BREAKING NEWS

भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾CM नीतीश की चेतावनी पर पवन वर्मा बोले- मुझे चिट्ठी का जवाब नहीं मिला◾भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- देश हित में लिए प्रधानमंत्री के फैसलों से देश में नई ऊर्जा एवं उत्साह पैदा हुआ◾नेताजी ने हिंदू महासभा की विभाजनकारी राजनीति का विरोध किया था : ममता बनर्जी◾

स्वच्छ भारत अभियान का दूसरा चरण है देश को प्लास्टिक कचरा मुक्त बनाना : जावड़ेकर

पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक ही बार प्रयोग में लाए जाने वाले (सिंगल यूज) प्लास्टिक से देश को मुक्ति दिलाने के लिए शुरू किए गए अभियान के बार में स्पष्ट किया है कि इसे कानूनी तरीके से लागू करने के बजाय जनांदोलन बनाकर लोगों की आदत में बदलाव लाना मूल मकसद है। 


उन्होंने कहा कि सरकार का मकसद इस मुहिम के माध्यम से भारत को प्लास्टिक कचरा मुक्त बनाना है , इसलि इसे स्वच्छ भारत अभियान का दूसरा चरण मानकर लागू किया गया है। जावड़ेकर ने गुरुवार को को बताया कि सरकार ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के बजाय इसे स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर सफल जनांदोलन बनाने की रणनीति अपनायी है। 


INX मीडिया घोटाला : 17 अक्टूबर तक बढ़ाई गई चिदंबरम की न्यायिक हिरासत

उन्होंने कहा, ‘‘कानूनी प्रतिबंध समस्या का समाधान नहीं है , बल्कि प्लास्टिक कचरे का निस्तारण जरूरत के मुताबिक नहीं हो पाना, मूल समस्या है।’’ उन्होंने कहा कि भारत में औसतन 30 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा प्रतिदिन निकलता है। इसमें से सिर्फ 10 मीट्रिक टन कचरा ही शोधन के लिए एकत्र हो पाता है। शेष 20 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरे का प्रबंधन ही सबसे बड़ी चुनौती है। 


जावड़ेकर ने कहा कि इस चुनौती से निपटने के लि सरकार ने शहरी निकायों ने लेकर ग्राम पंचायतों तक, विभिन्न स्तरों पर जनता और निजी क्षेत्र की भागीदारी से विभिन्न स्तरों पर कारगर अभियान शुरु कि ग हैं। अब तक सिंगल यूज प्लास्टिक की परिभाषा और नियम नहीं बन पाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मंत्रालय द्वारा 50 माइक्रोन से अधिक मानक वाले प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक लगाने संबंधी पूर्व निर्धारित नियमों के तहत ही राज्य सरकारें एक बार उपयोग होने वाले प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोक रही हैं। 


उन्होंने कहा , ‘‘उद्योग जगत भी सिंगल यूज प्लास्टिक के वैकल्पिक उत्पाद मुहैया कराने में सक्रिय सहयोग कर रहा है। सही मायने में यह स्वच्छ भारत अभियान का दूसरा चरण है। इसकी तर्ज पर देश को प्लास्टिक कचरा मुक्त बनाने का लक्ष्य 2022 तक प्राप्त कर लिया जागा। इस अभियान के जल्द ही बेहतर परिणाम दिखने लगेंगे।’’