BREAKING NEWS

सिर्फ शादी के लिए धर्मांतरण गलत, इलाहाबाद HC ने ‘जोधा-अकबर’ का उदाहरण देते हुए रद्द की जमानत याचिका◾PM मोदी ने पूरी ओलंपिक टीम को बतौर 'स्पेशल गेस्ट' स्वतंत्रता दिवस समारोह पर किया आमंत्रित ◾कोरोना से जंग के बीच टीकाकरण अभियान जारी, राज्यों के पास 2.75 करोड़ खुराक उपलब्ध : केंद्र◾शिवराज का ऐलान- MP में जहरीली शराब बेचने वालों को होगा आजीवन कारावास या मौत की सजा◾दिल्ली सरकार ने विधायकों के वेतन में बढ़ोतरी को दी मंजूरी, अब 54 की जगह 90 हजार होगी सैलरी◾दिवंगत बाला साहेब ठाकरे से काफी प्रभावित है राहुल, वे जल्द महाराष्ट्र दौरे पर आएंगे: संजय राउत◾गरीबों का सशक्तीकरण है सर्वोच्च प्राथमिकता, लाखों परिवारों को फ्री राशन दे रही सरकार : PM मोदी◾CBSE 10th रिजल्ट : त्रिवेंद्रम क्षेत्र ने 99.99 फीसदी के साथ मारी बाजी, TOP-10 में सबसे नीचे दिल्ली◾संसद में पेगासस और कई मुद्दों को लेकर विपक्ष का हंगमा, राज्यसभा की बैठक स्थगित◾पेगासस पर नीतीश के बाद अब मांझी के भी विरोधी सुर- देश को पता चले कि कौन करवा रहा है जासूसी ◾जम्मू-कश्मीर : कठुआ में रणजीत सागर बांध के पास क्रैश हुआ भारतीय सेना का हेलीकॉप्टर◾CBSE बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी, स्टूडेंट्स ऐसे कर सकेंगे चेक◾विपक्ष पर बरसे PM- संसद बाधित करना लोकतंत्र और संविधान का अपमान, माफी नहीं मांगना दर्शाता है अहंकार◾नीतीश की पेगासस मामले में जांच की मांग पर शिवसेना ने जताया आभार, राउत बोले-PM को अब सुन लेना चाहिए◾त्रिपुरा में उग्रवादियों का BSF पर हमला, सब इंस्पेक्टर सहित दो जवान शहीद◾भारत में कोरोना के मामलों में मिली बड़ी राहत, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 30,549 नए केस की हुई पुष्टि ◾राहुल की अगुवाई में संसद तक विपक्ष का साइकिल मार्च, ब्रेकफास्ट मीटिंग से दूर रहीं 'आप' और BSP◾अगस्त-सितंबर में हो सकती है सामान्य से अधिक बारिश, जानें कहां कैसा रहेगा मौसम◾ Tokyo Olympics : हॉकी में हार के बाद रेसलिंग में भी निराशा, भारतीय पहलवान सोनम पहले दौर में ही हारी◾World Corona Update : विश्व में संक्रमितों की संख्या 19.88 करोड़ के पार, 42.3 लाख लोगों ने गंवाई जान ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना वायरस मामलों में वृद्धि के मद्देनजर बोर्ड परीक्षाएं रद्द कराना चाहते हैं छात्र

देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है। रोजाना संक्रमितों के आंकड़ों में बढ़ोतरी हो रही है। इसी के मद्देनजर 10वीं और 12वीं कक्षा के एक लाख से अधिक छात्रों ने याचिकाओं पर हस्ताक्षर कर सरकार से मई में होने वाली बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने या उन्हें ऑनलाइन कराने का अनुरोध किया है। पिछले दो दिनों से टि्वटर पर हैशटैग ‘कैंसल बोर्ड एग्जाम्स 2021’ ट्रेंड कर रहा है। 

बहरहाल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (सीआईएससीई) ने कहा कि छात्रों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं और परीक्षाओं के दौरान कोविड-19 के सभी दिशा निर्देशों का पालन किया जाएगा। 

‘चेंज डॉट ओआरजी’ पर एक याचिका में कहा गया है, ‘‘भारत में हालात दिन-ब-दिन बदतर होते जा रहे हैं। जब देश में कुछ ही मामले थे तो उन्होंने बाकी की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी थी और अब जब मामले चरम पर हैं तो वे स्कूलों को खोलने की योजना बना रहे हैं। हम शिक्षा मंत्री से इस मामले पर विचार करने और इस साल होने वाली सभी परीक्षाएं रद्द करने का अनुरोध करते हैं क्योंकि छात्र पहले ही बहुत तनाव में हैं।’’ 

10वीं कक्षा की छात्रा दिव्या गर्ग ने टि्वटर पर सरकार से कम से कम एक महीने के लिए परीक्षाएं रद्द करने और फिर मामलों की संख्या के आधार पर स्थिति की समीक्षा करने का अनुरोध किया। एक अन्य यूजर (उपयोगकर्ता) ने ट्वीट किया, ‘‘छात्र इस महामारी में अब तक काफी दिक्कतों का सामना कर चुके हैं। कक्षाएं ऑनलाइन हुईं इसलिए परीक्षाएं भी ऑनलाइन होनी चाहिए या छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया जाना चाहिए।’’ 

आम तौर पर बोर्ड की प्रैक्टिकल परीक्षाएं जनवरी में और लिखित परीक्षाएं फरवरी में शुरू होती है तथा मार्च में संपन्न होती हैं। महामारी के कारण परीक्षाओं में देरी हो गई है और अब मई-जून में ये परीक्षाएं होनी हैं। सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं और सभी कोविड-19 नियमों का पालन किया गया। सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 40-50 फीसदी तक बढ़ा दी गई है।’’ 

बोर्ड ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि अगर कोई छात्र खुद या परिवार के किसी सदस्य के संक्रमित पाए जाने के कारण प्रैक्टिकल परीक्षा में नहीं बैठता है तो स्कूल उचित समय पर उनके लिए फिर से परीक्षा आयोजित करेगा। अधिकारी ने हालांकि इस पर टिप्पणी नहीं की कि क्या लिखित परीक्षा में भी यह छूट दी जाएगी। वहीं सीआईएससीई के मुख्य कार्यकारी और सचिव गैरी अराथून ने कहा कि परीक्षाएं निर्धारित समय पर ही होंगी।