BREAKING NEWS

क्या नाराज हैं फडणवीस ! सत्ता में आने के बाद भी जश्न में नही हुए शामिल◾ क्या नाराज हैं फडणवीस ! सत्ता में आने के बाद भी जश्न में नही हुए शामिल◾ राष्ट्रपति चुनाव : शिअद व जजपा करेंगी मुर्मू का समर्थन ◾ Presidential Election 2022: द्रौपदी मुर्मू सर्वसम्मति की उम्मीदवार हो सकती थीं, CM ममता का बड़ा बयान◾ GST collection: जून में 56% उछला जीएसटी संग्रह, मार्च 2022 के बाद से लगातार चौथा महीना है जब कलेक्शन इतना अधिक◾उप्र : नोएडा में अवैध कोरियाई रेस्तरां का भंडाफोड़, भारी मात्रा में शराब बरामद, दो गिरफ्तार◾ यूक्रेन -रूस युद्ध : ओदेसा में रूस के मिसाइल हमले में 19 लोगों की मौत◾ Punjab: क्या पंजाब लोक कांग्रेस का बीजेपी में होगा विलय? कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द कर सकते हैं बड़ा ऐलान ◾राहुल गांधी का भाजपा पर तीखा प्रहार, बोले- देश में ‘‘गुस्से और नफरत" का बनाया माहौल◾ भारत ने पाकिस्तान से हिरासत में रखे कैदियों को रिहा करने को कहा◾ PM Modi News: प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से की फोन पर बात, जानें किन मुद्दों पर हुई चर्चा◾ राजस्थान : कन्हैयालाल के कत्ल के बाद एक्शन में गहलोत प्रशासन, भड़काऊ बयान देने वाला मौलवी गिरफ्तार ◾उपराष्ट्रपति चुनाव में भी चौंका सकती हैं भाजपा, पूर्वोत्तर से हो सकता हैं राजग का उम्मीदवार ◾Prophet Remarks Row: नूपुर शर्मा को बचा रही BJP... मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी क्यों? ओवैसी हमलवार ◾Yair Lapid: यैर लैपिड बने इजराइल के नए प्रधानमंत्री, PM मोदी ने बधाई देते हुए कहा- दोनों देश पूर्ण राजनयिक...◾नूपुर शर्मा को लेकर जो टिप्पणी की है उसको देखते हुए सत्तारूढ दल का सिर शर्म से झुकना चाहिए : कांग्रेस ◾ शिंदे के कदम से कमजोर नहीं होगी पार्टी, जहां ठाकरे-वहीं शिवसेना : संजय राउत ◾Maharashtra News: सत्ता पलटने के बाद ठाकरे का छलका दर्द! बोले- 2019 में अमित शाह मान जाते तो.... ◾जीएसटी ने कारोबारी सुगमता बढ़ाने में योगदान दियाः प्रधानमंत्री◾ वादे पर रहते तो आज BJP का होता मुख्यमंत्री, इस्तीफा देने के बाद उद्धव का शिंदे और भाजपा पर बड़ा हमला◾

राहुल ने केंद्र पर लगाया आरोप, बोले-लखीमपुर मामले की SIT रिपोर्ट पर चर्चा नहीं होने देना चाहती सरकार

कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) की रिपोर्ट को लेकर बुधवार को लोकसभा में हंगामा किया जिसके चलते सदन की कार्यवाही आरंभ होने के करीब आधे घंटे बाद अपराह्न दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। इसके बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र पर आरोप लगाया है कि सरकार  सरकार लखीमपुर-खीरी हिंसा मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) की रिपोर्ट को लेकर संसद में चर्चा नहीं होने देना चाहती है।

गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को इस्तीफा देना चाहिए

उन्होंने यह मांग फिर दोहराई कि गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को इस्तीफा देना चाहिए जिनके पुत्र इस मामले में आरोपी हैं।

लखीमपुर-खीरी हिंसा मामले से जुड़ी एसआईटी रिपोर्ट को लेकर बुधवार को लोकसभा में विपक्षी सदस्यों के हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही आरंभ होने के करीब आधे घंटे बाद अपराह्न दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।इसके बाद राहुल गांधी ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘सरकार हमें बोलने की अनुमति नहीं दे रही है, इस कारण सदन में व्यवधान पैदा हुआ है। हमने कहा है कि रिपोर्ट आई है और उनके मंत्री इसमें शामिल हैं, ऐसे में इस पर चर्चा होनी चाहिए। लेकिन वह चर्चा नहीं होने देना चाहते हैं।

 एसआईटी रिपोर्ट को लेकर सदन में चर्चा होनी चाहिए

यह पूछे जाने पर कि क्या मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए, तो उन्होंने कहा, ‘‘और क्या।’’इससे पहले, उन्होंने इस एसआईटी रिपोर्ट को लेकर बुधवार को लोकसभा में कार्यस्थगन का नोटिस दिया था। नोटिस में राहुल गांधी ने सदन में नियत कामकाज स्थगित करने की मांग की थी और कहा था कि एसआईटी रिपोर्ट को लेकर सदन में चर्चा होनी चाहिए।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने अब तक की छानबीन और साक्ष्यों के आधार पर दावा किया है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा 'टेनी' के पुत्र और उसके सहयोगियों द्वारा जानबूझकर, सुनियोजित साजिश के तहत घटना को अंजाम दिया गया।

एसआईटी के मुख्य जांच निरीक्षक विद्याराम दिवाकर ने मुख्‍य न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट (सीजेएम) की अदालत में दिये गये आवेदन में आरोपियों के विरुद्ध उपरोक्‍त आरोपों की धाराओं के तहत मुकदमा चलाने का अनुरोध किया है।केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा मोनू समेत उसके 13 साथियों पर लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को प्रदर्शन कर रहे किसानों को जीप से कुचलने का आरोप है। इस घटना में और इसके बाद भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी।

सिंघु और टीकरी के बाद अब गाजीपुर बॉर्डर हुआ खाली, राकेश टिकैत ने उठाई अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग