BREAKING NEWS

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ जामिया के छात्रों का उग्र प्रदर्शन, 3 बसों में लगाई आग◾गुवाहाटी में पुलिस गोलीबारी में घायल हुए 2 और लोगों की हुई मौत, अब तक 4 की गई जान◾नागपुर में बोले फडणवीस- सावरकर पर टिप्पणी के लिए माफी मांगें राहुल गांधी◾कांग्रेस ने नागरिकता कानून को लेकर बवाल खड़ा किया : PM मोदी◾महाराष्ट्र: प्रदर्शन के बाद PMC के जमाकर्ता हिरासत में, CM उद्घव ने मदद का दिलाया भरोसा◾नागरिकता कानून वापस लेने के लिए याचिका दायर करेगी BJP की सहयोगी असम गण परिषद◾वीर सावरकर पर बयान देकर मुश्किल में फंसे राहुल, पोते रंजीत ने की कार्रवाई की मांग◾सावरकर वाले बयान पर कांग्रेस पर हमलावर हुई मायावती, कहा- अब भी शिवसेना के साथ क्यों, यह आपका दोहरा चरित्र नहीं?◾नेपाल के सिंधुपलचौक में यात्रियों से भरी बस दुर्घटनाग्रस्त, 14 लोगों की दर्दनाक मौत◾भारतीय मुसलमान घुसपैठिए और शरणार्थी नहीं, डरना नहीं चाहिए : रिजवी◾निर्भया के दोषियों को फांसी देना चाहती हैं इंटरनेशनल शूटर वर्तिका, अमित शाह को खून से लिखा खत ◾पश्चिम बंगाल में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन, कई स्थानों पर सड़कें अवरुद्ध◾नागरिकता संशोधन बिल में बदलाव को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने दिए संकेत◾अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल हुईं बेहोश, LNJP अस्पताल में भर्ती◾CAB के खिलाफ प्रदर्शनों के बाद आज गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू में ढील◾झारखंड विधानसभा चुनाव: देवघर में प्रत्याशियों की आस्था दांव पर◾ममता ने नागरिकता कानून को लेकर बंगाल में तोड़फोड़ करने वालों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी ◾भाजपा ने आज तक जो भी वादे किए है वह पूरे भी किए गए हैं - राजनाथ◾असम में हालात काबू में, 85 लोगों को गिरफ्तार किया गया : असम DGP◾पीएम मोदी के सामने मंत्री देंगे प्रजेंटेशन, हो सकता है कैबिनेट विस्तार◾

देश

तृणमूल कांग्रेस को बड़ा झटका , BJP में शामिल हुए सोवन चटर्जी

 sowan chatterjee join bjp

कोलकाता के पूर्व महापौर एवं तृणमूल कांग्रेस के विधायक सोवन चटर्जी बुधवार को नयी दिल्ली में भाजपा में शामिल हो गए जिससे तृणमूल को एक बड़ा झटका लगा है। चटर्जी सक्रिय राजनीति से दूर हो गए थे। तृणमूल उन्हें फिर से सक्रिय राजनीति में लाने का प्रयास कर रही थी। 

तृणमूल के एक वरिष्ठ ने कहा, ‘‘हमने कभी नहीं सोचा था कि सोवान अंतत: भाजपा में शामिल हो जाएंगे। यह सच है कि भाजपा नेता उनके संपर्क में थे, लेकिन हमने कभी इस बात पर भरोसा नहीं किया कि वह ममता बनर्जी को धोखा दे सकते हैं, जिन्हें वह ‘मां’ कहा करते थे।’’ 

एक अन्य तृणमूल नेता ने कहा, ‘‘उनके (भाजपा में) शामिल होने से दक्षिण 24 परगना जिले में तृणमूल कांग्रेस के संगठन पर असर पड़ेगा और इससे अगले साल होने वाले कोलकाता नगर निगम चुनावों पर भी असर पड़ेगा। पार्टी को लोकसभा चुनाव में भी उनकी राजनीतिक एवं संगठनात्मक कौशल की कमी खली थी।’’ 

गौरतलब है कि मई में लोकसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद से तृणमूल कांग्रेस के छह विधायकों, कांग्रेस और माकपा के एक-एक विधायक ने भाजपा का दामन थाम लिया है। साल 2021 में होने वाले राज्य में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भगवा पार्टी अपनी शक्ति को बढ़ाने के लिए प्रतिद्वंद्वी पार्टी के नेताओं को लुभाने की कोशिश कर रही है। 

विदित हो कि भाजपा ने लोकसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल में 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटों पर जीत दर्ज की थी। तृणमूल के नेताओं के अनुसार बनर्जी ने चटर्जी के राजनीतिक करियर को आकार देने में अहम भूमिका निभाई थी। 

2016 विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत के बाद उन्हें तीन अहम विभाग सौंपे गए थे, लेकिन चटर्जी के निजी जीवन में परेशानियों के चलते पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पिछले साल नवंबर में उनसे तृणमूल कांग्रेस सरकार में मंत्री और कोलकाता के महापौर दोनों पदों से इस्तीफा देने के लिए कहा था। 

नयी दिल्ली में शीर्ष भाजपा नेताओं के साथ पार्टी मुख्यालाय में बैठे चटर्जी ने राज्य में हुए 2018 पंचायत चुनाव में ‘‘हिंसा और अलोकतांत्रित वातावरण’ की निंदा की। 

चटर्जी, भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय और महासचिव अरुण सिंह की उपस्थिति में पार्टी में शामिल हुए। चटर्जी का स्वागत करते हुए रॉय ने कहा कि वह उन नेताओं में से एक हैं जिन्होंने मुख्यमंत्री पद के लिए बनर्जी के उदय में बड़ा योगदान दिया है। 

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘वह अब भाजपा को मजबूत करेंगे..मुझे दोहराने दीजिए कि तृणमूल कांग्रेस को विपक्षी दल का दर्जा भी नहीं मिलेगा।’’ 

इस बीच, तृणमूल ने भी कहा कि चटर्जी को पार्टी से निष्कासित किया जाएगा। तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने अपनी पहचान गोपनीय रखने की शर्त पर कहा, ‘‘उन्हें तृणमूल कांग्रेस से निष्कासित किया जाएगा। पार्टी ने इस संबंध में अभी अंतिम घोषणा नहीं की है।’’ 

चटर्जी की मित्र एवं तृणमूल नेता बैसाखी बनर्जी भी भाजपा में शामिल हो गईं। 

पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि चटर्जी के शामिल होने से पार्टी मजबूत होगी और उन्होंने दावा किया विधायकों समेत बनर्जी की पार्टी के कई अन्य नेता भी भगवा दल में शामिल होंगे। 

घोष ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम चटर्जी का पार्टी में स्वागत करते हैं। उनके शामिल होने से भविष्य में पार्टी और मजबूत होगी।’’