BREAKING NEWS

प्रधानमंत्री को पता था कि योगी कामचोरी वाले मुख्यमंत्री है इसलिए उन्हें पैदल चलने की सजा दी थी : अखिलेश यादव ◾PM मोदी ने 15 से 18 वर्ष आयु के 50 प्रतिशत से अधिक युवाओं को टीके की पहली खुराक लगाए जाने की सराहना की◾यूपी : जे पी नड्डा का बड़ा ऐलान, 'अपना दल' और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी भाजपा◾हरक सिंह की वापसी पर कांग्रेस में बढ़ी अंदरूनी कलह, बागी को ठहराया 'लोकतंत्र का हत्यारा', पूछे ये सवाल ◾समाजवादी पार्टी के नेताओं को भी पता है कि उनकी बेटियां एवं बहुएं भाजपा में सुरक्षित हैं : केन्द्रीय मंत्री ठाकुर ◾त्रिवेंद्र रावत ने चुनाव लड़ने से किया इंकार, नड्डा को लिखा पत्र, कहा- BJP की वापसी पर करना चाहता हूं फोकस ◾मुलायम परिवार में BJP की बड़ी सेंधमारी, अपर्णा यादव के बाद प्रमोद गुप्ता थामेंगे कमल, SP पर लगाए ये आरोप ◾PM मोदी, योगी और शाह समेत पार्टी के कई बड़े नेता BJP के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल, जानें पूरी लिस्ट ◾महाराष्ट्र: मुंबई में कोविड की स्थिति नियंत्रित, BMC ने हाईकोर्ट को कहा- घबराने की कोई बात नहीं◾राहुल गांधी ने साधा PM पर निशाना, बोले- LAC पर चीन द्वारा निर्मित पुल का उद्घाटन कहीं मोदी न कर दें ◾बाटला हाउस में मरे लोग आतंकी नहीं, तौकीर रजा ने किया कांग्रेस का समर्थन, राहुल-प्रियंका को बताया सेक्युलर ◾दिल्ली : त्रिलोकपुरी में संदिग्ध बैग से मिला लैपटॉप और चार्जर, कुछ देर के लिए मची अफरातफरी◾अखिलेश ने अपर्णा को BJP में शामिल होने पर दी बधाई, बोले- नेता जी ने की रोकने की बहुत कोशिश, लेकिन... ◾दिल्ली: संक्रमण दर में आई कमी, जैन बोले- पाबंदियां कम करने से पहले होगा कोरोना की स्थिति का आकलन ◾भारत में यूएई जैसे हमले की योजना बना रहा ISI, चीन से ड्रोन खरीद रहा पाकिस्तान◾मुलायम सिंह का आशीर्वाद लेकर BJP में शामिल हुई अपर्णा, बोलीं- परिवार से विमुख नहीं, मैं स्वतंत्र हूं... ◾अमित पालेकर होंगे आगामी गोवा विधानसभा चुनाव में AAP का CM फेस, अरविंद केजरीवाल ने किया ऐलान ◾भारत में 15 फरवरी तक चरम पर होगा ओमीक्रॉन, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने किया दावा- तीसरी लहर जल्द हो सकती है समाप्त◾उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस की CEC बैठक में 70 सीटों पर होगा फैसला, जल्द जारी होगी उम्मीदवारों की पहली लिस्ट ◾श्रीलंका के तमिल नेताओं ने PM मोदी को लिखा पत्र, 13वें संशोधन को लागू करने की मांग की, जानें पूरा मामला◾

Mi-17 चौपर : बेहद अत्याधुनिक होने के बावजूद रहा है खतरनाक रिकॉर्ड, कई बार हो चुका है भीषण क्रैश

भारतीय वायुसेना का Mi17 हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हो गया है। दुर्घटना ग्रस्त हेलिकॉप्टर में भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और उनकी पत्नी समेत कुल 14 लोग सवार थे। हादसे में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं वायुसेना ने दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दे दिए हैं।

Mi17 हेलिकॉप्टर सेना का सबसे सुरक्षित हेलिकॉप्टर माना जाता है, जसिएक चलतए इसे VVIP मूवमेंट के लिए इस्तेमाल किया जाता है। सबसे सुरक्षित हेलिकॉप्टर होने के बावजूद Mi17 कई बार हादसों का शिकार हुआ है। इन हादसे में अकसर सेना से जुड़े लोगों की ही मौत होती है। 

Mi17 के हादसों का इतिहास

2019 : 27 फरवरी साल 2019 में जम्मू और कश्मीर के बडगाम में Mi-17 दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे में सात लोगों की मौत हो गई थी। 

2018 : 3 अप्रैल 2018 में भारतीय वायु सेना का एक Mi-17 हेलीकॉप्टर केदारनाथ में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था लेकिन इसमें सवार सभी लोग बच गए थे।

2017 : 6 अक्टूबर 2017 में अरुणाचल प्रदेश में भारतीय वायु सेना का Mi-17v5 हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ था जिसमें सवार 7 लोगों की मौत हो गई थी। 

2013 : 25 जून 2013 में उत्तराखंड राज्य के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बचाव अभियान चलाते समय Mi-17v5  दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें सवार सभी 20 लोगों की मौत हो गई थी।

2011 : 19 अप्रैल 2011 में अरुणाचल प्रदेश के तवांग में उतरने से कुछ सेकंड पहले पवन हंस Mi-172 में आग लग गई, जिसके कारण सवार सभी 17 लोगों की मौत हो गई थी।

2010 : 19 नवंबर 2010 में अरुणाचल प्रदेश में तवांग के पास एक भारतीय वायु सेना का Mi-17 दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इसमें सवार सभी 12 लोगों की मौत हो गई थी। 

कितना सुरक्षित है Mi17 हेलिकॉप्टर?

Mi17 हेलिकॉप्टर Mi-8/17 परिवार का एक सैन्य परिवहन संस्करण है। भारतीय वायुसेना के पास अब तक उपलब्ध Mi सीरीज के हेलिकॉप्टर्स में ये सबसे उन्नत श्रेणी का हेलिकॉप्टर है। एडवांस होने के कारण इसका इस्तेमाल केवल VVIP मूवमेंट में होता है। इसमें डबल इंजन लगा होता है कि अगर एक इंजन खराब हो जाए तो दूसरे से लैंडिंग कराई जा सके। mi 17 Helicopter को रूसी हेलिकॉप्टरों की सहायक कंपनी कजान हेलिकॉप्टर बनाता है। ये ज्यादा ऊंचाई और एक्स्ट्रीम वेदर में काम कर सकता है। ये 36 हजार किलो तक का भार उठा सकता है। 

Mi सीरीज के कई हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल करती है वायुसेना

भारतीय वायुसेना इस सीरीज के कई हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल करती रही है, जिसमें Mi 26, Mi-24, Mi-17 और Mi 17 V5 शामिल हैं, हेलिकॉप्टर का मुख्य काम ट्रांसपोर्टेशन और सैनिकों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने या युद्ध के क्षेत्र से निकालने और बचाव कार्य आदि में किया जाता है। इसमें जरूरत पड़ने पर हल्के हथियार लगाकर हमलावर भूमिका भी दी जा सकती है। हालांकि भारतीय वायुसेना इसका आमतौर पर इस्तेमाल गैर युद्धक हेलिकॉप्टर के रूप में ही करती है।