BREAKING NEWS

यूपी: AIMIM ने बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी को प्रयागराज से चुनावी मैदान में उतारा, मिलेगी कड़ी टक्कर◾UP: हरिद्वार विवाद से अलीगढ़ प्रशासन ने लिया सबक, प्रस्तावित धर्म संसद की अनुमति देने से किया इनकार ◾Today's Corona Update : देश में गिरने लगा कोरोना का ग्राफ, पिछले 24 घंटे में ढाई लाख से कम नए केस ◾दिल्ली: गाजीपुर में RDX मिलने के बाद सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए पुख्ता, गणतंत्र दिवस पर तीसरी आंख रखेगी नजर◾World Coronavirus : वैश्विक स्तर पर कोरोना मामलों में वृद्धि, 33.02 करोड़ से ऊपर पहुंचा आंकड़ा◾देश के कई हिस्सों में सर्दी का सितम जारी, मैदानी इलाकों को अभी नहीं मिलेगी शीतलहर से राहत◾UP चुनाव को लेकर PM मोदी वाराणसी के भाजपा कार्यकर्ताओं से आज करेंगे वर्चुअल संवाद, देंगे यह मंत्र◾पंजाब विधानसभा चुनाव में CAPF की 1,050 कंपनी तैनात करने की मांग ◾पंजाब विधान सभा चुनाव - गठबंधन तय लेकिन सीटों को लेकर अभी तक नहीं हो पाया है अंतिम फैसला ◾कांग्रेस ने अरबपतियों की संपत्ति बढ़ने संबंधी रिपोर्ट को लेकर सरकार पर निशाना साधा ◾राज्यों की झांकी न शामिल करने के लिए केंद्र की आलोचना करना गलत परम्परा : सरकारी सूत्र ◾ केजरीवाल आज करेंगे पंजाब में ‘आप’ के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : ममता के बाद स्टालिन ने PM मोदी का लिखा पत्र ◾भारत वर्तमान ही नहीं बल्कि अगले 25 वर्षों के लक्ष्य को लेकर नीतियां बना रहा है : PM मोदी ◾उद्योग जगत ने WEF में PM मोदी के संबोधन का किया स्वागत ◾ कोरोना से निपटने के योगी सरकार के तरीके को लोग याद रखेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे : ओवैसी◾गाजीपुर मंडी में मिले IED प्लांट करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन MGH ने ली◾दिल्ली में कोविड-19 के मामले कम हुए, वीकेंड कर्फ्यू काम कर रहा है: सत्येंद्र जैन◾कोविड-19 से उबरने का एकमात्र रास्ता संयुक्त प्रयास, एक दूसरे को पछाड़ने से प्रयासों में होगी देरी : चीनी राष्ट्रपति ◾ ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, 8 सीटों पर किया ऐलान◾

एनपीए पर गाइडलाइंस तैयार करने से SC का इनकार, कहा-यह नीतिगत मामला

सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी की उस याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया है, जिसमें अधिकार क्षेत्र का हवाला देते हुए बैंकिंग क्षेत्र की गैर निष्पादित संपत्तियों (एनपीए) के मामले में गाइडलाइंस तैयार करने का अनुरोध किया गया था।

न्यायमूर्ति डी. वाई. चंद्रचूड़, न्यायमूर्ति विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति बी वी नागरत्ना की खंडपीठ ने सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा कि यह एक नीतिगत मामला है, जो सरकार और आरबीआई के अधिकार क्षेत्र में आता है।

SC का फैसला- NGT के पास पर्यावरणीय मुद्दों पर स्वत: संज्ञान लेने का है अधिकार, शक्तियों का कर सकती है प्रयोग

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘हम इस मामले में कैसे हस्तक्षेप कर सकते हैं? हमें दखल करने की कोई आवश्यकता नहीं है।’’ सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता से कहा कि आरबीआई और वित्त मंत्रालय समय-समय पर जरूरी दिशा निर्देश समेत कई उपाय करती रहती है ताकि बैंकों को एनपीए होने से बचाया जा सके।

कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता एनपीए से संबंधित दिशा निर्देश तैयार करने का मुद्दा सरकार और आरबीआई के समक्ष उठाने के लिए स्वतंत्र है। स्वामी ने कोर्ट से एक गाइडलाइंस तैयार करने का अनुरोध यह कहते हुए किया था कि बैंकों के एनपीए होने के कारण लोगों को अपनी रकम के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ती है। 

याचिकाकर्ता ने कोर्ट से गाइडलाइंस तैयार करने के लिए एक कमेटी के गठन करने की गुहार लगाई लेकिन कोर्टने उनकी इस मांग को ठुकरा दिया।