BREAKING NEWS

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दुशांबे में चीनी समकक्ष वांग से की मुलाकात◾आतंकी मॉड्यूल : ISI प्रशिक्षित आतंकवादी भारत में पुलों, रेलवे पटरियों को उड़ाने वाले थे - आधिकारिक सूत्र◾केशव प्रसाद मौर्य ने सपा पर साधा निशाना , कहा - रोजा-इफ्तार पार्टी करने वाले अब मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं◾RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल पर प्राथमिकी दर्ज करने पर विचार कर रहे हैं नरोत्तम मिश्रा◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे के दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट की सराहना की◾SC, ST, OBC , अल्पसंख्यक, महिलाओं के लिए योजनाओं को लेकर केंद्र ने GoM का किया गठन◾केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल शुक्रवार को दिल्ली में करेगा प्रदर्शन ◾कोविड-19 टीकाकरण को लेकर गोवावासियों को संबोधित करेंगे PM मोदी◾भारत ने अमेरिका में खालिस्तानी अलगाववादी समूहों की गतिविधियों पर चिंता व्यक्त की◾कोविड-19 की बूस्टर खुराक फिलहाल केंद्रीय विषय नहीं : केंद्र◾गुजरात : CM भूपेंद्र पटेल ने अपने पास रखे कई मंत्रालय, कनुभाई देसाई को वित्त विभाग की जिम्मेदारी सौंपी◾वित्त मंत्री सीतारमण बोली- कोरोना महामारी के समय जनधन-आधार-मोबाइल की तिगड़ी पासा पलटने वाली साबित हुई◾विराट कोहली ने किया बड़ा ऐलान, विश्व कप के बाद छोड़ेंगे टी-20 प्रारूप की कप्तानी◾एक समय था जब गुजरात को कहा जाता था कर्फ्यू राजधानी, BJP सरकार ने मजबूत की कानून-व्यवस्था : शाह◾कांग्रेस ने ICMR पर कोरोना से जुड़े तथ्य छिपाने का लगाया आरोप, आपराधिक जांच की मांग की ◾BJP ने राहुल को बताया 'इच्छाधारी हिंदू', कहा- जब व्यक्ति का ‘मूल पिंड’ विदेशी हो, तो रहती है ये विसंगती ◾PM मोदी के जन्मदिन पर दिव्यांगों को मिलेगी सौगात, गुजरात में शुरू होगी ‘मोबाइल वैन’ सेवा◾अमेरिकी दूत का दावा- असरफ गनी के अचानक बाहर निकलने से तालिबान का सत्ता बंटवारा समझौता ठप◾गुजरात की नई कैबिनेट में पटेल समुदाय का दबदबा, कुल 24 मंत्रियों ने ली शपथ◾UP में सरकार बनने पर हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देगी AAP पार्टी, मनीष सिसोदिया ने की घोषणा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

देश में खोले जा सकते हैं स्कूल, वयस्कों की तुलना में बच्चे संक्रमण से निपटने में अधिक सक्षम: ICMR

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण मार्च 2020 से ही देश के सभी स्कूल बंद पड़े है। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई लगभग ठप हो गई है, लोगों का सवाल होता है कि आखिर देश में कब स्कूल खुलेंगे। यह सवाल हर भारतीय अभिभावक के जहन में चीखे मारकर दौड़ता है। लेकिन लगता है कि अब इसका जवाब मिल गया है। 

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने मंगलवार को कहा कि भारत में स्कूलों को फिर से खोलने की शुरूआत प्राथमिक विद्यालयों से करना समझदारी भरा कदम होगा। उन्होंने कहा कि चूंकि बच्चों में कम संख्या में ‘ऐस रिसेप्टर’ होते हैं जिनमें वायरस चिपकते हैं, ऐसे में वे वयस्कों की तुलना में वायरस संक्रमण से कहीं बेहतर निपट सकते हैं।

‘ऐस रिसेप्टर’ ऐसे प्रोटीन होते हैं जो कोरोना वायरस के प्रवेश द्वार होते हैं। इनमें वायरस चिपक जाता है और कई सारी मानव कोशिकाओं को संक्रमित कर देता है। हालांकि, भार्गव ने जोर देते हुए कहा कि इस तरह के कदम पर विचार करने की जरूरत होगी, यह अवश्य ही सुनिश्चित करना होगा कि स्कूली शिक्षकों और अन्य सहायक कर्मचारियों का टीका लग जाए।

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आईसीएमआर के हालिया राष्ट्रीय सीरो सर्वे में पाया गया है कि छह वर्ष से नौ वर्ष की आयु के बच्चों में एंटीबॉडी 57.2 प्रतिशत है , जो बहुत हद तक वयस्कों के समान है। कई जिलों में कोविड-19 के मामले घट जाने को लेकर स्कूलों को खोलने के बारे में पूछे जाने पर भार्गव ने कहा कि वयस्कों की तुलना में बच्चे संक्रमण से कहीं बेहतर निपट सकते हैं और यह स्थापित हो चुका है कि उनमें कम संख्या में ‘ऐस रिसेप्टर’ होते हैं जिनमें वायरस चिपकते हैं।

कुछ देशों में, खास तौर पर स्कैंडेनेवियाई देशों (डेनमार्क, नार्वे और स्वीडन में), उन्होंने (अधिकारियों ने) पहली, दूसरी और तीसरी लहर के दौरान प्राथमिक विद्यालयों को बंद नहीं किया था...चाहे वहां कोविड की जो भी लहर रही हो, उनके प्राथमिक विद्यालय हमेशा खुले रहें। ’’

भार्गव ने कहा, ‘‘इसलिए, एक बार जब भारत स्कूलों को (फिर से) खोलने पर विचार करेगा तब इसकी शुरूआत प्राथमिक विद्यालयों से करना समझदारी भरा कदम होगा। साथ ही, हमें सुनिश्चित करना होगा कि सभी सहयोगी कर्मचारी, चाहे स्कूल बस चालक हों या शिक्षक हों, को टीका लग जाए। ’’