी नए दिशा-निर्देश की जरूरत नहीं, दोषियों के वकील की याचिका निपटाई ◾प्रशांत किशोर ने सुशील मोदी पर साधा निशाना, कहा- लोगों को चरित्र प्रमाणपत्र देने में इनका कोई जोड़ नहीं ◾देश में घुसे पाक और बांग्लादेशी घुसपैठियों को निकालो : शिवसेना ◾राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर PM मोदी और उपराष्ट्रपति नायडू ने दी बधाई, देशवासियों से की ये अपील◾मौलाना कल्बे सादिक बोले- देश मोदी-शाह की मर्जी से नहीं, संविधान से चलेगा◾तुर्की में 6.8 तीव्रता का भूकंप, 18 लोगों की मौत◾...जब दिल्ली में चुनाव प्रचार खत्म कर कार्यकर्ता के घर पहुंचे अमित शाह, खाया खाना◾केंद्र सरकार ने भीमा कोरेगांव मामले की जांच NIA को सौंपी, महाराष्ट्र के गृहमंत्री देशमुख ने की निंदा◾पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी बोले- SCO बैठक के लिए भारत के आमंत्रण का है इंतजार◾

हिरासत केंद्र में रह रहे उन लोगों को कानूनी सहायता दें जो भारतीय होने का दावा करते हैं : जयराम रमेश

राज्यसभा में शुक्रवार को कांग्रेस सदस्य जयराम रमेश ने असम में निवास प्रमाणपत्र नहीं होने के कारण तीन साल से अधिक समय से हिरासत केंद्रों में रखे गए उन लोगों को जमानत के प्रावधान सहित कानूनी सहायता प्रदान करने की मांग की है जिन्होंने भारतीय होने का दावा किया है। 

उच्च सदन में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाते हुए रमेश ने कहा कि असम में छह हिरासत केंद्र हैं जहां 998 कथित विदेशी नागरिक बंद हैं। उन्होंने कहा कि असम के सिलचर स्थित एक हिरासत केंद्र में 72 विदेशी नागरिक बंद हैं। इनमें से सात नागरिक म्यामां के हैं और 17 नागरिक बांग्लादेशी हैं। 48 नागरिकों का दावा है कि वे भारतीय हैं। 

रमेश ने कहा, "बांग्लादेश ने खुद के बांग्लादेशी होने का दावा करने वाले 17 नागरिकों की पहचान से तथा उन्हें वापस लेने से इंकार कर दिया है।" उन्होंने कहा कि अपने भारतीय होने का दावा करने वाले 48 नागरिकों में से कुछ तो राज्य सरकार के कर्मचारी रहे हैं और छह सात साल से हिरासत केंद्र में बंद हैं। 

लोकसभा में बोले हर्षवर्धन- अगले पांच-सात वर्षों में चिकित्सकों की कमी दूर होने का भरोसा

कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य ने कहा कि सिलचर में उनकी मुलाकात एक महिला से हुई जो दस साल से हिरासत केंद्र में है और उसके साथ उसकी साढ़े नौ साल की बेटी भी वहीं रह रही है। बच्ची का अब तक का समय हिरासत केंद्र में ही गुजरा है। रमेश ने कहा कि तीन साल से अधिक समय से जेल में बंद लोगों के लिए कानून में निजी मुचलका भरने के बाद जमानत दिए जाने की व्यवस्था है। 

यह प्रावधान निवास संबंधी प्रमाणपत्र के अभाव में तीन साल से अधिक समय से हिरासत केंद्रों में रखे गए उन लोगों पर भी लागू होना चाहिए जो खुद के भारतीय होने का दावा करते हैं। उन्होंने यह भी कहा, "मैं अवैध प्रवासियों के मामले में तर्क नहीं दे रहा हूं। मैं उनकी बात कर रहा हूं जिनका दावा है कि वे भारतीय हैं। यह मानवीयता से जुड़ा मुद्दा है, राजनीतिक मुद्दा नहीं है।"