BREAKING NEWS

उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾दिल्ली : ITO में लगे BJP सांसद गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर◾वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

देश

सरकारी रिकॉर्ड में अंबेडकर के नाम के साथ जुड़ेगा 'रामजी', UP गवर्नर की सलाह पर होगा बदलाव

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के नाम को लेकर यूपी की योगी सरकार ने एक अहम फैसला लिया है। संविधान निर्माता भीमराव आंबेडकर के नाम के साथ राम जी को भी जोड़ेगी। दरअसल, राज्यपाल राम नाईक की सिफारिश के आधार पर योगी सरकार ने सभी सरकारी अधिकारी को यह आदेश जारी किया है कि अब सभी सरकारी रिकॉर्ड और दस्तावेज में आधिकारिक तौर पर डॉ बीआर अंबेडकर के साथ उनका मिडिल नेम 'रामजी' का इस्तेमाल किया जाएगा।

इस फैसले का कारण है कि संविधान के पन्ने में बाबा साहब का नाम डॉक्टर भीमराव रामजी आंबेडकर के नाम से हस्ताक्षर। बाबा साहब डॉक्टर भीमराज आंबेडकर महासभा के निदेशक डॉक्टर लालजी प्रसाद निर्मल ने बताया कि इस अभियान को 2017 में राज्यपाल राम नाईक ने शुरू किया था। राम नाईक ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और महासभा को पत्र लिखकर आंबेडकर के नाम का सही उच्चारण करने और सही तरह से लिखने के लिए ध्यान अपनी ओर आकृष्ट कराया था।

लालजी प्रसाद ने बताया कि मुख्य बात यह है कि उनके नाम का सही उच्चारण होना चाहिए, अंग्रेजी में उनके नाम की स्पेलिंग सही है, लेकिन हिंदी में उनके नाम को अंबेडकर की जगह आंबेडकर लिखा जाना चाहिेए। रामजी उनके पिता का नाम था, लिहाजा पुरानी परंपरा के अनुसार पिता का नाम बेटे के नाम के मध्य में इस्तेमाल किया जाता है। रामजी उनके पिता का नाम था, और पुरानी परंपरा के अनुसार पिता का नाम बेटे के नाम के मध्य में इस्तेमाल किया जाता है।

लिहाजा अभी भी ऐसा करना चाहिए। जिसके बाद बुधवार को सामान्य प्रशासन विभाग के मुख्य सचिव जीतेंद्र कुमार ने यह शासनादेश जारी किया है। इससे पहले आगरा स्थित डॉक्टर भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय का नाम पहले ही बदला जा चुका है। बता दें कि बीआर अंबेडकर का पूरा नाम भीमराव रामजी अंबेडकर है, जिन्हें बाबा साहब के नाम से भी जाना जाता है।

अधिक जानकारियों के लिए यहाँ क्लिक करे।