BREAKING NEWS

अनुभवहीनता और गलत नीतियों के कारण देश में आर्थिक मंदी - कमलनाथ◾वायुसेना प्रमुख ने अभिनंदन की शीघ्र रिहाई का श्रेय राष्ट्रीय नेतृत्व को दिया ◾न तो कोई भाषा थोपिए और न ही किसी भाषा का विरोध कीजिए : उपराष्ट्रपति का लोगों से अनुरोध◾अनुच्छेद 370 फैसला : केंद्र के कदम से श्रीनगर में आम आदमी दिल से खुश - केंद्रीय मंत्री◾TOP 20 NEWS 20 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾राहुल का प्रधानमंत्री पर तंज, कहा- ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम ‘आर्थिक बदहाली’ को नहीं छिपा सकता◾रेप के अलावा चिन्मयानंद ने कबूले सभी आरोप, कहा-किए पर हूं शर्मिंदा◾डराने की सियासत का जरिया है NRC, यूपी में कार्रवाई की गई तो सबसे पहले योगी को छोड़ना पड़ेगा प्रदेश : अखिलेश यादव◾नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव में NDA की बड़ी जीत का किया दावा, कहा- गठबंधन में दरार पैदा करने वालों का होगा बुरा हाल◾कॉरपोरेट कर में कटौती ‘ऐतिहासिक कदम’, मेक इन इंडिया में आयेगा उछाल, बढ़ेगा निवेश : PM मोदी◾PM मोदी और मंगोलियाई राष्ट्रपति ने उलनबटोर स्थित भगवान बुद्ध की मूर्ति का किया अनावरण◾कांग्रेस नेता ने कारपोरेट कर में कटौती का किया स्वागत, निवेश की स्थिति बेहतर होने पर जताया संदेह◾वित्त मंत्री की घोषणा से झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1900 अंक उछला◾पीड़िता की आत्मदाह की धमकी और जनता के दबाव में हुई चिन्मयानंद की गिरफ्तारी : प्रियंका गांधी ◾यौन शोषण के आरोप में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए चिन्मयानंद, 3 और गिरफ्तार◾सरकार ने घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर की दर घटाकर की 25.17 प्रतिशत : वित्तमंत्री◾कश्मीर मुद्दे को उठाकर पाकिस्तान नीचे गिरेगा, तो हम ऊंचा उठेंगे : सैयद अकबरुद्दीन ◾शाहजहांपुर यौन शोषण केस में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद गिरफ्तार◾अमेरिका : व्हाइट हाउस के नजदीक गोलीबारी में 1 की मौत, 5 घायल◾LIC का पैसा घाटे वाली कंपनियों में लगा रही है मोदी सरकार : प्रियंका गांधी ◾

देश

पूर्वोत्तर, भारत के मुख्य हिस्सों के बीच संबंध महाभारत काल से हैं : अमित शाह

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि पूर्वोत्तर के भारत के शेष हिस्से के साथ सांस्कृतिक संबंध महाभारत काल से हैं। 

शाह ने कहा कि यह संबंध गुलामी के समय अस्थायी तौर पर प्रभावित हुआ था लेकिन उसे बहाल करने और उसे आगे ले जाने का समय आ गया है। शाह यहां पूर्वोत्तर परिषद (एनईसी) की 68वें पूर्ण सत्र को संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने कहा, ‘‘महाभारत में बब्रुवाहन या घटोत्कच पूर्वोत्तर से थे। अर्जुन ने मणिपुर में चित्रांगदा से विवाह किया था, श्रीकृष्ण के पौत्र ने भी पूर्वोत्तर में विवाह किया था।’’ 

शाह ने भारत रत्न से सम्मानिक डा. भूपेन हजारिका को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा, ‘‘पूर्वोत्तर और देश के शेष हिस्से के बीच सांस्कृतिक संबंध नये नहीं हैं। यह गुलामी के दौरान अस्थायी तौर पर प्रभावित हुआ था...संबंध टूटने का कोई सवाल ही नहीं उठता..अब समय आ गया है जब इसे बहाल करके आगे ले जाया जाए।’’ 

शाह एनईसी के अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘पूर्वोत्तर की संस्कृति, विरासत और संगीत को साथ लिये बिना देश के बाकी हिस्से के विकास का सवाल ही नहीं उठता।’’ 

उन्होंने कहा कि राज्यों की प्रगति आंतरिक क्षेत्रों के विकास के बिना हासिल नहीं की जा सकती। केंद्रीय मंत्री ने एनईसी से आग्रह किया कि वह अपने बजट का 30 प्रतिशत ऐसे क्षेत्रों में आधारभूत ढांचे के विकास और बिजली एवं गैस कनेक्शनों तक पहुंच बनाने के लिए निर्धारित करे। 

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा लक्ष्य है कि 2020 तक पूर्वोत्तर क्षेत्र के आठ राज्य देश के रेलवे और हवाई सम्पर्क मानचित्र पर उभरें।’’ 

शाह ने कहा कि भाजपा नीत सरकार द्वारा गत पांच वर्षों में पूर्वोत्तर को प्राथमिकता देने से वह एक ऐसे क्षेत्र में परिवर्तित हुआ है जहां तेज विकास और सम्पर्क देखा जा रहा है। इस क्षेत्र को पहले उग्रवाद, सीमा विवादों, मादक पदार्थ एवं हथियार तस्करी एवं भ्रष्टाचार के लिए जाना जाता था। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का कोई भी प्रधानमंत्री एनईसी की बैठक में शामिल नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि मोरारजी के अलावा वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थे जो शिलांग में 2018 में एनईसी की एक बैठक में शामिल हुए थे क्योंकि वह क्षेत्र को देश के बाकी हिस्से के बराबर विकसित करना चाहते थे। 

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि दो दिवसीय पूर्ण सत्र के दौरान पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय, एनईसी, आठ राज्यों की सरकारें और चुनिंदा केंद्रीय मंत्रालय पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए जरूरी विभिन्न विकास मुद्दों पर प्रस्तुति देंगे। 

सूत्रों ने कहा कि चल रही परियोजनाओं पर चर्चा, क्षेत्र के लिए केंद्रीय मंत्रालयों द्वारा परिव्यय और मार्च 2020 के आगे की अवधि के लिए योजनाओं के भी बैठक के दौरान आने की उम्मीद है।