BREAKING NEWS

चुनाव दिल्ली के 2 करोड़ लोगों व 200 भाजपा सांसदों के बीच : केजरीवाल ◾भागवत ने किये बाबा विश्वनाथ के दर्शन◾निर्भया केस : पवन जल्लाद गुरुवार को पहुंचेगा तिहाड़◾प्रशांत ने नीतीश के दावे को बताया 'झूठा'◾बस ने ऑटो रिक्शा को मारी टक्कर, दोनों वाहन कुएं में गिरे, 15 से अधिक लोगों की मौत , 20 से ज़्यादा जख्मी◾भाजपा चुनाव को साम्प्रदायिक बनाना चाहती है : कांग्रेस◾अंडर-19 विश्व कप : ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत सेमीफाइनल में◾कन्हैया कुमार से ज्यादा खतरनाक बयान दिया है शरजील ने - शाह◾जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर BSF को ड्रोन रोधी प्रणाली से लैस किया जाएगा◾भारत ने हिन्दू लड़की के अपहरण पर पाक उच्चायोग के अधिकारी को किया तलब, आपत्ति पत्र जारी किया◾प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर जदयू में शामिल किया : नीतीश कुमार ◾NPR के प्रारूप में जोडे गए नए कॉलम को हटाने का आग्रह करेंगे पार्टी सांसद : नीतीश कुमार ◾बजट सत्र के मद्देनजर राज्यसभा के सभापति ने शुक्रवार को बुलाई सर्वदलीय बैठक ◾राहुल ने किया नेशनल रजिस्टर आफ अनएम्पलायमेंट पोस्टर का विमोचन ◾राजद्रोह का आरोपी शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार◾नरेंद्र मोदी ने देश की भाईचारे और एकता की छवि को नुकसान पहुंचाया : राहुल गांधी◾एनसीसी के कार्यक्रम में PM मोदी बोले- पाक को धूल चटाने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे'◾कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- प्रति व्यक्ति कर्ज 27 हजार रुपये बढ़ा, सरकार बजट में बताए कि यह बोझ कैसे कम होगा ◾2002 गुजरात दंगे के 14 दोषियों को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत◾केजरीवाल की चुनौती को अमित शाह ने स्वीकारी, 8 सांसदों को स्कूलों में भेजकर खोली पोल ◾

अनुच्छेद 370 को खत्म किये जाने के खिलाफ याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट आज से करेगा सुनवाई

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म करने के खिलाफ दायर सभी याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट आज से सुनवाई करेगा। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने मामले को 5 जजों की संविधान पीठ को भेज दिया था। इसके साथ ही याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा।  इसके लिए पांच जजों की सांविधानिक पीठ बनाई गई है।

इसकी अध्यक्षता जस्टिस एनवी रमन को दी गई है। सांविधानिक पीठ में जस्टिस एसके कौल, जस्टिस आर सुभाष रेड्डी, जस्टिस बीआर गवई, और जस्टिस सूर्यकांत भी शामिल हैं। न्यायमूर्ति एन वी रमण की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने सोमवार को सॉलीसीटर जनरल तुषार मेहता और वरिष्ठ अधिवक्ता राजू रामचंद्रन को मामले पर तैयारी के साथ आने को कहा था। 

पीठ ने पक्षकारों से दस्तावेजों का साझा संकलन तैयार करने को कहा था जिससे इस मामले में सुनवाई आसान हो जाए। मेहता ने कहा कि प्रतिवेदन के लिये यद्यपि साझा संकलन तैयार है लेकिन सुनवाई के दौरान कोई नयी सामग्री आती है तब इसे आगे के चरणों में दायर किया जाएगा। 

बता दे कि पीठ ने 14 नवंबर को याचिकाओं पर कोई अंतरिम आदेश पारित करने से इनकार करते हुए कहा था कि इससे मामलों में देरी हो सकती है और न्यायालय सभी पक्षों को सुनने के बाद एक ही बार में सभी मुद्दे सुलझाएगा। केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को रद्द कर दिया था और राज्य को दो केंद्र शासित क्षेत्रों में विभाजित करने की घोषणा की थी।