BREAKING NEWS

गुजरात में भी विफल मीम-भीम गठजोड़, सर्वे ने सभी को चौंकाया, भाजपा को सबसे आगे दिखाया ◾Tamil Nadu: सीएम स्टालिन ने कहा- उत्तर भारत के पेरियार हैं अंबेडकर◾UP News: सपा विधायक अतुल प्रधान ने किया सदन की कार्यवाही का फेसबुक पर सीधा प्रसारण, हुई कार्रवाई◾संसद में मचेगा घमासान! विपक्ष की महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी◾Uttarakhand: अदालत का अहम फैसला- पत्नी का गला घोंटकर मारने वाले पति को आजीवन कारावास दिया ◾Gold Rate Today Price: दिन के खत्म होते ही सोने में भारी चमक, 118 रूपये दर्ज की गई बढ़ोत्तरी◾UP News: विधानसभा का शीतकालीन सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित◾UP News: योगी आदित्यनाथ ने कहा- देश में सर्वश्रेष्ठ मानकों पर कार्य कर रहा है उप्र का होमगार्ड विभाग◾Border dispute: शरद पवार ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री को दिया अल्टीमेटम, क्या थमेगा विवाद? ◾TMC, JD(U), SAD की महिला आरक्षण विधेयक पर आमसहमति बनाने के लिये सर्वदलीय बैठक की मांग◾किसानों का बड़ा ऐलान: केंद्र सरकार के खिलाफ शुक्रवार को जंतर-मंतर पर करेंगे प्रदर्शन◾केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा- अवैध खनन रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है ड्रोन◾ईदगाह मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ करने जा रहे अखिल भारत हिंदू महासभा का नेता हुआ गिरफ्तार ◾गोखले को हिरासत में लेने पर बयानबाजी शुरू, अभिषेक बनर्जी बोले- डरी हुई है भाजपा◾आतंकियों के निशाने पर कश्मीरी हिन्दू, TRF ने हिटलिस्ट जारी कर दी धमकी ◾CBI को मिली बड़ी कामयाबी, उत्तर रेलवे के एक इंजीनियर को दबोचा, दो करोड़ रूपए किए बरामद◾गुजरात में भाजपा की होगी जीत! सीएम बोम्मई ने कहा- इसका सीधा सकारात्मक प्रभाव कर्नाटक में पडे़गा◾महाराष्ट्र के ट्रकों को बलगावी के पास रोककर की गई पत्थरबाजी, फडणवीस कर्नाटक के सीएम पर भड़के◾PM मोदी ने तेजस्वी यादव से की बात, राजद सुप्रीमो के स्वास्थ्य का जाना हाल ◾सावधान! अगर अब भी नहीं सुधरें तो 35 से कम उम्र में आ सकता है Heart Attack◾

RSS चीफ ने चीन , अमेरिका पर साधा निशाना , कहा - महाशक्तियां दूसरे देशों की स्वार्थी तरीके से मदद करती हैं

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ  के सरसंघचालक मोहन भागवत ने शुक्रवार को कहा कि, संकट के समय में भी अमेरिका और चीन जैसी महाशक्तियां दूसरे देशों की स्वार्थी तरीके से मदद करती हैं, जबकि निस्वार्थ भाव से दूसरों की मदद करना भारत का स्वभाव है।

भारत विकास परिषद द्वारा यहां आयोजित एक कार्यक्रम में भागवत ने कहा कि कुछ देशों, विशेष रूप से चीन ने अपने स्वार्थी लक्ष्यों के लिए श्रीलंका और पाकिस्तान का इस्तेमाल किया, लेकिन जब हाल ही में उन्हें संकट का सामना करना पड़ा, तो ये देश उन्हें संकट से बाहर निकालने के लिए आगे नहीं आए। उन्होंने कहा कि श्रीलंका में हाल के आर्थिक संकट के दौरान, भारत एकमात्र ऐसा देश था जो कठिन समय में उसके साथ चट्टान की तरह खड़ा रखा।

भागवत ने कहा भारत ने न केवल यूक्रेन से अपने मेडिकल छात्रों को बचाया, बल्कि अन्य देशों के छात्रों को भी सुरक्षित रूप से वापस लाया। यह भारत का चरित्र है। उन्होंने कहा कि दान भारतीय समाज के दिल में है। आरएसएस सुप्रीमो ने यह भी कहा कि जो देश महाशक्ति रहे हैं, उन्होंने केवल दुनिया पर अपना वर्चस्व कायम किया और अपने निहित स्वार्थों को पूरा किया, लेकिन भारत ने हमेशा संकटग्रस्त देशों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया।

भागवत ने कहा, जब सहायता की सख्त जरूरत वाले लोगों की मदद करने की बात आती है तो भारत हमेशा अग्रणी होता है। श्रीलंका, मालदीव और यूक्रेन जैसे संकटग्रस्त देशों की मदद करने में भारत की भूमिका इसका उदाहरण है। भागवत ने कहा, अन्य देशों ने अपनेपन की ऐसी भावना नहीं दिखाई।