BREAKING NEWS

बिहार चुनाव में CM नीतीश का आरक्षण पर बड़ा दांव, आबादी के हिसाब से मिले लोगों को रिजर्वेशन ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप तेज, वैश्विक स्तर पर संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 4 करोड़ के करीब ◾आज का राशिफल ( 30 अक्टूबर 2020 )◾आतंकवाद के खिलाफ जंग में भारत फ्रांस के साथ : PM मोदी◾PM मोदी आज से दो दिन के गुजरात दौरे पर, देश की पहली सी-प्लेन सेवा का करेंगे उद्घाटन◾CSK vs KKR ( IPL 2020 ) : रुतुराज और जडेजा ने चेन्नई सुपरकिंग्स को दिलाई जीत, मुंबई प्ले आफ में◾जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकी हमला, भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या◾कांग्रेस 31 अक्टूबर को मनाएगी ‘किसान अधिकार दिवस’, जिला मुख्यालयों पर देगी धरना◾नीतीश की दोहरी चुनौती : NDA के भीतर पार्टी को शीर्ष स्थान पर रखना, सत्ता बरकरार रखना◾एस जयशंकर ने यूनान के विदेश मंत्री डेंडियास से वार्ता की◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾बिहार में NDA गठबंधन की मजबूत सरकार बनेगी : रविशंकर प्रसाद ◾पाकिस्तान का कबूलनामा, मंत्री फवाद चौधरी ने कहा- पुलवामा हमला इमरान सरकार की बड़ी उपलब्धि◾राहुल को घेरे जाने पर कांग्रेस का पलटवार - बिहार चुनाव में हार तय देखकर BJP को याद आया पाकिस्तान◾सपा का बसपा पर जोरदार हमला , कहा - मायावती ने खुद ही खोली अपनी पोल◾केशुभाई पटेल के निधन पर राष्ट्रपति कोविंद ने जताया शोक, कहा - देश ने एक महान नेता खोया◾बंबई उच्च न्यायालय ने केंद्र से पूछा - क्या 'अत्यधिक' मीडिया रिपोर्टिंग से न्याय बाधित होता है ? ◾दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण रोकने के लिए नया कानून लागू - 1 करोड़ का जुर्माना, 5 साल की जेल◾फ्रांस: नीस के गिरिजाघर में आतंकी ने किया चाकू से हमला, कम से कम दो लोगों की ली जान◾मोदी कैबिनेट ने लिए 3 बड़े अहम फैसले, खाद्यान्नों की पैकिंग जूट की बोरी में करना हुआ अनिवार्य◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

रोवर ‘प्रज्ञान’ करेगा चांद की सतह पर कई परीक्षण

चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ के चांद पर उतरने के कुछ घंटे बाद इसके भीतर से रोवर ‘प्रज्ञान’ बाहर निकलेगा और अपने छह पहियों के जरिए चंद्र सतह पर चहलकदमी करेगा। 

‘विक्रम’ की ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ की घड़ी अब बिल्कुल नजदीक है। सारा देश टेलीविजन के माध्यम से इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनने के लिए आज रात जागा हुआ है और अंतरिक्ष जगत में भारत की धाक जमाने वाले इस मिशन की सफलता के लिए कामना तथा प्रार्थना कर रहा है। 

लैंडर रात डेढ़ बजे से ढाई बजे के बीच चांद की सतह पर किसी भी क्षण उतरेगा। यह इसरो के वैज्ञानिकों ही नहीं, बल्कि पूरे देश की ‘दिल की धड़कनों को थमा देने वाला’ क्षण होगा क्योंकि भारतीय अंतरिक्ष विज्ञानी पहली बार ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ के जटिल मिशन को अंजाम देने जा रहे हैं। 

‘विक्रम’ के चांद पर उतरने के कुछ घंटे बाद रोवर ‘प्रज्ञान’ सात सितंबर की सुबह साढ़े पांच से साढ़े छह बजे के बीच इससे बाहर निकलेगा और अपने पहियों पर चलते हुए वैज्ञानिक परीक्षण करेगा। 

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने एक संक्षिप्त वीडियो में ‘प्रज्ञान’ के बारे में विवरण दिया। यह रोबोटिक वाहन चांद पर चहलकदमी के लिए बनाया गया है। इसमें सौर पैनल लगे हैं जिनसे यह खुद को चार्ज करेगा और अपना काम करेगा। 

इसके ऊपर दो कैमरे लगे हैं जो इसकी बाईं और दाईं आंख कहे जा सकते हैं। इसके अलावा यह ‘एल्फा प्रैक्टिकल एक्स-रे स्पेक्ट्रोमीटर’, ‘रिसीव’ और ‘ट्रांसमिट’ एंटीना तथा ‘रॉकर बोगी असेंबली’ से भी लैस है। 

चांद पर उतरने के कुछ घंटे बाद ‘विक्रम’ का दरवाजा खुलेगा और माचिस के जैसे आकार वाले रोवर के लिए ढलावनुमा सीढ़ी बिछाएगा। इसके बाद छह पहियों वाला ‘विक्रम’ इससे नीचे उतरेगा और चंद्र सतह पर चलना शुरू करेगा। 

चंद्रमा की सतह पर उतरते ही रोवर की बैटरियां खुद सक्रिय होकर इसके सौर पैनलों को सक्रिय कर देंगी। अपने अध्ययन की जानकारी रोवर पहले लैंडर को भेजेगा और फिर लैंडर से यह जानकारी धरती पर बैठे इसरो के वैज्ञानिकों तक पहुंचेगी। 

रोवर एक चंद्र दिवस यानी कि धरती के 14 दिन के बराबर की अवधि तक काम करेगा और यह लैंडर से अधिकतम 500 मीटर की दूरी तय कर पाएगा। 

भारत के दूसरे चंद्र मिशन का उद्देश्य चंद्र सतह पर पानी की मौजूदगी और अन्य महत्वपूर्ण खनिजों का पता लगाना है।