BREAKING NEWS

2030 तक दिल्ली में होगा 'E-Vehicles' का दबदबा... जानें क्या है नई पॉलिसी? यह होंगे बड़े बदलाव ◾आम आदमी पार्टी की ईमानदारी ने विरोधियों की नींद उड़ा दी : मुख्यमंत्री केजरीवाल◾'काली' के पोस्टर पर छिड़ा विवाद... मोइत्रा ने अनफॉलो किया TMC का अकाउंट, पार्टी ने बनाई दूरी! ◾Himachal Pradesh :कुल्लू में बादल फटने से आया सैलाब , 4 लोग लापता ◾CM शिंदे ने उद्धव ठाकरे पर ली चुटकी, कहा-ऑटोरिक्शा ने मर्सिडीज को पीछे छोड़ दिया◾अयोध्या के संत ने फिल्म 'काली' का पोस्टर साझा करने के बाद फिल्म निर्माता लीना को धमकी की जारी◾CORONA UPDATE : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 16 हज़ार से ज़्यादा मामले सामने आए, 28 मरीजों ने गंवाई जान ◾अजमेर दरगाह का खादिम गिरफ्तार, नुपुर शर्मा की गर्दन काटने वाले को अपना घर देने का किया था ऐलान◾कश्मीर में मुठभेड़ के दौरान दो आतंकवादियों ने आत्मसमर्पण किया◾LPG Price Hike : आम आदमी को महंगाई का बड़ा झटका, 50 रुपए महंगा हुआ घरेलू LPG सिलेंडर ◾आज का राशिफल (06 जुलाई 2022)◾Jharkhand : उच्च न्यायालय ने मानहानि मामले में राहुल गांधी की याचिका खारिज करते हुए कहा ..... ◾NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू 06 जुलाई को असम में राजग सांसदों, विधायकों से मिलेंगी◾Eng vs Ind 5th Test Match : इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट में भारत पर धीमी ओवरगति के लिये जुर्माना◾मैने भाजपा नेतृत्व को एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र सीएम बनाने का प्रस्ताव दिया था : फडणवीस◾फ्रांसीसी रक्षा कंपनी सैफरान ग्रुप हैदराबाद, बेंगलुरु में लगाएगा संयंत्र ◾ Spice Jet flight News: स्पाइस जेट विमान के विंडशील्ड में आई दरार, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटना ◾Maharashtra: उद्धव का छलका दर्द! बोले- सियासी राजनीति से हुआ दुखी, अपनों ने छोड़ा साथ, जल्द करूंगा वापसी◾ भाजपा का अखिलेश पर तंज- जनाब तुम्हारी साइकिल 2024 के लोकसभा चुनाव तक नहीं पहुंच पाएगी, मुंह की खाओगे◾ BJP धमकी देती है कि हमारे पास ED है और IT है...दीवार फिल्म के मशहूर डायलॉग से केजरीवाल का भाजपा पर हमला◾

पेगासस मामले में SC द्वारा नियुक्त पैनल जून तक सौंपेगा रिपोर्ट, पूरी हो चुकी है 29 फोनों की जांच

उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त तकनीकी समिति ने कोर्ट को सूचित किया है कि वह मई के अंत तक पेगासस जांच रिपोर्ट सौंप देगी। प्रधान न्यायाधीश एन. वी. रमण की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि पर्यवेक्षी न्यायाधीश को तकनीकी समिति की रिपोर्ट की जांच करनी होगी और शीर्ष अदालत के पूर्व न्यायाधीश को तकनीकी समिति की सिफारिशों की जांच करने के लिए कुछ समय की आवश्यकता होगी। समिति ने शीर्ष अदालत को सूचित किया कि 29 मोबाइल उपकरणों की जांच की गई है। सुप्रीम कोर्ट ने समिति की मांग के अनुसार समय बढ़ाया है। यह नोट किया गया कि तकनीकी समिति ने कुछ फोन की जांच की है और दूसरों को इसके समक्ष पेश होने के लिए नोटिस जारी किया है।
जून में प्रस्तुत की जा सकती है अंतिम रिपोर्ट
बता दें कि, अंतिम रिपोर्ट जून के मध्य में शीर्ष अदालत में प्रस्तुत किए जाने की उम्मीद है। शीर्ष अदालत ने कहा कि विशेषत: तकनीकी समिति द्वारा प्रक्रिया चार सप्ताह में समाप्त की जानी चाहिए और पर्यवेक्षी न्यायाधीश को सूचित किया जाना चाहिए। जुलाई में इस मामले की फिर सुनवाई होगी। न्यायमूर्ति रवींद्रन तकनीकी समिति के कामकाज की देखरेख कर रहे हैं और उन्हें आलोक जोशी, पूर्व आईपीएस अधिकारी और डॉ संदीप ओबेरॉय, अध्यक्ष, अंतरराष्ट्रीय मानकीकरण संगठन (अंतर्राष्ट्रीय इलेक्ट्रो-तकनीकी आयोग) संयुक्त तकनीकी समिति में उप समिति द्वारा सहायता प्रदान की जाती है।

इन लोगों ने दायर की थी याचिका
याचिकाओं का एक बैच, जिसमें अधिवक्ता एम.एल. शर्मा, माकपा सांसद जॉन ब्रिटास, पत्रकार एन. राम, आईआईएम के पूर्व प्रोफेसर जगदीप चोककर, नरेंद्र मिश्रा, परंजॉय गुहा ठाकुरता, रूपेश कुमार सिंह, एस.एन.एम. आबिदी और एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया को पेगासस जासूसी आरोपों की स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए दायर किया गया था। पेगासस जासूसी कांड का खुलासा कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के माध्यम से हुआ था। रिपोर्ट्स में इस बात का जिक्र था कि 2017 में जब भारत सरकार ने इजराइल से दो अरब डॉलर का मिसाइल सौदा किया था तभी पेगासस स्पाईवेयर भी खरीदा गया था। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल की गई थी। हालांकि, सरकार ने इस दावे को सिरे से खारिज कर दिया था।