BREAKING NEWS

भारतीय नौसेना ने पहली बार हेलीकॉप्टर स्ट्रीम में दो महिला अधिकारियों को किया तैनात◾माइक तोड़ा, रूलबुक फेंकी और राज्यसभा के उपसभापति को धमकी दी गई : वेंकैया नायडू◾इंदौर के अस्पताल में कोरोना मरीज बुजुर्ग के शव को चूहों ने कुतरा, जांच का आदेश◾राहुल का वार- देश की बदहाली के लिए खुद के कुशासन को दोषी नहीं ठहराती मोदी सरकार ◾विधानसभा चुनाव से पहले PM मोदी ने बिहार को दी 14,000 करोड़ की परियोजना की सौगात ◾MSP पर PM मोदी ने एक बार फिर दोहराई अपनी बात, कृषि मंडियों में पहले की तरह होता रहेगा काम◾संवेदनशील जानकारी साझा करने के आरोप में पत्रकार राजीव सहित 3 को 7 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया◾'सर्वज्ञ' सरकार के अहंकार ने ला दिया आर्थिक संकट, लोकतांत्रिक भारत की आवाज दबाना जारी : राहुल गांधी ◾कोविड-19 : देश में पॉजिटिव मामलों की संख्या 55 लाख के करीब, एक्टिव केस 10 लाख के पार ◾चीन से तनातनी के बीच भारतीय वायुसेना में शामिल हुए राफेल ने लद्दाख में भरी उड़ान ◾राज्यसभा के सभापति की सख्त कार्रवाई, हंगामा करने वाले आठ विपक्षी सदस्य निलंबित◾महाराष्ट्र : भिवंडी में इमारत गिरने से 10 लोगों की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी ◾वैश्विक स्तर पर कोरोना संक्रमितों की संख्या 3 करोड़ 10 लाख के करीब, साढ़े नौ लाख से अधिक लोगों की मौत ◾LAC तनाव : भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच आज मोल्डो में होगी छठे दौर की हाई लेवल मीटिंग ◾आज का राशिफल (21 सितम्बर 2020)◾शशि थरूर ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना , कहा - सरकार को संकट में 'चेहरा छिपाने' का मौका मिला है◾IPL-13 : रबाडा की घातक गेंदबाजी, दिल्ली कैपिटल ने सुपर ओवर में मारी बाजी◾लोकसभा ने देर रात 40 मिनट में चार विधेयक किये पारित ◾अलकायदा आतंकी साजिश के मुख्य आरोपी मुर्शिद हसन ने दक्षिण, पूर्वी भारत में कई जगहों की यात्रा की : NIA◾भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच छठे दौर की बातचीत कल, पहली बार विदेश मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी होंगे शामिल◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

SC ने अगले आदेश तक BS-IV वाहनों के रजिस्ट्रेशन पर लगाई रोक

सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल भारत चरण-4 (बीएस-4) उत्सर्जन मानकों वाले वाहनों के पंजीकरण पर रोक लगा दी है। न्यायालय ने शुक्रवार को अधिकारियों को निर्देश दिया कि लॉकडाउन की अवधि के दौरान बिके बीएस-4 वाहनों पर फैसले तक इनके पंजीकरण पर रोक रहेगी। इससे पहले शीर्ष अदालत ने अपने आदेश के उल्लंघन पर वाहन डीलर संघ से नाराजगी जताई। न्यायालय ने कहा कि ऐसे वाहन लॉकडाउन के दौरान मार्च के आखिरी सप्ताह और 31 मार्च के बाद भी बेचे गए।

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अगुवाई वाली पीठ ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस से संक्षिप्त सुनवाई के दौरान स्पष्ट किया कि इस मुद्दे पर फैसले तक बीएस-4 वाहनों के पंजीकरण पर रोक रहेगी। पीठ में न्यायमूर्ति बी आर गवई और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी भी शामिल हैं। इससे पहले न्यायालय ने आठ जुलाई को 27 मार्च के अपने उस आदेश को वापस ले लिया था जिसमें कोविड-19 की वजह से लागू लॉकडाउन के हटने के बाद दिल्ली-एनसीआर को छोड़कर देश के अन्य हिस्सों में 10 दिन के लिए बीएस-4 वाहनों की बिक्री की अनुमति दी गई थी। बाद में इस राहत को वापस ले लिया गया था।

न्यायालय ने डीलरों को यह राहत इस तथ्य को ध्यान में रखकर दी थी कि मार्च, 2020 के बाद देश में इन वाहनों की बिक्री नहीं हो सकती। पीठ ने वाहन डीलर संघ को निर्देश दिया है कि वह मार्च के आखिरी सप्ताह में ऑनलाइन या प्रत्यक्ष तरीके से बेचे गए वाहनों का ब्योरा पेश करे। पीठ ने कहा कि वह लॉकडाउन की अवधि में बेचे गए और पंजीकृत हुए बीएस-4 वाहनों के ब्योरे की जांच करना चाहती है।

पीठ ने डीलर संघ की ओर से पेश अधिवक्ता से कहा, ‘‘आप गंभीर संकट में हैं। हम किसी के ऊपर अभियोजन की कार्रवाई करेंगे।’’ पीठ ने विशेषरूप से 29, 30 और 31 मार्च को ऐसे वाहनों की बिक्री में वृद्धि का उल्लेख करते हुए कहा कि हम इन लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई करेंगे। इस मामले पर अगली सुनवाई अब 13 अगस्त को होगी।

इससे पहले 24 जुलाई को न्यायालय ने वाहन डीलरों के मौखिक आग्रह पर आपत्ति जताई थी जिसमें उन्होंने कहा था कि बीएस-4 वाहनों को विनिर्माता कंपनियों को लौटाने की अनुमति दी जाए, जिससे इनका निर्यात अन्य देशों को किया जा सके। डीलरों ने कहा था कि कुछ देशों में अब भी बीएस-4 वाहनों की बिक्री की अनुमति है।

भूमि पूजन कार्यक्रम में दलित संत को आमंत्रित न करने पर मायावती ने दी प्रतिक्रिया, कहा- निराशाजनक