BREAKING NEWS

लोकसभा में कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने उठाया चुनावी बॉन्ड का मुद्दा◾साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की समिति में मिली जगह, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण◾दिल्ली : महाराष्ट्र में शिवसेना संग गठबंधन पर सीडब्ल्यूसी ने लगाई मुहर ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रकिया 1 दिसंबर से पहले हो जाएगी पूरी : संजय राउत ◾दिल्ली : सोनिया गांधी के आवास पर सीडब्ल्यूसी की बैठक, महाराष्ट्र पर चर्चा की संभावना◾झारखंड विधानसभा चुनाव : पहले चरण में भाजपा के लिए सीटें बचाना हुआ मुश्किल , 'अपने' दे रहे कड़ी टक्कर ◾पेट्रोल, डीजल के दाम में वृद्धि पर लगा ब्रेक, देखें पूरी लिस्ट◾भारत को सौंपे गए तीन और राफेल विमान, पायलट-टेक्नीशियंस का प्रशिक्षण शुरू : सरकार◾भारत को सौंपे गए तीन और राफेल विमान, पायलट-टेक्नीशियंस का प्रशिक्षण शुरू : सरकार◾दिल्ली में निशुल्क यात्रा की योजना लागू होने के बाद से महिला यात्रियों की हिस्सेदारी 10 फीसदी बढ़ी ◾तीसहजारी कांड : दिल्ली पुलिस ने अदालत में दाखिल की प्रगति रिपोर्ट, SIT जांच में मांगा सहयोग◾लोकसभा से चिट फंड संशोधन विधेयक 2019 को मंजूरी◾महाराष्ट्र की राजनीतिक तस्वीर साफ हुई, जल्द बन सकती है शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की सरकार ◾मंत्रिमंडल ने 1.2 लाख टन प्याज आयात की मंजूरी दी : सीतारमण◾NC, PDP ने कश्मीर में सामान्य हालात बताने पर केंद्र की आलोचना की◾पृथ्वी-2 मिसाइल का रात के समय सफलतापूर्वक परीक्षण ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर जल्द मिलेगी गुड न्यूज : राउत ◾सकारात्मक चर्चा हुई, जल्द सरकार बनेगी : चव्हाण◾'हिटलर की बहन' वाले बयान पर बेदी का मुख्यमंत्री पर पलटवार◾यशवंत सिन्हा ने 22 से 25 नवंबर तक कश्मीर यात्रा की घोषणा की ◾

देश

राहुल के फ्यूल चैलेंज को स्वीकार करें प्रधानमंत्री

पटना  : बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी को राहुल गांधी जी की फ्यूल चैलेंज को स्वीकार करना चाहिए और पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों पर अविलम्ब अंकुश लगाना चाहिए। ताकि जनता को राहत मिल सके अन्यथा कांग्रेस के राष्ट्रव्यापी आन्दोलन को झेलने के लिए तैयार रहना चाहिए। श्री सिंह ने कहा कि राहुल जी ने चुनौती देते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री जीए पेट्रोल,

डीजल के बढ़ते कीमत को कम कीजिये या कांग्रेस पार्टी राष्ट्रव्यापी आन्दोलन कर आपको ऐसा करने पर मजबूर करेगी। राहुल जी ने पीएम की प्रतिक्रिया का इंतजार करने की भी बात कही है। श्री सिंह ने कहा कि यह कितनी भयावह स्थिति है कि देश की जनता एक तरफ पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों को झेल रही तो दूसरी तरफ इससे बढ़ने वाली महंगाई से भी तंग और तबाह हो रही है।

वहीं मोदी सरकार के संवेदनहीन मंत्रीगण जनता की पीड़ा को दरकिनार कर कह रहे हैं कि पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत नहीं बढ़ेगी तो योजनाओं के लिए पैसे कहां से आयेंगे। पिछले 4 सालों में केंद्र और राज्य सरकारों को पेट्रोलियम उत्पादों से हुई 14 लाख 67 हजार 462 करोड़ रुपये की कमाई का पैसा आखिर गया कहां? सवाल यह भी उठता है कि कांग्रेस सरकारों के समय पेट्रोल, डीजल की कीमतें बिना बढे कैसे विकास कार्य होते थे? क्या भाजपा इन सवालों का जवाब जनता को देगी?

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए यहां क्लिक करें।