BREAKING NEWS

वायुसेना प्रमुख ने अभिनंदन की शीघ्र रिहाई का श्रेय राष्ट्रीय नेतृत्व को दिया ◾न तो कोई भाषा थोपिए और न ही किसी भाषा का विरोध कीजिए : उपराष्ट्रपति का लोगों से अनुरोध◾अनुच्छेद 370 फैसला : केंद्र के कदम से श्रीनगर में आम आदमी दिल से खुश - केंद्रीय मंत्री◾TOP 20 NEWS 20 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾राहुल का प्रधानमंत्री पर तंज, कहा- ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम ‘आर्थिक बदहाली’ को नहीं छिपा सकता◾रेप के अलावा चिन्मयानंद ने कबूले सभी आरोप, कहा-किए पर हूं शर्मिंदा◾डराने की सियासत का जरिया है NRC, यूपी में कार्रवाई की गई तो सबसे पहले योगी को छोड़ना पड़ेगा प्रदेश : अखिलेश यादव◾नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव में NDA की बड़ी जीत का किया दावा, कहा- गठबंधन में दरार पैदा करने वालों का होगा बुरा हाल◾कॉरपोरेट कर में कटौती ‘ऐतिहासिक कदम’, मेक इन इंडिया में आयेगा उछाल, बढ़ेगा निवेश : PM मोदी◾PM मोदी और मंगोलियाई राष्ट्रपति ने उलनबटोर स्थित भगवान बुद्ध की मूर्ति का किया अनावरण◾कांग्रेस नेता ने कारपोरेट कर में कटौती का किया स्वागत, निवेश की स्थिति बेहतर होने पर जताया संदेह◾वित्त मंत्री की घोषणा से झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1900 अंक उछला◾पीड़िता की आत्मदाह की धमकी और जनता के दबाव में हुई चिन्मयानंद की गिरफ्तारी : प्रियंका गांधी ◾यौन शोषण के आरोप में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए चिन्मयानंद, 3 और गिरफ्तार◾सरकार ने घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर की दर घटाकर की 25.17 प्रतिशत : वित्तमंत्री◾कश्मीर मुद्दे को उठाकर पाकिस्तान नीचे गिरेगा, तो हम ऊंचा उठेंगे : सैयद अकबरुद्दीन ◾शाहजहांपुर यौन शोषण केस में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद गिरफ्तार◾अमेरिका : व्हाइट हाउस के नजदीक गोलीबारी में 1 की मौत, 5 घायल◾LIC का पैसा घाटे वाली कंपनियों में लगा रही है मोदी सरकार : प्रियंका गांधी ◾'Howdy Modi' से पहले ह्यूस्टन में भारी बारिश ने मचाई तबाही◾

देश

चांद पर विक्रम की सफल लैंडिंग के लिए तमिलनाडु में विशेष पूजा

भारत के चंद्र लैंडर विक्रम की चांद पर सफल लैंडिंग सुनिश्चित करने के लिए तमिलनाडु में तंजावुर जिले के चंद्रनार मंदिर में विशेष प्रार्थना की गई। विक्रम शुक्रवार देर रात चंद्रमा पर उतरेगा। 

एक अधिकारी ने बताया कि इसके लिए मंदिर में पूर्जा-अर्चना कर चंद्र देव का दिव्य आशीर्वाद प्राप्त किया गया। चंद्रनार/श्री कैलाशनाथन मंदिर के प्रबंधक वी. कनन ने कहा, 'हमने चंद्रन का दिव्य आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए शुक्रवार शाम को एक विशेष 'अभिषेकम' और 'अर्चना' की।' 

उन्होंने कहा कि 2008 में चंद्रयान-1 मिशन की सफलता के लिए भी एक विशेष पूजा आयोजित की गई थी। 

कनन ने कहा, 'हमने 15 जुलाई से पहले कोई विशेष प्रार्थना नहीं की थी, जब चंद्रयान-2 को लॉन्च करने की योजना बनाई गई थी। कुछ तकनीकी समस्या के कारण लॉन्च को टाल दिया गया था।' 

उन्होंने कहा, 'हमने सोचा कि चंद्र देव की पूजा नहीं करने के कारण ही यह तकनीकी गड़बड़ी हुई होगी। इसलिए 22 जुलाई को चंद्रयान-2 के लॉन्च होने से पहले विशेष प्रार्थना अभिषेकम और अन्नधानम का आयोजन किया गया।' 

इस मंदिर में पीठासीन देवता सोम (चंद्रमा) हैं, जबकि मुख्य देवता भगवान शिव हैं। 

चंद्रनार मंदिर कुंभकोणम के पास स्थित नवग्रह मंदिरों में से एक है। श्रद्धालु इन मंदिरों में प्रार्थना करते हैं, ताकि उन्हें ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव से छुटकारा मिल सके। 

कनन के अनुसार, लगभग 500 श्रद्धालु प्रतिदिन चंद्रनार मंदिर आते हैं। वहीं सोमवार को इनकी संख्या लगभग पांच हजार तक पहुंच जाती है। 

नवग्रह मंदिर में सूर्यनार (सूर्य), चंद्रनार (चंद्रमा), अंगारगण (मंगल), बुधन (बुध), गुरु (बृहस्पति), सुखरान (शुक्र), शनि, राहु और केतु प्रतिस्थापित हैं।