BREAKING NEWS

राजधानी में फूटा कोरोना बम, 24 घंटे में आए 19,486 नये मामले और 141 कि हुई मौत◾पश्चिम बंगाल चुनाव : EC ने शाम सात से सुबह 10 बजे तक रैलियों, जनसभाओं पर लगाया प्रतिबंध ◾कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए CICSE ने 10वीं,12वीं की परीक्षा टाली ◾ममता संविधान की रक्षा करने में विफल रहीं, केंद्रीय बलों पर लगा रही है आरोप : नड्डा ◾वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ज्यादा अंतराल पर चलेंगी दिल्ली मेट्रो ट्रेनें, इन लाइन्स पर आधे घंटे का होगा इंतजार ◾भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी जल्द आएगा भारत, प्रत्यर्पण की मांग को ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी◾अदार पूनावाला की अमेरिका से अपील, टीका उत्पादन बढ़ाने के लिए बाइडन हटाए कच्चे माल पर लगा निर्यात प्रतिबंध◾उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की बेकाबू रफ़्तार, रिकॉर्ड 27,426 नये मामले, 103 और मरीजों की मौत ◾बंगाल में कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के लिए BJP जिम्मेदार, बाहरी लोगों के आने पर रोक लगाए EC : ममता बनर्जी ◾बंगाल में समाज को बांटने का रचा जाता है षड्यंत्र, ममता जी सहित TMC के सभी नेता दलित विरोधी : नड्डा ◾देश में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर PM मोदी ने की समीक्षा, राज्यों के साथ सहयोग सुनिश्चित करने के दिए निर्देश◾बंगाल में पांचवें चरण में 45 सीटों पर कल होगा मतदान, सुरक्षा के मद्देनजर केन्द्रीय बलों की 853 कम्पनियां तैनात◾यूपी में हर रविवार को होगा कंप्लीट लॉकडाउन, बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रू जुर्माना : CM योगी ◾अमित शाह ने राहुल को बताया ‘पर्यटक राजनेता’, कहा- दीदी मतुआ समुदाय को नहीं देगी नागरिकता◾डॉ. हर्षवर्धन ने AIIMS का किया दौरा, कहा- कोरोना जंग जीतने के लिए किसी चीज की नहीं है कमी ◾कोरोना से जंग जीतने के लिए केंद्र ने निकाला उपाय, राज्यों को UK मॉडल पर काम करने की दी सलाह ◾केंद्र की कोरोना रणनीति पर राहुल का तंज, 'तुगलकी लॉकडाउन लगाओ-घंटी बजाओ-प्रभु के गुण गाओ'◾रणदीप सुरजेवाला और जिग्नेश मेवाणी कोरोना पॉजिटिव, दिग्विजय सिंह भी हुए संक्रमित◾EC की आज सर्वदलीय बैठक, चुनावी रैलियों में कोविड नियमों के पालन पर होगी चर्चा◾देश में फिर टूटे कोरोना के सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 16 हजार केस, 1185 लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने नया रेलवे माल पोर्टल किया लॉन्च, कहा - ग्राहकों के लिए साबित होगा गेम-चेंजर

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को भारतीय रेलवे माल व्यापार विकास पोर्टल लॉन्च किया और कहा कि यह दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में से एक है और व्यापार करने में आसानी के लिए यह एक महत्वपूर्ण तत्व होगा। गोयल ने नया पोर्टल वर्चुअली लॉन्च किया। 

उन्होंने कहा, "व्यापार करने में आसानी के लिए फ्रेट बिजनेस डेवलपमेंट पोर्टल एक महत्वपूर्ण तत्व होगा। यह पोर्टल हमारे ग्राहकों की स्थिति जानने में मदद करेगा। इसमें माल ढुलाई की जरूरतों, वैगन और रैक की उपलब्धता संबंधी जानकारी होगी।"

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर ने पिछले नौ महीनों के दौरान कई नई पहल शुरू की हैं, जो कोविड संकट को एक अवसर में बदल रहे हैं। यह रेलवे फ्रेट पोर्टल दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में से एक है, "उन्होंने कहा कि नया पोर्टल रेलवे के फ्रेट ग्राहकों की सेवा करने के तरीके में एक गेम-चेंजर साबित होगा।" 

गोयल ने इस वित्तीय वर्ष में हुए माल लदान पर रोशनी डालते हुए कहा, "4 जनवरी तक, रेलवे ने 4 जनवरी, 2020 तक लोड किए गए माल का 98 प्रतिशत तक ढुलाई की है। मुझे कोई संदेह नहीं है कि अगले 45 दिनों में, हम काम में पिछले साल के बराबर रहेंगे और साल के अंत तक सकारात्मक वृद्धि हासिल करेंगे।" 

उन्होंने आगे कहा कि रेलवे के पास अब देश में हर एक डिवीजन में व्यावसायिक विकास इकाइयां हैं, जो ग्राहकों के लिए सक्रिय रूप से काम कर रही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि नया पोर्टल ग्राहकों को सबसे उपयुक्त टर्मिनल खोजने में मदद करेगा, उनके वस्तुओं के लिए सबसे उपयुक्त वैगन डिजाइन को देखने के लिए भुगतान डिजिटल रूप से किया जा सकता है। सब कुछ पारदर्शी और प्रणाली-चालित होगा। 

SC के ‘सेंट्रल विस्टा परियोजना’ को मंजूरी देने के फैसले का हरदीप सिंह पुरी ने किया स्वागत

रेल मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, नया माल पोर्टल सभी कार्यो को सुनिश्चित करने, रसद प्रदाताओं के लिए लागत को कम करने, आपूर्तिकर्ताओं के लिए ऑनलाइन ट्रैकिंग सुविधा देने और माल परिवहन की प्रक्रिया को सरल बनाने वाला, इस प्रकार का यह पहला समर्पित मंच है। फ्रेट बिजनेस डेवलपमेंट पोर्टल माल ग्राहकों की सभी जरूरतों के लिए 'वन स्टॉप-सिंगल विंडो' समाधान है। 

गोयल ने राष्ट्रव्यापी तालाबंदी के दौरान रेलवे की भूमिका की भी सराहना की और कहा कि भारतीय रेल एक अदृश्य धागे की तरह है जो भारत की लंबाई और चौड़ाई को जोड़ता है। उन्होंने कहा, "महामारी के दौरान, हमने रेलवे नेटवर्क का महत्व देखा जो लोगों और व्यापारियों की सेवा में आया था। भारतीय रेलवे ने महामारी के दौरान राष्ट्र की सेवा करने के लिए सच्ची धैर्य और दृढ़ संकल्प का प्रदर्शन किया।" 

मंत्री ने कहा कि रेलवे ने कोयले की आवश्यक आपूर्ति लगातार जारी रखी, जिससे बिजलीघरों की सेवा बंद नहीं हुई। खाद्यान्नों, खाद व बीज की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखी। मंत्री ने कहा, "मैं बहुत गर्व के साथ कहता हूं कि एक भी ऐसी घटना नहीं हुई, जिसमें रेलवे के किसी अधिकारी या किसी कर्मचारी ने अपनी सेवाएं देने से मना कर दिया हो।"

उन्होंने आगे कहा कि लॉकडाउन हटने के बाद रेलवे ने यात्रियों और माल ढुलाई दोनों के लिए सेवाओं को फिर से शुरू किया। "लॉकडाउन के दौरान, हमने श्रमिक श्रमिकों के माध्यम से अपने प्रवासी मजदूरों की सेवा की। हमने अपनी माल ढुलाई सेवाओं का विस्तार जारी रखा और मालगाड़ियों की गति लगभग दोगुनी कर दी।" 

गोयल ने कहा, "लॉकडाउन के दौरान जब कोरोनावायरस के फैलने का डर सबसे अधिक था, हमने प्रवासियों को घर पहुंचाने के लिए 4,600 से अधिक श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के माध्यम से प्रवासी मजदूरों की सेवा की।"