BREAKING NEWS

ऑक्सीजन मुद्दे पर PM मोदी से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन बंगाल चुनाव के चलते सफलता नहीं मिली : CM ठाकरे◾उत्तर प्रदेश में 24 घंटे में संक्रमण से 120 लोगों की मौत, 27357 नए केस◾विधानसभा चुनाव : बंगाल में 5वें चरण का मतदान हुआ सम्पन्न, 78.36 प्रतिशत हुई वोटिंग◾कोरोना के बिगड़ते हालात पर प्रियंका ने PM और UP सरकार को घेरा ◾कोविड-19 की वर्तमान स्थिति, टीकाकरण अभियान पर PM मोदी आज रात आठ बजे करेंगे अहम समीक्षा बैठक◾दिल्ली में 24 हजार नए मामले आये सामने, CM केजरीवाल बोले- ICU बेड्स और ऑक्सीजन की हो रही है कमी ◾ भाजपा बंगाल में सत्ता में आती है तो घुसपैठ की समस्या हो जाएगी खत्म : अमित शाह◾नवाब मलिक ने केंद्र पर लगाया आरोप, कहा- निर्यात कंपनियों को महाराष्ट्र को रेमडेसिविर देने से किया मना ◾कोरोना से निपटने में असफल रही केंद्र सरकार, पूर्व PM के सुझावों को मोदी के पास भेजेगी कांग्रेस : CWC ◾कोरोना की स्थिति को लेकर राहुल का मोदी पर निशाना, 'श्मशान और कब्रिस्तान दोनों...जो कहा सो किया'◾बंगाल में 1:30 बजे तक 54.67 % हुआ मतदान, शांतिनगर क्षेत्र में TMC, भाजपा समर्थकों के बीच हुई झड़प◾सोनिया गांधी ने केंद्र पर निशाना साधा, बोलीं- वैक्सीन के लिए आयुसीमा घटाकर 25 साल करे सरकार ◾PM मोदी बोले-2 मई को बंगाल की जनता 'दीदी' को देगी 'भूतपूर्व मुख्यमंत्री' का प्रमाणपत्र◾चारा घोटाला मामले में आजाद हुए लालू, रांची HC ने दी RJD सुप्रीमो को जमानत, जल्द होंगे जेल से रिहा ◾ओडिशा CM का PM मोदी को पत्र, कोरोना संकट के बीच कुछ कदम उठाने के दिए सुझाव◾CM गहलोत ने जनता के नाम संदेश में कहा- कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक, सरकार नहीं रखेगी कोई कमी◾भारत में कोरोना का तांडव, एक दिन में 2 लाख 34 हज़ार लोग हुए संक्रमित, 1341 ने गंवाई जान◾PM मोदी ने की संत समाज से अपील, कहा- कुंभ को कोरोना संकट के चलते रखा जाए ‘प्रतीकात्मक’ ◾विश्व में कोरोना केस की संख्या 13.96 करोड़ के पार, मरने वालों का आंकड़ा 29.9 लाख से अधिक ◾सोनिया गांधी की अगुवाई में CWC की बैठक आज, कोरोना महामारी से पैदा हुए हालात पर होगी चर्चा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अगले तीन साल में LNG स्टेशनों में 10,000 करोड़ रुपये का आएगा निवेश : धर्मेंद्र प्रधान

देश में एलएनजी (तरल प्राकृतिक गैस) स्टेशनों के विकास पर अगले तीन साल में 10,000 करोड़ रुपये का निवेश होगा। यह ईंधन देश में लंबी दूरी की यात्रा को बदल देगा, उसकी लागत एवं कार्बन उत्सर्जन को कम करेगा। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को देश के 50 पहले एलएनजी पंप के शिलान्यास के मौके पर यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा, ‘‘अगले तीन साल में निजी और सार्वजनिक क्षेत्र में 1,000 एलएनजी स्टेशन स्थापित करने पर 10,000 करोड़ रुपये का व्यय होगा।’’ पेट्रोलियम मंत्री ने कहा, ‘‘देश में करीब एक करोड़ ट्रक सड़कों पर दौड़ते हैं। यदि हम इसके 10 प्रतिशत यानी 10 लाख ट्रक को भी एलएनजी चालित ट्रक में बदलने में कामयाब हुए तो यह कितनी बचत करने वाला कदम होगा। एलएनजी डीजल के मुकाबले 40 प्रतिशत तक सस्ती है।’’ 

उन्होंने कहा कि एलएनजी से कार्बन उत्सर्जन लगभग ना के बराबर होता है और नाइट्रोजन ऑक्साइड का उत्सर्जन भी 85 प्रतिशत तक कम होता है। शुरुआत में 50 एलएनजी स्टेशन देश के चार महानगर दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता को जोड़ने वाले स्वर्णिम चतुर्भुज राजमार्ग पर स्थापित किए जाएंगे। 

एलएनजी एक अत्याधिक ठंडी प्राकृतिक गैस होती है। लंबी दूरी की यात्रा करने वाने वाहन मसलन बस और ट्रक में ईंधन के तौर पर यह बेहतर परिणाम देती है। यह सीएनजी से अधिक ऊर्जा दक्ष होती है और एक बार भरने के बाद बस या ट्रक 600 से 800 किलोमीटर की दूरी तय कर सकते हैं। यह डीजल के मुकाबले 30 से 40 प्रतिशत सस्ती है। 

पेट्रोलियम मंत्री प्रधान ने कहा कि सभी मुख्य राजमार्गों पर हर 200 से 300 किलोमीटर की दूरी पर एलएनजी स्टेशन की स्थापना की जाएगी। अभी भारत में वाहन ईंधन के तौर पर पेट्रोल, डीजल, सीएनजी या ऑटो एलपीजी का अधिक उपयोग होता है। एलएनजी नया ईंधन है जिसके लिए पेट्रोल पंप की तरह आपूर्ति स्टेशन बनाए जा सकते हैं। इसे ना सिर्फ बस या ट्रक में बल्कि खनन उपकरण, बंकर और डीजल रेलगाड़ी इंजन में भी ईंधन के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है।