BREAKING NEWS

सरदार सरोवर का गेट खोलने की मांग को लेकर मेधा पाटकर मंगलवार को निकालेंगी रैली ◾PM मोदी अपने जन्मदिन के मौके पर नर्मदा बांध का करेंगे दौरा ◾नितिन गडकरी बोले- सिर्फ आरक्षण से किसी समुदाय का विकास सुनिश्चित नहीं हो सकता ◾TOP 20 NEWS 16 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर बोले- जल्द ही पूरी दुनिया में उपलब्ध होगा दूरदर्शन इंडिया◾योगी सरकार को इलाहाबाद HC से झटका, 17 OBC जातियों को SC में शामिल करने पर रोक◾शरद पवार का ऐलान- महाराष्ट्र में 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी NCP और कांग्रेस◾हिंदी को लेकर अमित शाह के बयान पर बोले कमल हासन - कोई 'शाह' नहीं तोड़ सकता, 1950 का वादा◾CJI रंजन गोगोई बोले-जरूरत हुई तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट◾गंगवार के बयान पर प्रियंका का वार, कहा-मंत्री जी, 5 साल में कितने उत्तर भारतीयों को दी हैं नौकरियां◾SC ने गुलाम नबी आजाद को कश्मीर जाने की दी अनुमति, कोई राजनीतिक रैली न करने का दिया आदेश◾हिंद महासागर में दिखा चीनी युद्धपोत जियान-32, अलर्ट पर भारतीय नौसेना◾कश्मीर में स्थिति सामान्य करने के लिए हरसंभव प्रयास करें केंद्र : सुप्रीम कोर्ट◾SC ने फारूक अब्दुल्ला को पेश करने संबंधी याचिका पर केंद्र को जारी किया नोटिस ◾जन्मदिन पर चिदंबरम को बेटे कार्ति का पत्र, लिखा-कोई 56 इंच वाला आपको रोक नहीं सकता◾Howdy Modi कार्यक्रम में शामिल होने के ट्रंप के फैसले की PM ने की प्रशंसा, ट्वीट कर कही यह बात◾अयोध्या विवाद में सुन्नी वक्फ बोर्ड और निर्वाणी अखाड़े ने सुप्रीम कोर्ट के मध्यस्थता पैनल को लिखा पत्र◾पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम तिहाड़ जेल में मनाएंगे अपना 74वां जन्मदिन◾‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में शामिल होंगे ट्रम्प, भारतीय-अमेरिकी लोगों को एक साथ करेंगे संबोधित◾पुंछ: पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, तीन जवान घायल◾

देश

रोवर ‘प्रज्ञान’ करेगा चांद की सतह पर कई परीक्षण

चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ के चांद पर उतरने के कुछ घंटे बाद इसके भीतर से रोवर ‘प्रज्ञान’ बाहर निकलेगा और अपने छह पहियों के जरिए चंद्र सतह पर चहलकदमी करेगा। 

‘विक्रम’ की ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ की घड़ी अब बिल्कुल नजदीक है। सारा देश टेलीविजन के माध्यम से इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनने के लिए आज रात जागा हुआ है और अंतरिक्ष जगत में भारत की धाक जमाने वाले इस मिशन की सफलता के लिए कामना तथा प्रार्थना कर रहा है। 

लैंडर रात डेढ़ बजे से ढाई बजे के बीच चांद की सतह पर किसी भी क्षण उतरेगा। यह इसरो के वैज्ञानिकों ही नहीं, बल्कि पूरे देश की ‘दिल की धड़कनों को थमा देने वाला’ क्षण होगा क्योंकि भारतीय अंतरिक्ष विज्ञानी पहली बार ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ के जटिल मिशन को अंजाम देने जा रहे हैं। 

‘विक्रम’ के चांद पर उतरने के कुछ घंटे बाद रोवर ‘प्रज्ञान’ सात सितंबर की सुबह साढ़े पांच से साढ़े छह बजे के बीच इससे बाहर निकलेगा और अपने पहियों पर चलते हुए वैज्ञानिक परीक्षण करेगा। 

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने एक संक्षिप्त वीडियो में ‘प्रज्ञान’ के बारे में विवरण दिया। यह रोबोटिक वाहन चांद पर चहलकदमी के लिए बनाया गया है। इसमें सौर पैनल लगे हैं जिनसे यह खुद को चार्ज करेगा और अपना काम करेगा। 

इसके ऊपर दो कैमरे लगे हैं जो इसकी बाईं और दाईं आंख कहे जा सकते हैं। इसके अलावा यह ‘एल्फा प्रैक्टिकल एक्स-रे स्पेक्ट्रोमीटर’, ‘रिसीव’ और ‘ट्रांसमिट’ एंटीना तथा ‘रॉकर बोगी असेंबली’ से भी लैस है। 

चांद पर उतरने के कुछ घंटे बाद ‘विक्रम’ का दरवाजा खुलेगा और माचिस के जैसे आकार वाले रोवर के लिए ढलावनुमा सीढ़ी बिछाएगा। इसके बाद छह पहियों वाला ‘विक्रम’ इससे नीचे उतरेगा और चंद्र सतह पर चलना शुरू करेगा। 

चंद्रमा की सतह पर उतरते ही रोवर की बैटरियां खुद सक्रिय होकर इसके सौर पैनलों को सक्रिय कर देंगी। अपने अध्ययन की जानकारी रोवर पहले लैंडर को भेजेगा और फिर लैंडर से यह जानकारी धरती पर बैठे इसरो के वैज्ञानिकों तक पहुंचेगी। 

रोवर एक चंद्र दिवस यानी कि धरती के 14 दिन के बराबर की अवधि तक काम करेगा और यह लैंडर से अधिकतम 500 मीटर की दूरी तय कर पाएगा। 

भारत के दूसरे चंद्र मिशन का उद्देश्य चंद्र सतह पर पानी की मौजूदगी और अन्य महत्वपूर्ण खनिजों का पता लगाना है।