BREAKING NEWS

मोदी सरकार 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' को तेजी से बढ़ा रही आगे , पर कांग्रेस गैरजिम्मेदार विपक्ष: भाजपा◾राहुल ने PM मोदी पर साधा निशाना, कहा- 'सच के लिए लड़ने वालों को धमकाया नहीं जा सकता◾कानपुर : मुखबिरी के आरोप में चौबेपुर थाने के पूर्व SO विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा गिरफ्तार◾कैबिनेट बैठक में गरीब कल्याण अन्न योजना और EPF सुविधा की अवधि बढ़ाने की दी गई मंजूरी◾पाकिस्तान का दावा, कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दायर करने से किया इनकार◾MSME और बैंकों की स्थिति को लेकर राहुल ने BJP पर साधा निशाना, कहा- पहले ही दी थी चेतावनी◾कानपुर एनकाउंटर : हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर इनाम राशि को बढ़ाकर किया गया 5 लाख रुपए◾राजीव गांधी फाउंडेशन समेत तीन ट्रस्ट की फंडिंग की जांच के लिए MHA ने बनाई कमेटी◾विकास दुबे के खिलाफ पुलिस का एक्शन सख्त, 25 हजार का इनामी बदमाश श्यामू बाजपेयी गिरफ्तार ◾चीनी सैनिकों की वापसी का सिलसिला जारी, लद्दाख में 3 प्वाइंट्स पर पीछे हटी चीन◾देश में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े सात लाख के करीब, 20 हजार 500 से अधिक लोगों की मौत ◾World Corona : दुनियाभर में लगभग साढ़े पांच लाख लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 17 लाख के पार ◾कानपुर एनकाउंटर : गैंगस्टर विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मुठभेड़ में मारा गया◾आर्थिक कुप्रबंधन लाखों लोगों को कर देगा तबाह, अब यह त्रासदी स्वीकार नहीं : राहुल गांधी◾योगी सरकार का बड़ा फैसला : डीआईजी एसटीएफ अनंत देव का हुआ ट्रांसफर◾ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो पाए गए कोरोना पॉजिटिव◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 224 लोगों की मौत, 5134 नये मामले ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, बीते 24 घंटे में 2008 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1,02,831 तक पहुंचा◾पश्चिम बंगाल: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोलकाता में फिर से लग सकता है लॉकडाउन ◾CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं से 12वीं क्लास के सिलेबस में 30 फीसदी की होगी कटौती, बोर्ड ने ट्वीट कर दी जानकारी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सोनिया गांधी ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए लोगों से सावधानी बरतने की अपील

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को कोरोना वायरस से निपटने के लिए लोगों से सावधानी बरतने की अपील की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं सरकार से आग्रह किया कि चिकित्सा जांच का दायरा बढ़ाया जाए तथा छोटे-मझोले कारोबारियों एवं किसानों के लिए राहत पैकेज की घोषणा की जाए।

सोनिया ने एक बयान में यह भी कहा कि मास्क, सेनिटाइजर, खाने-पीने की वस्तुओं की बाजार में सुचारू ढंग से आपूर्ति बनाई रखी जाए। 

कांग्रेस की शीर्ष नेता ने लोगों से अफरा-तफरी नहीं फैलाने और सावधानी बरतने की अपील की। 

उन्होंने कहा, '' कोरोना वायरस को लेकर बहुत चिंता है। लोगों के जीवन के लिए खतरा है और इससे जीविका पर भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। मेरा मानना है कि हम दृढ़ संकल्प और प्रतिबद्धता के साथ इस मुश्किल समय से बाहर आ सकते हैं।'' 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ''130 करोड़ लोगों के देश मे अब तक सिर्फ 15071 लोगों की जांच किये जाने की जानकारी सामने आई है। हमें निगरानी में रखे गए सभी लोगों की जांच करनी चाहिए और जांच का दायरा उन सभी लोगों तक ले जाना चाहिए जो कोरोनो पॉजिटिव पाए लोगों के सीधे संपर्क में आए हैं।'' 

उन्होंने यह भी कहा कि मास्क, सेनिटाइजर एवं दूसरे स्वास्थ्य सुरक्षा सुरक्षा उपकरणों, खाने-पीने की वस्तुओं की बाजार में निर्बाध आपूर्ति और उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। 

सोनिया के मुताबिक बेड, पृथक केंद्र, वेटिंलेटर और मेडिकल टीम के बारे में जानकारी की कमी दिख रही है। इसके लिए एक पोर्टल बनाने की जरूरत है जहां ये सारी जानकारी एक साथ मिले। साथ ही इसके लिए अलग से बजट तय करने की जरूरत है। 

उन्होंने कोरोना वायरस का छोटे एवं मझोले कारोबारियों और मजदूरों पर पड़ने वाले विपरीत प्रभाव का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार को इनके लिए राहत पैकेज की घोषणा करनी चाहिए। सोनिया ने कहा, ''सभी कारोबारों खासकर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम कारोबारों काफी मुश्किल में हैं। 

असाधारण समय में असाधारण कदमों की जरूरत होती है। क्षेत्रवार राहत पैकेज घोषणा की जाए जिसमें कर अदायगी के समय को आगे बढाने, ब्याज में राहत और देनदारियों में भी समय की राहत देना शामिल हो।'' 

उन्होंने कहा कि दिहाड़ी मजदूरों और मनरेगा कामगारों को भी सरकार को प्रत्यक्ष अंतरण के माध्यम से राहत दी जानी चाहिए। 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वेतनभोगी वर्ग के लिए सरकार को ईएमआई की समयसीमा को आगे बढ़ाने पर विचार करना चाहिए। 

उन्होंने कोरोना के कारण किसानों पर भी असर होने का दावा किया और कहा कि सरकार को कृषि क्षेत्र के लिए भी विशेष राहत पैकेज पर विचार करना चाहिए।