BREAKING NEWS

महान संगीतकार ख्य्याम साहब का निधन, अभिनेता बनना चाहते थे ख्य्याम साहब◾प्रियंका का कटाक्ष : लगता है मोदी आरएसएस के विचारों का सम्मान नहीं करते ◾उत्तर भारत में बारिश का कहर, 38 की मौत ◾अलायंस एयर की उड़ान की दिल्ली हवाई अड्डे पर आपात लैंडिंग, सभी यात्री सुरक्षित ◾PM मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प से फोन पर की 30 मिनट बातचीत, बिना नाम लिए PAK को बनाया निशाना ◾TOP 20 NEWS 19 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾आरक्षण विरोधी मानसिकता त्यागे संघ : मायावती◾कश्मीर पर भारत की नीति से घबराया पाकिस्तान, अगले तीन साल पाकिस्तानी सेना प्रमुख बने रहेंगे बाजवा◾चिदंबरम ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- सब सामान्य तो महबूबा मुफ्ती की बेटी नजरबंद क्यों◾कांग्रेस ने बीजेपी और RSS को बताया दलित-पिछड़ा विरोधी◾गृहमंत्री अमित शाह से मिले अजीत डोभाल, जम्मू कश्मीर के हालात पर हुई चर्चा◾RSS अपनी आरक्षण-विरोधी मानसिकता त्याग दे तो बेहतर है : मायावती ◾गहलोत बोले- कांग्रेस ने देश में लोकतंत्र को मजबूत रखा जिसकी वजह से ही मोदी आज PM है ◾बैंकों के लिए कर्ज एवं जमा की ब्याज दरों को रेपो दर से जोड़ने का सही समय: शक्तिकांत दास◾राजीव गांधी की 75वीं जयंती: देश भर में कार्यक्रम आयोजित करेगी कांग्रेस◾दलितों-पिछड़ों को मिला आरक्षण खत्म करना BJP का असली एजेंडा : कांग्रेस ◾उन्नाव कांड: SC ने CBI को जांच पूरी करने के लिए 2 हफ्ते का समय और दिया, वकील को 5 लाख देने का आदेश◾अयोध्या भूमि विवाद मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में नहीं हुई सुनवाई ◾जम्मू-कश्मीर में पटरी पर लौटती जिंदगी, 14 दिन बाद खुले स्कूल-दफ्तर◾बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का 82 साल की उम्र में निधन◾

देश

एससी-एसटी अत्याचार बढ़ा है : राबड़ी देवी

पटना : विधान मंडल दल के नेता सह पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने एससी-एसटी मामले में जो निर्णय लिया है उस पर किसी तरह का टिप्पणी नहीं करना है लेकिन देश में बड़े पैमाने पर दलितों पर अत्याचार बढ़ा है। जब अत्याचार होता है तब भी लोग न्यायालय के शरण में पहुंचते हैं।

न्यायालय उनकी बातों को सुनकर फैसला करती है। इसके लिए केन्द्र व राज्य सरकार दोषी है। दलितों पर हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए रोक सभा एवं विधानसभाओं में नया कानून बनाना चाहिए।

क्योंकि प्रतिदिन दलितों पर अत्याचार देखने को मिलते हैं। दलितों पर अत्याचार रोकने हेतु बहुत बड़ा हथियार था लेकिन दलितों के हथियार को समाप्त किया जा रहा है। इसके लिए केन्द्र व राज्य सरकार दोषी है।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।