BREAKING NEWS

हैदराबाद गैंगरेप: जिस फ्लाईओवर के नीचे जिंदा जलाई गई थी डॉक्टर, उसी जगह मारे गए आरोपी◾हैदराबाद गैंगरेप: आरोपियों के एनकाउंटर पर पीड़िता के परिवार का बयान, कहा- 'न्याय मिला'◾हैदराबाद गैंगरेप केस के चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया◾झारखंड चुनाव : बिना 'कप्तान' के मैदान में डटे JDU के 'खिलाड़ी' मायूस!◾भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि पर उपराष्ट्रपति, पीएम मोदी और अमित शाह ने दी श्रद्धांजलि◾थानों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना के लिए 100 करोड़ रुपये आवंटित◾कर्नाटक उपचुनाव में 62.18 प्रतिशत मतदान, 12 सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला ◾प्याज को लेकर भाजपा सांसद ने कांग्रेस पर कसा तंज ◾मोदी को तानाशाह के रूप में बदनाम करने की साजिश : स्वामी◾आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री पहुंचे दिल्ली, मिलेंगे प्रधानमंत्री एवं केंद्रीय मंत्रियों से ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता दिल्ली हवाई अड्डे पहुंची, पुलिस ने अस्पताल तक बनाया ग्रीन कॉरीडोर ◾अनुच्छेद 370 : लाइव स्ट्रीमिंग संबंधी याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾हफ्ते भर बाद भी मंत्रियों को नहीं मिला विभाग, भाजपा ने की आलोचना ◾बैंक धोखाधड़ी : ईडी ने रतुल पुरी की जमानत अर्जी का किया विरोध◾राहुल गांधी ने प्याज पर सीतारमण के बयान को लेकर तंज कसा ◾TOP 20 NEWS 05 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PNB घोटाला : नीरव मोदी भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित ◾DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे, पैनिक बटन, GPS : केजरीवाल ◾मायावती ने केंद्र द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया विभाजनकारी और असंवैधानिक◾चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया: प्रकाश जावड़ेकर◾

देश

शत्रुघ्न ने सीबीडीटी से ‘आधार’ को लेकर किया सवाल

 60

पटना : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने आधार के बिना ऑनलाईन आयकर रिटर्न दाखिल करने में आ रही परेशानियों को लेकर केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को आड़ हाथों लेते हुए आज कहा कि आधार को लेकर सुप्रीम कोर्ट के हालिया आदेश के बावजूद इसके बिना अब भी लाखों लोग अपना रिटर्न फ़इल या अपलोड नहीं कर पा रहे हैं।

श्री सिन्हा ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्िवटर पर बोर्ड के अध्यक्ष सुशील चंद्रा से इस मुद्दे पर सवाल करते हुए लिखा कि देश के लाखों लोग आधार के बिना अपना रिटर्न फ़इल या अपलोड नहीं कर सकने के कारण काफी परेशान है। बोर्ड अध्यक्ष से यह उम्मीद है कि आप इस विषय पर एक जन प्रतिनिधि (सांसद) को जवाब, स्पष्टीकरण देने के लिए समय निकालेंगे अन्यथा, इसे सांसद और संसद का अवमानना माना जा सकता है।

भाजपा नेता ने कहा कि आधार के कारण रिटर्न दाखिल नहीं हो पाना सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय और इस संबंध केन्द्र सरकार की 27 मार्च को जारी अधिसूचना का उल्लंघन है। यदि इस मामले में त्वरित कार्रवाई नहीं होती, तो यह माना जा सकता है कि आप फंड जुटाने के लक्ष्य को पूरा करने में बहुत व्यस्त हैं।

24X7  नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे