BREAKING NEWS

JDS के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान हुए फोन टैपिंग केस को CBI को सौंपेंगी येदियुरप्पा सरकार◾हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और भूस्खलन के कारण कई नेशनल हाईवे क्षतिग्रस्त◾नितिन गडकरी की अफसरों को चेतावनी, बोले- 8 दिन में पूरा करो काम, नहीं तो लोगों से कहकर धुलाई करा दूंगा◾हंसराज हंस ने की JNU का नाम बदलकर MNU रखने की मांग, बोले- मोदी के नाम पर भी कुछ हो◾राजधानी थिंपू में पीएम मोदी का संबोधन, बोले-एक दिन भूटान के वैज्ञानिक भी उपग्रह डिजाइन करने◾AK-47 रखने के मामले में अनंत सिंह गिरफ्तारी की भनक लगते ही फरार, पुलिस ने पत्नी से की पूछताछ◾एम्स में भर्ती अरुण जेटली 'लाइफ सपोर्ट सिस्टम' पर, दुआओं का दौर जारी◾खडसे बोले- जिन नेताओं के खिलाफ BJP भ्रष्टाचार के आरोप लगाती थी, उन्हें पार्टी में शामिल करना अच्छा विचार नहीं◾राजनाथ ने केंद्रीय विभागों के पुन आवंटन पर मंत्री समूह की अध्यक्षता की ◾कर्नाटक : येदियुरप्पा को अमित शाह ने दी मंत्रिमंडल विस्तार की हरी झंडी ◾जलवायु परिवर्तन पर ‘बेसिक’ देशों को एक सुर में आवाज उठानी होगी : जावड़ेकर ◾BJP सरकार का रवैया नकारात्मक, अमेठी-मैनपुरी में सैनिक स्कूल की स्थापना समाजवादी सरकार में हुई : अखिलेश◾MP : मुख्यमंत्री कमलनाथ उज्जैन मंदिर को दे सकते हैं 300 करोड़ की सौगात ◾TOP 20 NEWS 17 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ AIIMS अस्पताल में लगी भीषण आग, अभी तक कोई हताहत नहीं◾जेटली जीवन रक्षक प्रणाली पर : नीतीश, पीयूष गोयल समेत अन्य नेता हाल जानने एम्स पहुंचे ◾भूटान का पड़ोसी होना सौभाग्य की बात, भूटान की पंचवर्षीय योजनाओं में करेंगे सहयोग : PM मोदी◾पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद◾प्रियंका गांधी बोलीं- देश में 'भयंकर मंदी' लेकिन सरकार के लोग खामोश◾ मायावती का ट्वीट- देश में आर्थिक मंदी का खतरा, इसे गंभीरता से लें केंद्र◾

देश

SC का जम्मू-कश्मीर में पाबंदियां हटाने का निर्देश देने से इनकार, दो सप्ताह बाद होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू और कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को रद्द करने के बाद लगाए गए प्रतिबंधों को तत्काल हटाने का कोई निर्देश देने से मंगलवार को इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि वह राज्य में स्थिति सामान्य होने का इंतजार करेगा और इस मामले पर दो सप्ताह बाद विचार करेगा। 

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति एम आर शाह और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की तीन सदस्यीय खंडपीठ कांग्रेस कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। पूनावाला ने संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को रद्द किए जाने के बाद जम्मू और कश्मीर में पाबंदियां लगाने तथा कठोर कदम उठाने के केन्द्र के फैसले को चुनौती दी है। 

पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा कि जम्मू कश्मीर की मौजूदा स्थिति बहुत ही संवेदनशील है और इस क्षेत्र में हालात सामान्य बनाने के लिए कुछ समय दिया जाना चाहिए। पीठ ने कहा कि सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वहां जनहानि न हो।