BREAKING NEWS

लॉकडाउन 5.0 पर गृह मंत्री अमित शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों से की बात, मांगे सुझाव ◾दिल्ली में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड, 24 घंटे में 1024 नए मामले, संक्रमितों संख्या 16 हजार के पार◾सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार पर साधा, कहा- रेलगाड़ियों का रास्ता भटकना सरकार के अच्छे दिन का ‘जादू’ ◾ट्रंप की पेशकश पर भारत ने कहा- मध्यस्थता की जरूरत नहीं, सीमा विवाद के समाधान के लिए चीन से चल रही है बातचीत◾अलग जगहों पर रखे जाएं विदेशी जमाती, दिल्ली HC ने कहा- खुद उठाएंगे अपना खर्चा◾कोविड-19 की वैक्सीन बनाने में जुटे देश के 30 ग्रुप : पीएसए राघवन◾मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने ऑनलाइन आंदोलन किया, केंद्र से गरीबों की मदद की मांग की◾SC का केंद्र और राज्य सरकारों को निर्देश, तत्काल श्रमिकों के भोजन और ठहरने की करें नि:शुल्क व्यवस्था◾महाराष्ट्र में कोरोना की चपेट में 2000 से अधिक पुलिसकर्मी, महामारी से अब तक 22 की मौत◾कोरोना संकट से जूझ रही महाराष्ट्र की सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है BJP : प्रियंका गांधी ◾पुलवामा जैसे हमले को अंजाम देने की फिराक में आतंकी, IG ने बताया किस तरह नाकाम हुई साजिश◾दिल्ली-गाजियाबाद बार्डर पर फिर लगी वाहनों की लाइनें, भीड़ में 'पास-धारक' भी बहा रहे पसीना ◾राहुल गांधी की मांग- देश को कर्ज नहीं बल्कि वित्तीय मदद की जरूरत, गरीबों के खाते में पैसे डाले सरकार◾RBI बॉन्ड को वापस लेना नागरिकों के लिए झटका, जनता केंद्र से तत्काल बहाल करने की करें मांग : चिदंबरम◾‘स्पीकअप इंडिया’ अभियान में बोलीं सोनिया- संकट के इस समय में केंद्र को गरीबों के दर्द का अहसास नहीं◾पुलवामा में हमले की बड़ी साजिश को सुरक्षाबलों ने किया नाकाम, विस्फोटक से लदी गाड़ी लेकर जा रहे थे आतंकी◾दुनिया में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख के करीब, अब तक 3 लाख 55 हजार से अधिक की मौत ◾मौसम खराब होने की वजह से Nasa और SpaceX का ऐतिहासिक एस्ट्रोनॉट लॉन्च टला◾कोविड-19 : देश में महामारी से अब तक 4500 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 1 लाख 58 हजार के पार ◾मुंबई के फॉर्च्यून होटल में लगी आग, 25 डॉक्टरों को बचाया गया ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अखिल भारतीय न्यायिक सेवा शुरू करना चाहती है सरकार : रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को राज्यसभा में कहा कि केंद्र सरकार अखिल भारतीय न्यायिक सेवा (एआईजेएस) शुरू करना चाहती है। जिसको देखते हुए सरकार दवारा विभिन्न पक्षों के बीच सहमति बनाने का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने बताया कि इस सेवा के चार क्षेत्र होंगे और इसमें भाषा को लेकर कोई अवरोध नहीं होगा।

कानून मंत्री ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक प्रश्नों के उत्तर में कहा कि सरकार एआईजेएस शुरू करने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने हाई कोर्ट सहित सभी पक्षों से अनुरोध किया कि इस व्यापक न्यायिक सुधार के लिए वे अपने ‘‘पारंपरिक’’ विरोध को त्याग दें और इस प्रयास का समर्थन करें। 

कोरोना वायरस को लेकर फैली अफवाहों के खिलाफ ट्विटर ने बढ़ाए सुरक्षा के नियम

उन्होंने कहा, ‘‘सरकार सोच रही है कि एआईजेएस के लिए देशभर में चार श्रेणियां हों ताकि उत्तर, दक्षिण, पूर्व एवं पश्चिम के लोग अपने अपने क्षेत्रों में आ सकें। भाषा कोई समस्या नहीं होगी ’’ इससे पहले उनसे यह पूरक प्रश्न पूछा गया था कि क्या एआईजेएस की परीक्षाएं 29 भाषाओं में होंगी। 

प्रसाद ने कहा कि इस सेवाओं को लेकर विभिन्न पक्षों से बातचीत की गयी। इनमें कई हाई कोर्ट सहित विभिन्न पक्षों ने सहमति जतायी जबकि कुछ पक्ष इससे सहमत नहीं हैं। उन्होंने लिखित उत्तर में बताया कि एआईजेएस की स्थापना के प्रस्ताव पर 16 जनवरी 2017 को कानून मंत्री की अध्यक्षता में एक बैठक हुई थी। 

इसमें न्याय राज्य मंत्री, भारत के महान्यायवादी, सालिसीटर जनरल तथा अन्य ने भाग लिया। लेकिन बैठक में विभिन्न पक्षों के बीच इस प्रस्ताव को लेकर सहमति नहीं बन पाई।