BREAKING NEWS

राष्ट्रपति, पीएम सहित कांग्रेस नेताओं ने 'मिलाद-उन-नबी' के मौके पर देशवासियों को दी बधाई◾चीन द्वारा पूर्वी लद्दाख में दोबारा जमीन कब्जाने वाली रिपोर्ट को भारतीय सेना ने फर्जी करार दिया ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू-कश्मीर में 'टीआरएफ' द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की निंदा की◾IPL -13 : राजस्थान रॉयल्स की जीत होगी बेहद जरूरी हार के साथ हो सकती है प्लेऑफ की दौड़ से बाहर ◾PM मोदी ने पूर्व CM केशुभाई को दी श्रद्धांजलि, महेश और नरेश कनोडिया के परिजनों से की मुलाकात◾जम्मू और कश्मीर : BJP नेताओं के घर पसरा मातम, नड्डा बोले-व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान◾मुंगेर घटना को संजय राउत ने बताया हिंदुत्व पर हमला, BJP की चुप्पी पर उठाया सवाल ◾LAC तनाव के बीच चीन की तैयारी, कड़ाके की ठंड से निपटने के लिए अपने सैनिकों को दिए हाई-टेक उपकरण ◾नीस आतंकी हमले पर मलेशिया के पूर्व PM की विवादित टिप्पणी, ‘मुस्लिमों को फ्रांस के लोगों की हत्या करने का हक’◾TOP 5 NEWS 30 OCTOBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾देश में कोरोना मामले 81 लाख के करीब, एक्टिव केस छह लाख से कम◾बिहार चुनाव में CM नीतीश का आरक्षण पर बड़ा दांव, आबादी के हिसाब से मिले लोगों को रिजर्वेशन ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप तेज, वैश्विक स्तर पर संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 4 करोड़ के करीब ◾आज का राशिफल ( 30 अक्टूबर 2020 )◾आतंकवाद के खिलाफ जंग में भारत फ्रांस के साथ : PM मोदी◾PM मोदी आज से दो दिन के गुजरात दौरे पर, देश की पहली सी-प्लेन सेवा का करेंगे उद्घाटन◾CSK vs KKR ( IPL 2020 ) : रुतुराज और जडेजा ने चेन्नई सुपरकिंग्स को दिलाई जीत, मुंबई प्ले आफ में◾जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकी हमला, भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या◾कांग्रेस 31 अक्टूबर को मनाएगी ‘किसान अधिकार दिवस’, जिला मुख्यालयों पर देगी धरना◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राशिद अल्वी का खुर्शीद पर पलटवार, बोले- कांग्रेस को 'दुश्मनों' की जरूरत नहीं

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राशिद अल्वी ने अपनी पार्टी के नेता सलमान खुर्शीद पर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे को लेकर उनके बयानों की तीखी आलोचना करते हुए उन पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला किया और कहा है कि कांग्रेस को ‘दुश्मनों’ की जरूरत नहीं है। 

राशिद अल्वी ने खुर्शीद का नाम लिए बगैर बुधवार को कहा कि जब दो राज्यों में चुनाव हो रहे हैं और मतदान की तिथि महज दस दिन दूर हो तो यह पार्टी की जीत के लिए काम करने का वक्त है और इस समय इस तरह की टिप्पणी करना ठीक नहीं है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को पार्टी नेतृत्व को लेकर अगर किसी तरह की शिकायत है तो उन्हें यह बात पार्टी के भीतर उठानी चाहिए। 

उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान से पार्टी को नुकसान होता है और इस स्थिति को देखते हुए लगात है कि कांग्रेस को ‘दुश्मनों’ की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि जब देखो पार्टी का हर दूसरा नेता अलग राग अलाप रहा है। यह बहुत दुर्भाज्ञपूर्ण स्थिति है। ‘घर को आग लग गई, घर के चिराग से’ यह स्थिति हो गई है। 

राशिद अल्वी ने यह टिप्पणी पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद के उस बयान पर की है जिसमें उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने का समय ठीक नहीं था। उन्हें पद नहीं छोड़ने के लिए बहुत ,मनाया लेकिन वह अपनी जिद पर अड़े रहे। 

राहुल गांधी पद छोडने की बजाय पार्टी की हार के कारणों पर विचार करते तो कांग्रेस आज अच्छी स्थिति में होती। उनके अध्यक्ष पद से हटने के बाद सोनिया गांधी को कांग्रेस की जिम्मेदारी लेनी पड़ी और यह अच्छा निर्णय था। कांग्रेस जैसी बड़ी पार्टी आज संकट के दौर में है और इस स्थिति से निकलने के लिए जल्द कदम उठाए जाने चाहिए। 

इस बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी किसी का नाम लिए बिना बयान दिया है सोनिया गांधी और  राहुल गांधी ने पार्टी को मजबूत करने के लिए बहुत मेहनत की है लेकिन भारतीय जतना पार्टी के इशारे पर कुछ लोग उलटी सीधी बातें कर रहे हैं। जब पार्टी सत्ता में होती है तो कई कुछ नहीं बोलता लेकिन जब पार्टी सत्ता से बाहर होती है तो बोलने वालों की बाढ आ जाती है।