BREAKING NEWS

71वां गणतंत्र दिवस के मोके पर राष्ट्रपति कोविंद राजपथ पर फहराएंगे तिरंगा◾गणतंत्र दिवस पर सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का होगा भव्य प्रदर्शन◾अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार मिलने पर हरदीप सिंह पुरी ने दी बधाई ◾पूर्व मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज और जार्ज फर्नांडीज को पद्म विभूषण से किया गया सम्मानित, देखें पूरी लिस्ट !◾कोरोना विषाणु का खतरा : करीब 100 लोग निगरानी में रखे गए, PMO ने की तैयारियों की समीक्षा◾गणतंत्र दिवस : चार मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास कुछ घंटों के लिए रहेगा बंद ◾ISRO की उपलब्धियों पर सभी देशवासियों को गर्व है : राष्ट्रपति ◾भाजपा ने पहले भी मुश्किल लगने वाले चुनाव जीते हैं : शाह◾यमुना को इतना साफ कर देंगे कि लोग नदी में डुबकी लगा सकेंगे : केजरीवाल◾उमर की नयी तस्वीर सामने आई, ममता ने स्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण बताया◾ओम बिरला ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने पद्म पुरस्कार पाने वालों को दी बधाई◾भारत और ब्राजील आतंकवाद के खिलाफ आपसी सहयोग बढ़ाने का किया फैसला◾370 के खात्मे के बाद कश्मीर में शान से फहरेगा तिरंगा : अमित शाह◾देशवासियों को बांटने, संविधान को कमजोर करने की हो रही साजिश : सोनिया◾PM मोदी और नेतन्याहू ने फोन पर वैश्विक और क्षेत्रीय मामलों पर चर्चा की◾गांधी शांति यात्रा पहुंची आगरा ◾भारत-नेपाल सीमा पर पहुंचा कोरोना वायरस, बॉर्डर पर होगी स्क्रीनिंग◾ दिल्ली चुनाव : 250 नेता, हर दिन 500 जनसभाएं, इस तरह माहौल बनाने में जुटी है भाजपा◾आर्थिक विकास के लिए संविधान के मुताबिक चलना होगा - कोविंद◾

शत्रुघ्न ने सीबीडीटी से ‘आधार’ को लेकर किया सवाल

पटना : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने आधार के बिना ऑनलाईन आयकर रिटर्न दाखिल करने में आ रही परेशानियों को लेकर केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को आड़ हाथों लेते हुए आज कहा कि आधार को लेकर सुप्रीम कोर्ट के हालिया आदेश के बावजूद इसके बिना अब भी लाखों लोग अपना रिटर्न फ़इल या अपलोड नहीं कर पा रहे हैं।

श्री सिन्हा ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्िवटर पर बोर्ड के अध्यक्ष सुशील चंद्रा से इस मुद्दे पर सवाल करते हुए लिखा कि देश के लाखों लोग आधार के बिना अपना रिटर्न फ़इल या अपलोड नहीं कर सकने के कारण काफी परेशान है। बोर्ड अध्यक्ष से यह उम्मीद है कि आप इस विषय पर एक जन प्रतिनिधि (सांसद) को जवाब, स्पष्टीकरण देने के लिए समय निकालेंगे अन्यथा, इसे सांसद और संसद का अवमानना माना जा सकता है।

भाजपा नेता ने कहा कि आधार के कारण रिटर्न दाखिल नहीं हो पाना सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय और इस संबंध केन्द्र सरकार की 27 मार्च को जारी अधिसूचना का उल्लंघन है। यदि इस मामले में त्वरित कार्रवाई नहीं होती, तो यह माना जा सकता है कि आप फंड जुटाने के लक्ष्य को पूरा करने में बहुत व्यस्त हैं।

24X7  नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे