BREAKING NEWS

हाथरस गैंगरेप : प्रियंका और राहुल के दौरे के मद्देनजर जिले की सभी सीमाएं सील ◾बलरामपुर में गैंगरेप की घटना को लेकर कांग्रेस ने UP सरकार पर साधा निशाना, किया यह दावा ◾देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 86,821 मामलों की पुष्टि, मरीजों का आंकड़ा 63 लाख के पार ◾रवि किशन को मिली Y प्लस श्रेणी की सुरक्षा, मुख्यमंत्री योगी का किया धन्यवाद ◾कब रुकेगी हैवानियत, हाथरस-बलरामपुर के बाद MP और राजस्थान में नाबालिगों से गैंगरेप◾हाथरस गैंगरेप की घटना SIT ने शुरू की जांच, पीड़ित परिवार से आज प्रियंका गांधी कर सकती है मुलाकात ◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का हाहाकार, संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ 38 लाख के पार◾पीएम ने रामनाथ कोविंद को दी जन्मदिन की बधाई, राष्ट्रपति के लम्बे आयु के लिए की प्रार्थना◾हाथरस के बाद बलरामपुर में हुआ गैंगरेप, पुलिस ने कहा - नहीं तोड़े गए पैर और कमर, पीड़िता की हुई मौत ◾आज का राशिफल (01 अक्टूबर 2020)◾हाथरस दुष्कर्म मामले पर विजयवर्गीय बोले - ‘‘UP में कभी भी पलट सकती है कार’’ ◾KKR vs RR ( IPL 2020 ) : केकेआर की ‘युवा ब्रिगेड’ ने दिलाई रॉयल्स पर शाही जीत, राजस्थान को 37 रन से हराया◾पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा - दोनों देशों ने छठे दौर की वार्ता के नतीजों का सकारात्मक मूल्यांकन किया◾बंगाल BJP के वरिष्ठ नेता 1 अक्टूबर को करेंगे अमित शाह से मुलाकात◾सोमनाथ ट्रस्ट की बैठक में शामिल हुए PM मोदी◾बाबरी विध्वंस फैसले पर जमीयत का सवाल- जब मस्जिद तोड़ी गई तो फिर सब निर्दोष कैसे, क्या यह न्याय है?◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾बाबरी विध्वंस मामला : सीबीआई कानूनी विभाग से विमर्श के बाद करेगी फैसले को चुनौती देने का निर्णय ◾मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान परिसर से नहीं हटेगी शाही ईदगाह, अदालत में खारिज हुई याचिका◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

शिवसेना ने PM मोदी को दी सलाह, सुरक्षित एवं स्वच्छ यात्रा का सूत्र सीखे जापान से

शिवसेना ने सुरक्षित एवं स्वच्छ यात्रा का सूत्र जापान से सीखने की सलाह देते हुए ऐसे समय में बुलेट ट्रेन परियोजना की व्यवहार्यता पर आज सवाल उठाया जब ट्रेनों के पटरी से उतरने की मैराथन जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके जापानी समकक्ष शिंजो आबे ने अहमदाबाद और मुंबई के बीच भारत की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना का कल शिलान्यास किया था। यह ट्रेन तीन घंटे से भी कम समय में 500 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करेगी।

शिवसेना ने ऐसे समय में इस परियोजना की व्यवहार्यता पर आशंका जताई है जब देश में हाल में कई रेल दुर्घटनाएं हुई हैं। पार्टी ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा, किसी को इस बात पर शक नहीं है कि यह भारतीय रेल की ओर से लापरवाही का सबसे शर्मनाक समय है। आजकल, बमुश्किल ही कोई ऐसा दिन गुजरता है जब कोई ट्रेन पटरी से नहीं उतरती। ऐसा लगता है जैसे ट्रेनों के बीच पटरी से उतरने की प्रतिस्पर्धा चल रही है।

\"\"

केंद्र एवं महाराष्ट्र में भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने कहा, यहां तक कि रेल विभाग की सबसे प्रतिष्ठित ट्रेन राजधानी एक्सप्रेस भी पीछे नहीं रही। यह राष्ट्रीय राजधानी के निकट पटरी से उतर गई। देश के सबसे सुरक्षित रेल खंड में भारतीय रेलवे की सबसे प्रतिष्ठित रेल का पटरी से उतरना क्या गंभीर बात नहीं है? संपादकीय में कहा गया है कि जापान में वर्ष 1964 से 500 से 600 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बुलेट ट्रेन चल रही है। गति महत्वपूर्ण नहीं है लेकिन देखने वाली बात यह है कि इतनी तीव, गति के बावजूद कभी कोई रेल हादसा नहीं हुआ।

पार्टी ने कहा, यह जानना महत्वपूर्ण है कि जापान में बुलेट ट्रेन की सफाई सात मिनट के अंदर हो जाती है और ट्रेन की यात्रा में एक भी मिनट की देरी की जांच होती है। जापान की तुलना में यहां ट्रेनें रेंगती हैं और ट्रेनों के पटरी से उतरने की मैराथन के बावजूद कोई जवाबदेही तय नहीं है। शिवसेना ने कहा, हम रेल यात्रा में 100 प्रतिशत सुरक्षा सुनिश्चित करने की कला जापान से क्यों नहीं सीख सकते? क्या हम सुरक्षित एवं स्वच्छ यात्रा का उनका सूत्र नहीं सीख सकते? यदि भारत ने जापान से सुरक्षित रेल यात्रा की तकनीक सीखी होती तो देश को ज्यादा खुशी होती।

\"\"

इसमें कहा गया है कि यदि सरकार ने जापान ने रेल संचालन के गुर सीखे होते तो यात्री स्वयं को अधिक सुरक्षित महसूस करते। शिवसेना ने बुलेट ट्रेन परियोजना की आलोचना करते हुए कल कहा था कि यह परियोजना आम आदमी का नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है। शिवसेना ने यह भी जानना चाहा था कि क्या उच्च गति वाली अहमदाबाद-मुंबई ट्रेन परियोजना की वास्तव में देश को आवश्यकता है?

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय राजधानी में कल जम्मू तवी-नयी दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस का एक डिब्बा नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पटरी से उतर गया था। इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ था। इससे पहले सात सितंबर को जबलपुर जा रही शक्तिपुंज एक्सप्रेस के सात डिब्बे उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में पटरी से उतर गए थे। उसी दिन दिल्ली में मिंटो ब्रिज के पास रांची-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस का इंजन और पावर कार पटरी से उतर गए थे। इस घटना में एक व्यक्ति घायल हो गया था। इसी दिन महाराष्ट्र के खंडाला में एक मालगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए थे।