BREAKING NEWS

बंगाल के हावड़ा में महिला ने किया बर्बर हत्याकांड, अपने ही परिवार के 4 लोगों को उतारा मौत के घाट ◾गिरिराज सिंह ने तेजस्वी यादव पर साधा निशाना, दस लाख रोजगार और टीका-शिखा पर दी नसीहत ◾आजादी का अमृत महोत्सव : शुक्रवार को दिल्ली में होगा ‘बढ़े चलो’ कार्यक्रम का भव्य समापन ◾स्वतंत्रता दिवस विशेष : तिरंगे और सिद्धू मूसेवाला की तस्वीर वाली पतंगों की बाजार में मचाई धूम◾जम्मू कश्मीर में आतंकियों की नापाक हरकत, प्रवासी मजदूर की गोली मारकर हत्या ◾देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में नहीं आ रही है कमी, आज फिर 16 हजार से ज्यादा मामलों ने बढ़ाई चिंता◾तृणमूल कांग्रेस का भ्रष्टाचार पर बड़ा बयान, कहा- केंद्रीय एजेंसियां ​​निष्पक्ष नहीं, लेकिन.... ◾आज का राशिफल (12 अगस्त 2022)◾मुफ्त की सौगातें और कल्याणकारी योजनाएं भिन्न चीजें : SC◾राजीव गांधी हत्याकांड : दोषी नलिनी ने समय पूर्व रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया◾PM मोदी ने वेंकैया नायडू की तुलना विनोबा भावे से की, कहा-आपकी ऊर्जा प्रभावित करती है◾बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, नौकरी में वृद्धि के संकल्प को दोहराया◾J&K के राजौरी में सेना के शिविर पर हमला : 3 जवान शहीद, 2 आतंकवादी मारे गये◾भारत चालू वित्त वर्ष में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा - सरकारी सूत्र◾महाराष्ट्र में कोरोना ने फिर दी दस्तक , 1,877 नए मामले आये सामने , 5 की मौत◾भाजपा ने AAP पर साधा निशाना , कहा - फेल हो गया है केजरीवाल का दिल्ली मॉडल◾जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾

SC से आशीष की जमानत रद्द होने के बाद SKM ने दिया बयान, अजय मिश्रा को बर्खास्त नहीं किया तो.....

सुप्रीम कोर्ट द्वारा लखीमपुर खीरी हत्याकांड के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा उर्फ मोनू की जमानत रद्द करने के बाद एसकेएम (संयुक्त किसान मोर्चा) ने कहा है कि आशीष मिश्रा की जमानत रद्द कर सुप्रीम कोर्ट ने न्याय व्यवस्था में उम्मीद बहाल कर दी है। मिश्रा को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 10 फरवरी को जमानत दे दी थी। एसकेएम ने मांग करते हुए कहा कि, सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद (केंद्रीय गृह मंत्री) अजय मिश्रा टेनी, आशीष के पिता को तुरंत मंत्री पद से बर्खास्त किया जाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता है, तो मई के पहले सप्ताह में संयुक्त किसान मोर्चा एक राष्ट्रीय बैठक करेगा और देशव्यापी विरोध कार्यक्रम की घोषणा करेगा।
सुप्रीम कोर्ट के बार-बार दखल देने के बाद ही न्याय मिला है
किसानों के संघ ने कहा कि, लखीमपुर खीरी मामले में फंसे किसानों को न्याय दिया जाना चाहिए और इसके चश्मदीदों को सुरक्षा दी जानी चाहिए। किसानों के संघ ने निरस्त किए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में एक साल से अधिक समय तक आंदोलन किया था। किसानों ने कहा कि, तीन अक्टूबर को हुई इस जघन्य हत्याकांड में शुरू से ही अपराधियों को बचाने के प्रयास जारी थे। सुप्रीम कोर्ट के बार-बार दखल देने के बाद ही न्याय मिला है। इस आदेश के बाद टेनी के केंद्रीय मंत्रिमंडल में रहने का कोई औचित्य नहीं रह गया है।

अजय मिश्रा टेनी ने किसानों को दी थी खुलेआम धमकी
एसकेएम ने दावा किया कि, इस नरसंहार से पहले 26 सितंबर को मंत्री अजय मिश्रा टेनी ने किसानों को खुलेआम धमकी दी थी, लेकिन आज तक उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। एक जज की निगरानी में काम कर रही एसआईटी की लिखित सिफारिश के बाद भी उत्तर प्रदेश सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील दायर नहीं की। तब मृतक किसानों के परिवारों ने सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया।