BREAKING NEWS

जनता की सेवा नहीं करना चाहती... सिर्फ सत्ता का सुख भोगना चाहती है कांग्रेस : अनुराग ठाकुर◾हिमाचल प्रदेश : कुल्लू में खाई में गिरा ट्रैवलर, 7 लोगों की मौत, PM मोदी ने जताया दुख◾गहलोत गुट के विधायकों के तेवर से नाराज हुई सोनिया गांधी, सीएम के इन समर्थकों पर होगी कार्रवाई◾दिल्ली : कई दिनों से हो रही बारिश के चलते अब कुछ जगहों पर पड़ने लगा है कोहरा ◾देशभर में शारदीय नवरात्रों की धूम, वैष्णों देवी मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़◾'आप किसी को बेवकूफ नहीं बना रहे हैं ...', अमेरिका पर भड़के विदेश मंत्री जयशंकर◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 4,129 नए मामले दर्ज़, 20 लोगों की मौत ◾दिल्ली में मासूम बच्चें से दरिंदगी, दुष्कर्म के बाद प्राइवेट पार्ट में डाली रॉड ◾राजस्थान में सियासी हलचल तेज, गहलोत गुट के विधायकों ने पार्टी आलाकमान के सामने रखी तीन शर्त◾आज का राशिफल (26 सितंबर 2022)◾राजस्थानः 80 से ज्यादा विधायकों का इस्तीफा, गिर जाएगी गहलोत की सरकार? समझें पूरा गेमप्लान◾Election 2024: विपक्षी एकता की राह में कांग्रेस बनेगी रोड़ा? KCR और ममता बनर्जी का नहीं मिल रहा साथ◾Ind Vs Aus 3rd T20 Match: कोहली-हार्दिक ने किया कमाल, ऑस्ट्रेलिया को रौंदकर भारत ने 2-1 से जीती सीरीज◾अध्यक्ष बनने से पहले गहलोत ने गांधी परिवार को दिखायी ताक़त, दिल्ली से आया फोन, बोले- कुछ नहीं है बसकी बात ◾बांग्लादेश में हिंदू श्रद्धालुओं को मंदिर ले जा रही नौका पलटी, 24 की मौत ◾अंकिता हत्याकांडः सीएम धामी के आश्वासन के बाद NIT घाट पर हुआ अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार ◾HP News: सोमवार को हिमाचल प्रदेश का दौरा करेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ◾गैंगवार से दहल जाती राजधानी, समय रहते पुलिस ने योजना बनाने के आरोप में चार को किया गिरफ्तार ◾Narendra Modi: मोदी का ट्वीट- इजराइलियों को पीएम ने यहूदी नववर्ष की शुभकामनाएं दी ◾गोवा में 20 बंग्लादेशी घुसपैठी गिरफ्तार, सीएम सावंत ने गृहमंत्रालय को निर्वासन प्रक्रिया शुरू करने का किया अनुरोध ◾

दिल्ली में किसान हिंसा के लिए शिवसेना ने केंद्र सरकार को ठहराया जिम्मेदार

गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली की राजधानी में हुई हिंसा के लिए शिवसेना ने केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। शिवसेना ने कहा है कि कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन कों बदनाम करने के लिए बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने किसानों को हिंसा करने के लिए उकसाया।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा है, 'लाल किले में घुसकर जिस भीड़ ने हड़कंप मचाया, उस भीड़ का नेतृत्व कोई दीप सिद्धू नामक युवक कर रहा था। ऐसा सामने आया है कि यह सिद्धू प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री अमित शाह के खेमे का है। भाजपा के पंजाब के सांसद सनी देओल का इस सिद्धू से करीबी संबंध है। राजेश टिकैत आदि किसान नेताओं का कहना है कि ये महाशय पिछले दो महीनों से किसानों की भीड़ में घुसकर बगावत की बातें कर रहे थे।

सामना में कहा गया कि पिछले 60 दिनों से किसानों का आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा था। देश के किसानों के हित के विरोधवाले तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान दिल्ली की सीमा पर जमे हुए हैं। इसके बावजूद किसान आंदोलन में किसी भी प्रकार की फूट नहीं पड़ी और किसानों का धैर्य भी नहीं टूटा। इस कारण से केंद्र सरकार को हाथ मलते हुए बैठना पड़ा। ऐसा भी कहा गया कि किसानों का आंदोलन खालिस्तानी है। लेकिन फिर भी किसान शांत रहे। सरकार की इच्छा ही यह थी कि किसानों को भड़काकर हिंसाचार करवाकर इस आंदोलन को बदनाम किया जाए।

संपादकीय में आगे लिखा कि 26 जनवरी के मुहूर्त पर उन्होंने अपनी सुप्त इच्छा पूर्ण की होगी तो इससे देश की बदनामी हुई है। किसानों ने कानून अपने हाथ में ले लिया, ऐसा कहना आसान है। लेकिन कृषि कानून को रद्द करो, ऐसा आक्रोश 60 दिनों से चल रहा है। उस कानून को लेकर इतना लचर रवैया क्यों? किसान खुद की रोटी-सब्जी बनाकर दिल्ली की सीमा पर खा रहा है। पंजाब के किसानों का यही स्वाभिमानी तेवर सरकार को बेचैन कर रहा है। 

पंजाब के किसान खालिस्तानी आतंकवादी और देशद्रोही है,ऐसे आरोप लगाकर उन्हें पंजाब को फिर एक बार अशांत करना है। लेकिन पंजाब फिर से अशांत हुआ तो फिर यह देश के लिए अच्छा नहीं होगा। राजेश टिकैत द्वारा किसानों से हाथ में लाठी लेने का आह्वान करते ही वह देशद्रोही ठहरा दिए गए। लेकिन 'गोली मारो' और 'खत्म करो' जैसे भड़काऊ भाषण देनेवाले संत आज मोदी मंत्रिमंडल में है।