BREAKING NEWS

पेट्रोल के दाम में एक बार फिर हुआ इजाफा, डीजल के भाव स्थिर ◾दिल्ली में हवा फिर हुई जहरीली, लोधी रोड इलाके में 500 के पार पहुंचा AQI◾देश के प्रथम PM पंडित जवाहरलाल नेहरू की 130वीं जयंती, सोनिया सहित कांग्रेस के बड़े नेताओं ने दी श्रद्धांजलि◾सुप्रीम कोर्ट आज सबरीमाला-राफेल और राहुल गांधी के बयान पर सुनाएगा फैसला ◾PM मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से की भेंट ◾ भाजपा के शीर्ष नेताओं ने दिल्ली इकाई के नेताओं के साथ विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा की ◾पुतिन ने मोदी को मई में विजय दिवस समारोह के लिए किया आमंत्रित ◾नगा मुद्दा : मणिपुर के कांग्रेस विधायक सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री से मिलने पहुंचे दिल्ली◾महाराष्ट्र : कांग्रेस, राकांपा ने सीएमपी पर बनाई कमेटी, भाजपा भी नाउम्मीद नहीं ◾अमित शाह ने विपक्ष पर ‘‘कोरी राजनीति’’ करने का लगाया आरोप, कहा- किसी दल के पास बहुमत हो तो कर सकता है दावा ◾अयोध्या पर उच्चतम न्यायालय के फैसले को मुख्यमंत्री योगी ने बताया स्वर्णाक्षरों में लिखे जाने वाला ◾पेट में दर्द की शिकायत के बाद मुलायम पीजीआई में भर्ती ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना और कांग्रेस-NCP के बीच बातचीत जारी◾SC के पैनल ने दिल्ली-NCR में 15 नवंबर तक स्कूल बंद रखने का दिया आदेश◾प्रधानमंत्री मोदी को ब्रिक्स सम्मेलन से आर्थिक, सांस्कृतिक संबंध मजबूत होने की उम्मीद ◾TOP 20 NEWS 11 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾बातचीत सही दिशा में आगे बढ़ रही है : ठाकरे ने कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के बाद कहा ◾JNU ने वापस लिया शुल्क बढ़ोतरी का फैसला, आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए योजना की प्रस्तावित ◾सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, RTI के दायरे में आएगा CJI का दफ्तर◾संजय राउत को अस्पताल से मिली छुट्टी, कहा- महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री तो शिवसेना का ही होगा◾

देश

चांद पर विक्रम की सफल लैंडिंग के लिए तमिलनाडु में विशेष पूजा

भारत के चंद्र लैंडर विक्रम की चांद पर सफल लैंडिंग सुनिश्चित करने के लिए तमिलनाडु में तंजावुर जिले के चंद्रनार मंदिर में विशेष प्रार्थना की गई। विक्रम शुक्रवार देर रात चंद्रमा पर उतरेगा। 

एक अधिकारी ने बताया कि इसके लिए मंदिर में पूर्जा-अर्चना कर चंद्र देव का दिव्य आशीर्वाद प्राप्त किया गया। चंद्रनार/श्री कैलाशनाथन मंदिर के प्रबंधक वी. कनन ने कहा, 'हमने चंद्रन का दिव्य आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए शुक्रवार शाम को एक विशेष 'अभिषेकम' और 'अर्चना' की।' 

उन्होंने कहा कि 2008 में चंद्रयान-1 मिशन की सफलता के लिए भी एक विशेष पूजा आयोजित की गई थी। 

कनन ने कहा, 'हमने 15 जुलाई से पहले कोई विशेष प्रार्थना नहीं की थी, जब चंद्रयान-2 को लॉन्च करने की योजना बनाई गई थी। कुछ तकनीकी समस्या के कारण लॉन्च को टाल दिया गया था।' 

उन्होंने कहा, 'हमने सोचा कि चंद्र देव की पूजा नहीं करने के कारण ही यह तकनीकी गड़बड़ी हुई होगी। इसलिए 22 जुलाई को चंद्रयान-2 के लॉन्च होने से पहले विशेष प्रार्थना अभिषेकम और अन्नधानम का आयोजन किया गया।' 

इस मंदिर में पीठासीन देवता सोम (चंद्रमा) हैं, जबकि मुख्य देवता भगवान शिव हैं। 

चंद्रनार मंदिर कुंभकोणम के पास स्थित नवग्रह मंदिरों में से एक है। श्रद्धालु इन मंदिरों में प्रार्थना करते हैं, ताकि उन्हें ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव से छुटकारा मिल सके। 

कनन के अनुसार, लगभग 500 श्रद्धालु प्रतिदिन चंद्रनार मंदिर आते हैं। वहीं सोमवार को इनकी संख्या लगभग पांच हजार तक पहुंच जाती है। 

नवग्रह मंदिर में सूर्यनार (सूर्य), चंद्रनार (चंद्रमा), अंगारगण (मंगल), बुधन (बुध), गुरु (बृहस्पति), सुखरान (शुक्र), शनि, राहु और केतु प्रतिस्थापित हैं।