BREAKING NEWS

विभाजनकारी चालक के साथ कैब की सवारी है ‘कैब’ विधेयक: कपिल सिब्बल ◾शिवसेना ने केंद्र पर लगाया हिंदुओं-मुसलमानों का ‘अदृश्य विभाजन’ करने का आरोप◾कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का जन्मदिन आज, PM मोदी समेत कई नेताओं ने दी बधाई◾दिल्ली: अनाज मंडी में 24 घंटे बाद फिर लगी इमारत में आग, मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां◾कर्नाटक उपचुनाव : येदियुरप्पा का दावा- भाजपा जीतेगी 15 में से 13 सीटें◾कर्नाटक उपचुनाव : मतगणना जारी, परिणाम तय करेंगे BJP का भविष्य ◾असम में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ 16 संगठनों का मंगलवार को बंद का आह्वान ◾दिल्ली : आग की त्रासदी के बाद अस्पताल में भयावह दास्तां ◾दिल्ली अग्निकांड : दमकलकर्मी ने इमारत में फंसे 11 लोगों को बचाया ◾दिल्ली अग्निकांड : इमारत का पिछले हफ्ते हुआ था सर्वेक्षण, ऊपरी मंजिलों पर ताला लगा हुआ था - अधिकारिक सूत्र◾नागरिकता संशोधन विधेयक सोमवार को लोकसभा में पेश करेंगे शाह◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने UP में त्वरित सुनवायी अदालत के गठन में देरी पर सवाल उठाया ◾भाजपा ने अपने सांसदों के लिए व्हिप किया जारी , 11 दिसंबर तक सदन में रहें मौजूद ◾तिरुवनंतपुरम टी-20 : शिवम के अर्धशतक पर भारी सिमंस की पारी, विंडीज ने की बराबरी◾मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख को सर्वोच्च प्राथमिकता दी : जितेंद्र सिंह ◾PM मोदी ने महिलाओं को सुरक्षित महसूस कराने में प्रभावी पुलिसिंग की भूमिका पर जोर दिया ◾भाजपा 2022 के मुंबई नगर निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी ◾देश में आग की नौ बड़ी घटनाएं ◾भाजपा पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस पहले 70 साल का हिसाब दे : स्मृति इरानी◾PM मोदी ने पुणे के अस्पताल में अरुण शौरी से मुलाकात की◾

देश

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सियाचिन में सेना के जवानों और उनके कुलियों की मौत पर जताया शोक

 siachen

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सियाचिन ग्लेशियर पर हिमस्खलन की चपेट में आने से सेना के जवानों और उनके कुलियों की मौत पर मंगलवार को शोक जताया। सियाचिन ग्लेशियर के उत्तरी हिस्से में सोमवार को दोपहर बाद हुए हिमस्खलन की चपेट में आने के कारण सेना के चार जवानों और दो कुलियों की मौत हो गई थी। 

राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, "सियाचिन में हिमस्खलन की चपेट में आने से जवानों और कुलियों की मौत से गहरा दुख पहुंचा है। मैं उनके साहस और राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा के लिए उन्हें सलाम करता हूं। उनके परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।"

अधिकारियों ने बताया कि सेना के छह कर्मियों समेत आठ लोगों का एक समूह दोपहर बाद तीन बजे 19 हजार फुट की ऊंचाई पर हुए हिमस्खलन की चपेट में आ गया था। उन्होंने बताया कि पास की चौकी से राहत एवं बचाव दल मौके पर पहुंच गए थे। इस घटना में सेना के दो जवान बच गए। 

अधिकारी ने बताया, "हिमस्खलन के कारण बर्फ में दबे सभी आठ लोगों को बाहर निकाल लिया गया। उनमें से सात गंभीर रूप से घायल थे।" अधिकारी ने बताया कि सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने के बाजवूद हाइपोथर्मिया (अत्यधिक सर्दी) की वजह से चार सैनिकों एवं दो नागरिकों की मौत हो गई। 

बता दें कि सियाचिन ग्लेशियर काराकोरम पर्वत श्रृंखला पर 20 हजार फीट की ऊंचाई पर है और यह दुनिया का सबसे ऊंचा सैन्य क्षेत्र है। सर्दियों के मौसम में यहां जवानों का सामना अक्सर बर्फीले तूफान से होता है। पारा भी यहां जवानों का दुश्मन बनता है और इलाके में तापमान शून्य से 60 डिग्री सेल्सियस तक नीचे चला जाता है।