BREAKING NEWS

पाकिस्तान अगर भारत से अच्छे संबंध चाहता है तो वांछित भारतीय अपराधियों को सौंपे : जयशंकर ◾बाबरी मस्जिद के पास रहने वाले परिवार ने खोलीं अयोध्या विवाद की परतें ◾दिल्ली -NCR में प्रदूषण पर बैठक से सांसद गंभीर और शीर्ष अधिकारी गैरहाजिर रहे ◾दिल्ली की जिला अदालतों में वकीलों की हड़ताल खत्म ◾CJI गोगोई ने सेवानिवृत्त होने से पहले अयोध्या पर फैसले के साथ इतिहास के पन्नों में नाम दर्ज कराया ◾प्रधानमंत्री ने प्रदूषण की ‘आपात स्थिति’ पर मुख्यमंत्रियों के साथ कितनी बैठकें कीं?: कांग्रेस ◾दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सभी एजेंसियों को साथ मिलकर काम करना होगा : जावड़ेकर ◾प्रदूषण पर संसदीय समिति की बैठक में नहीं आने पर गंभीर की सफाई◾महाराष्ट्र : चन्द्रकांत पाटिल बोले- भाजपा के पास 119 विधायकों का समर्थन, जल्दी ही सरकार बनाएंगे◾TOP 20 NEWS 15 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾प्रियंका गांधी बोली- भाजपा सरकार भी डींगें हांकने के लिए डाटा छिपाने में लगी है◾प्रदूषण को लेकर SC ने 4 राज्यों के चीफ सेक्रेटरी को किया तलब, कहा- ऑड-ईवन स्थायी समाधान नहीं◾INX मीडिया : दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की चिदंबरम की जमानत याचिका ◾राहुल बोले- 'मोदीनॉमिक्स' ने इतना नुकसान कर दिया कि सरकार को अपनी रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है◾शरद पवार बोले-शिवसेना, NCP और कांग्रेस की सरकार 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी◾ऑड-ईवन योजना की अवधि बढ़ाए जाने पर सोमवार को होगा फैसला : केजरीवाल◾NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवकुमार की जमानत के खिलाफ ED की याचिका की खारिज◾5 साल की बात क्यों, हम चाहते हैं 25 साल रहे शिवसेना का CM : संजय राउत◾दिल्ली-NCR में आज भी प्रदूषण की स्थिति गंभीर, आसमान में छाई धुंध की चादर◾

देश

सोनिया गांधी ने कहा- सीट बंटवारे को जल्द अंतिम रूप दें महाराष्ट्र के नेता

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी की महाराष्ट्र इकाई के नेताओं से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के साथ सीट बंटवारे को जल्द अंतिम रूप देने और चुनाव प्रचार अभियान का आगाज करने को कहा है। राज्य में अक्टूबर महीने में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है। 

सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्र में कांग्रेस और राकांपा के बीच सीट बंटवारे का मुख्य पेंच 'स्वाभिमानी पक्ष' जैसे कुछ छोटी पार्टियों के लिए सीटें तय करने को लेकर फंसा हुआ है। राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद 10 अगस्त को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष चुनी गईं सोनिया से पिछले दिनों महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कुछ नेताओं ने मुलाकात की थी और इस दौरान राज्य में चुनाव तैयारियों को लेकर बात हुई थी। 

सोनिया से मुलाकात करने वाले नेताओं में शामिल पीसीसी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, ''सोनिया जी ने कहा है कि हम पूरी ताकत से चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं। उन्होंने सीटों के तालमेल को जल्द अंतिम रूप देने, चुनाव प्रचार अभियान आरंभ करने और उम्मीदवारों का शीघ्र चयन करने के लिए भी बोला है।'' 

उन्होंने कहा, ''नई पीसीसी बनने के बाद राकांपा के साथ कई दौर की बातचीत हो चुकी है, हालांकि अभी सीट बंटवारे को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है।'' कुछ हफ्ते पहले राकांपा प्रमुख शरद पवार ने कहा था कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए उनकी पार्टी और कांग्रेस के बीच 288 विधानसभा सीटों में से 240 सीटों पर सहमति बन गयी है और कुछ दिनों के भीतर सीट बंटवारा हो जाएगा, हालांकि यह अब तक नहीं हो पाया है। 

महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता ने कहा, '' कई दौर की बैठकें हो गयी हैं और ज्यादातर सीटों को लेकर हमारे बीच सहमति बन गयी है। आशा है कि जिन कुछ सीटों को लेकर बात अटकी हुई है उन पर भी फैसला हो जाएगा।'' लोकसभा चुनाव की तरह कांग्रेस-राकांपा गठबंधन के सामने भाजपा-शिवसेना के साथ ही प्रकाश अंबेडकर के नेतृत्व वाला 'वंचित बहुजन अघाड़ी'' (वीबीए) भी बड़ी मुश्किल खड़ी कर सकता है। 

इस बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस नेता ने कहा, ''लोकसभा चुनाव में लोगों को समझ आ गया कि प्रकाश अंबेडकर किसकी मदद कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव में उनका कोई असर नहीं होगा।'' वैसे, पीसीसी नेता ने यह भी कहा कि उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया पहले से चल रही थी और स्क्रीनिंग कमेटी बनने के बाद में इसमें और तेजी आने की उम्मीद है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के नेतृत्व में महाराष्ट्र के लिए स्क्रीनिंग कमेटी बनाई गई है। 

कांग्रेस और राकांपा ने महाराष्ट्र में लगातार 15 वर्षों तक सत्ता साझा करने के बाद अक्टूबर 2014 का विधानसभा चुनाव अलग अलग लड़ा था। कांग्रेस और राकांपा ने कुल 288 विधानससभा सीटों में से क्रमश: 287 और 278 सीटों पर चुनाव लड़ा था। कांग्रेस ने 42 सीटें जबकि राकांपा ने 41 सीटें जीती थीं। इस लोकसभा चुनाव में दोनों साथ लड़ीं, लेकिन राज्य की कुल 48 सीटों में से राकांपा चार और कांग्रेस सिर्फ एक सीट ही जीत सकी।