BREAKING NEWS

गणतंत्र दिवस समारोह: PM मोदी उत्तराखंड की टोपी और मणिपुरी स्टोल में आए नजर, दिया ये संकेत◾यूपी: रायबरेली में जहरीली शराब पीने से चार की मौत, 6 लोगों की हालत नाजुक◾RPN सिंह के भाजपा में शामिल होने पर शशि थरूर का कटाक्ष, बोले- छोड़कर जा रहे हैं घर अपना, उधर भी सब अपने हैं◾दिल्ली में ठंड का कहर जारी, फिलहाल बारिश होने के आसार नहीं: आईएमडी◾RRB-NTPC Exam: परीक्षार्थियों के विरोध प्रदर्शन के बाद रेलवे ने भर्ती परीक्षा पर लगाई रोक, जांच के लिए बनाई समिति◾विधानसभा चुनाव तक चलेगी हिंदू-मुसलमानको लेकर तीखी बयानबाजी: राकेश टिकैत◾World Corona: दुनियाभर में जारी है कोरोना का कोहराम, संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 35.79 करोड़ के पार◾Corona Update: देश में तीसरी लहर का सितम जारी, संक्रमण के 2 लाख 85 हजार से अधिक नए केस, 665 लोगों की मौत ◾दिल्ली: गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, 27,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात◾गणतंत्र दिवस पर पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं◾PM मोदी असली नायकों का सम्मान करने के लिए प्रतिबद्ध : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पद्म पुरस्कार पर कहा ◾बुद्धदेव को पद्म पुरस्कार देने की घोषणा से पहले उनकी पत्नी को इसके बारे में सूचित किया गया था : सूत्र ◾प्रधानमंत्री ने पद्म पुरस्कार विजेताओं को दी बधाई ◾गणतंत्र दिवस : 189 वीरता पदक सहित 939 पुलिस पदक दिये जाने की घोषणा ◾पद्म पुरस्कार 2022 से सम्मानित किये जाने वालों की पूरी सूची ◾प्रियंका ने BJP और SP पर साधा निशाना - दोनों को पसंद है ध्रुवीकरण, UP को अलग तरह की राजनीति चाहिए◾बिहार में युवाओं के प्रदर्शन पर राहुल ने कहा- डबल इंजन सरकार ने किया डबल अत्याचार◾देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 163 करोड़ से ज्यादा खुराक दी गई : सरकार ◾दिल्ली सरकार शहर में 75 जगहों पर 115 फुट ऊंचे तिरंगों का करेगी ध्वजारोहण ◾बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य ने ठुकराया पद्म भूषण सम्मान◾

संगरूर अवैध पटाखा फैक्ट्री के मालिक की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी जारी, मजिस्ट्रेट ने दिए जांच के आदेश

लुधियाना-संगरूर : शहर संगरूर से 15 कि.मी. दूर दिल्ली नैशनल हाईवे पर सटे कस्बा सोलरग्राट में स्थित एक कोठी नुमा पटाखा फैक्ट्री में हुए धमाके की आग थम चुकी है। वही आधा दर्जन के करीब जिंदा जले लोगों के जख्मों की पीड़ा से खौफजदा ज्यादा भयानक था वह वक्त जब विस्फोट हुआ था। प्रशासन ने 5 लोगों के मरने की पुष्टि की है जबकि इतने ही लोग सरकारी अस्पताल में पड़े करहा रहे है।

बुधवार की सुबह जैसे ही सूर्य ने अपनी रोशनी बिखेरी तो मौके पर उपस्थित लोगों की रात को घटित खूनी मंजर देखकर रूह कांप उठी। हादसे के उपरांत मलबे में जहां करोड़ों रूपए का विस्फोटक बारूद तबाह हो चुका था वही सड़क के दोनों ओर 10-10 फुट दूर इधर-उधर मानवीय टांगे-बांहें और उंगलियां तक चित्थड़ों के साथ गिरी पाई गई। खून से लथपथ देहों को देखकर बड़े-से-बड़े जिगर वाला भी कांप रहा था। मृतक व्यक्तियों की देहों पर किसी भी प्रकार का कपड़ा नहीं बचा था। गोदाम के एक हजार गज में बनी दो मंजिला कोठियां डहकर मटियामेल हो चुकी थी।

\"\"

प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार रात को हुए धमाके के बाद बारूद फैक्ट्री की इमारत भभकती हुई आग के उपरांत धड़ाधड़ कर ताश के पत्ते के भांति गिर पड़ी। किसी भी उपस्थित शख्स को बचने का वक्त ही नहीं मिला। धमाके की आवाज इतनी तेज थी कि आसपास के कई रिहायशी घरों को काफी नुकसान पहुंचा है जबकि पास ही स्थित गुरूद्वारा साहिब की दीवार भी टूट गई। फिलहाल प्रशासन मशीनों की सहायता से मलबे की सफाई में जुटा है ताकि पता लग सकें, कई मलबे के नीचे कोई मानवीय देह तो नहीं दबी।

फिलहाल फायरब्रिगेड ने लोगों की मदद से अपना रेसकयू आप्रेशन पूरा कर दिया है, किंतु सबसे अहम सवाल यह है कि पुलिस ने एक साल पहले इसी गोदाम में छापा मारकर सील कर दिया था, उसके बाद यहां पिछले दरवाजे से ही पटाखों को स्टोर किया जा रहा था। पटाखा गोदाम का व्यापारी गांधी राम और उसका बेटा प्रदीप कुमार बताया जा रहा है, जिन्होंने इसी कस्बे के रिहायशी एरिया में दो कोठी किराए पर ली थी, बाद में वह स्वयं ही इसके मालिक बन गए। घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने मामला दर्ज कर लिया है और दोनेां बाप-बेटों की गिरफतारी के लिए छापेमारी जारी है। संगरूर के डीसी अमरप्रताप सिंह विर्क ने इस मामले की मजिस्ट्रेट जांच के हुकम सुना दिए है।

- सुनीलराय कामरेड