BREAKING NEWS

दिल्ली में कोरोना से 24 घंटे में 48 लोगों की मौत , 3227 नए मामले भी सामने आए ◾सच्चाई से परे और बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान : गृह मंत्रालय◾ भारत ने अवैध तरीके से लद्दाख को बनाया केंद्र शासित प्रदेश, हम नहीं देते मान्यता : चीन ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘रक्षा भारत स्टार्टअप चैलेंज’ की शुरुआत की, दिशा-निर्देश भी किये लॉन्च◾हाथरस केस : उप्र में ‘जंगलराज’ ने एक और युवती को मार डाला, सरकार ने कहा 'फ़ेक न्यूज़' - राहुल गांधी◾DC vs SRH आईपीएल-13 : दिल्ली कैपिटल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का किया फैसला◾6 साल में सेना ने खरीदा 960 करोड़ का खराब गोला-बारूद, तकरीबन 50 जवानों ने गंवाई जान : रिपोर्ट ◾LAC विवाद पर भारत का कड़ा सन्देश - अपनी मनमानी व्याख्या जबरन थोपने की कोशिश न करें चीन◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर बवाल, विजय चौक के पास दिल्ली महिला कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन◾बिहार विधानसभा चुनाव : महागठबंधन से अलग हुई RLSP, बसपा के साथ बनाया नया गठबंधन ◾पायल घोष ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से की मुलाकात, अनुराग कश्यप मामले में की न्याय की मांग◾विपक्ष के चौतरफा हमले के बीच यूपी सरकार ने हाथरस के पीड़ित परिवार को दी 10 लाख रु की मदद ◾चुनाव आयोग ने 12 राज्यों की 57 सीटों पर उपचुनाव की तारीखों का किया ऐलान, 10 नवंबर को नतीजे◾एनसीबी का बड़ा बयान- ड्रग्स लेने के दौरान सुशांत को रिया ने दिया बढ़ावा◾‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत PM मोदी ने उत्तराखंड में 6 बड़ी परियोजनाओं का किया उद्घाटन◾कृषि बिल पर राहुल ने की किसानों से बातचीत, कहा- नए कानून से अन्नदाता बन जाएंगे मजदूर◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर विपक्ष का योगी सरकार पर हमला, कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल◾देश में एक दिन में कोरोना के 70 हजार नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 61 लाख के पार◾ विश्व में कोरोना वायरस का कहर तेज, पॉजिटिव केस 3 करोड़ 32 लाख के पार ◾उत्तर प्रदेश : हाथरस में सामूहिक बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

स्वच्छ भारत अभियान का दूसरा चरण है देश को प्लास्टिक कचरा मुक्त बनाना : जावड़ेकर

पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक ही बार प्रयोग में लाए जाने वाले (सिंगल यूज) प्लास्टिक से देश को मुक्ति दिलाने के लिए शुरू किए गए अभियान के बार में स्पष्ट किया है कि इसे कानूनी तरीके से लागू करने के बजाय जनांदोलन बनाकर लोगों की आदत में बदलाव लाना मूल मकसद है। 


उन्होंने कहा कि सरकार का मकसद इस मुहिम के माध्यम से भारत को प्लास्टिक कचरा मुक्त बनाना है , इसलि इसे स्वच्छ भारत अभियान का दूसरा चरण मानकर लागू किया गया है। जावड़ेकर ने गुरुवार को को बताया कि सरकार ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के बजाय इसे स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर सफल जनांदोलन बनाने की रणनीति अपनायी है। 


INX मीडिया घोटाला : 17 अक्टूबर तक बढ़ाई गई चिदंबरम की न्यायिक हिरासत

उन्होंने कहा, ‘‘कानूनी प्रतिबंध समस्या का समाधान नहीं है , बल्कि प्लास्टिक कचरे का निस्तारण जरूरत के मुताबिक नहीं हो पाना, मूल समस्या है।’’ उन्होंने कहा कि भारत में औसतन 30 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा प्रतिदिन निकलता है। इसमें से सिर्फ 10 मीट्रिक टन कचरा ही शोधन के लिए एकत्र हो पाता है। शेष 20 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरे का प्रबंधन ही सबसे बड़ी चुनौती है। 


जावड़ेकर ने कहा कि इस चुनौती से निपटने के लि सरकार ने शहरी निकायों ने लेकर ग्राम पंचायतों तक, विभिन्न स्तरों पर जनता और निजी क्षेत्र की भागीदारी से विभिन्न स्तरों पर कारगर अभियान शुरु कि ग हैं। अब तक सिंगल यूज प्लास्टिक की परिभाषा और नियम नहीं बन पाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मंत्रालय द्वारा 50 माइक्रोन से अधिक मानक वाले प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक लगाने संबंधी पूर्व निर्धारित नियमों के तहत ही राज्य सरकारें एक बार उपयोग होने वाले प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोक रही हैं। 


उन्होंने कहा , ‘‘उद्योग जगत भी सिंगल यूज प्लास्टिक के वैकल्पिक उत्पाद मुहैया कराने में सक्रिय सहयोग कर रहा है। सही मायने में यह स्वच्छ भारत अभियान का दूसरा चरण है। इसकी तर्ज पर देश को प्लास्टिक कचरा मुक्त बनाने का लक्ष्य 2022 तक प्राप्त कर लिया जागा। इस अभियान के जल्द ही बेहतर परिणाम दिखने लगेंगे।’’