BREAKING NEWS

अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री से मुलाकात की ◾ओवैसी बोले- डराइए मत, शाह बोले- अगर डर जेहन में है तो क्या करें ◾मोदी ने असम के मुख्यमंत्री से फोन पर बात की, बाढ़ का हाल पूछा ◾Top 20 News -15 July : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾विश्वास मत के दौरान अनुपस्थित रह सकते है कर्नाटक के बागी विधायक ◾ बिहार में बाढ़ का कहर जारी, 55 प्रखंड के 18 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित ◾उदयपुर में बढ़ा तनाव : उग्र भीड़ ने दो रोडवेज बसें फूंकी, पुलिसकर्मियों पर किया पथराव◾लोकसभा में NIA संशोधन विधेयक 2019 को मिली मंजूरी◾सिद्धू के इस्तीफे पर बोले कैप्टन - यदि वह अपना काम नहीं करना चाहते, तो मैं कुछ नहीं कर सकता◾NIA कानून का इस्तेमाल शुद्ध रूप से आतंकवाद को खत्म करने के लिए ही करेंगे : अमित शाह ◾हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल नियुक्त हुए कलराज मिश्रा, आचार्य देवव्रत को भेजा गया गुजरात ◾ओवैसी को शाह की नसीहत, बोले - सुनने की भी आदत डालिए साहब, इस तरह से नहीं चलेगा◾बीजेपी ने CM कुमारस्वामी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग की ◾सूरत रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की आसाराम की जमानत याचिका◾इलाहाबाद हाई कोर्ट से अगवा हुए युवक-युवती फतेहपुर से बरामद, अपहरणकर्ता गिरफ्तार ◾इलाहाबाद HC का आदेश, BJP विधायक की बेटी साक्षी और अजितेश को मिलेगी सुरक्षा◾बागी कर्नाटक विधायकों ने फिर लिखा पुलिस को पत्र, कहा- कांग्रेसी नेताओं से खतरा ◾हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत ढही , 6 जवान समेत सात लोगों की मौत◾चंद्रयान-2 का काउंटडाउन रोका गया , जल्द ही नई तारीख का होगा ऐलान !◾World Cup 2019 ENG vs NZ : स्टोक्स और ‘बाउंड्री’ के दम पर इंग्लैंड बना विश्व चैंपियन ◾

देश

सूट-बूट की सरकार का नहीं है यह बजट : सारंगी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अपराजित सारंगी ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पिछले साप्ताह संसद में पेश बजट में कृषि क्षेत्र के लिए बढ़ये गये प्रावधान की तारीफ करते हुये विपक्ष के ‘सूट-बूट की सरकार का बजट’ के आरोपों को खारिज कर दिया। 

ओडिशा के भुवनेश्वर से भाजपा सदस्य श्रीमती सारंगी ने कहा कि यह एक संतुलित बजट है। इसमें मंशा और तथ्य तथा दूरदृष्टि और प्रावधान का अनोखा संतुलन है। इसमें कृषि के लिए अब तक का सर्वाधिक प्रावधान किया गया है। फिर विपक्ष के सदस्य कैसे इसे ‘सूट-बूट की सरकार का बजट’ कह सकते हैं। 

उन्होंने कहा कि जब वह अपने क्षेत्र में लोगों से मिलती हैं तो वे कहते हैं कि मोदी सरकार ने उन्हें शौचालय, रसोई गैस, सिर पर छत और बिजली दी है तथा वर्ष 2024 तक नल का जल दे रही है। इसके लिए वे प्रधानमंत्री को धन्यवाद कहना चाहते हैं और दुआएँ देते हैं। 

भाजपा के ही जगदंबिका पाल ने कहा कि जो लोग बजट को उद्योगपतियों के हित का बजट बता रहे हैं, उन्हें जान लेना चाहिए कि मोदी सरकार ने पहली बार कृषि क्षेत्र के लिए 2018-19 में सर्वाधिक 57 हजार 600 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था और इस बार तो 140 प्रतिशत वृद्धि के साथ एक लाख 30 हजार 485 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। 

उन्होंने कहा कि गोरखपुर में जब श्री मोदी की पहल पर पहली बार तीन करोड़ किसानों को किसान सम्मान निधि के दो दो हजार रुपये गये तो उनमें मोदी सरकार के प्रति विश्वास मजबूत हुआ। उसी से मजबूर होकर चुनावों में 72 हजार रुपये की योजना आयी। लेकिन, जनता ने मोदी सरकार पर विश्वास जताया। इसका परिणाम हुआ कि सरकार ने पहली कैबिनेट बैठक में फैसला किया कि किसान सम्मान निधि सब किसानों को मिलेगी। 

श्री पाल ने कहा कि मोदी सरकार ने डूबे कर्त्र (एनपीए) की राशि में एक लाख करोड़ रुपये की कमी लाने में कामयाबी हासिल की और चार लाख करोड़ रुपये की वसूली की। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में 13.8 प्रतिशत ऋण वितरण बढ़ और बैंकों की ऋण देने की क्षमता को मजबूत करने के लिए 70 हजार करोड़ रुपये दिये हैं। 

रेलवे में 50 लाख करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की गयी है। आज देश में नीतिगत पंगुता की नहीं बल्कि ईत्र ऑफ लिविंग की बात हो रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने सबको बिजली दी है और अब सबको पानी का कनेक्शन देगी।

जनता दल यूनाइटेड के वैद्यनाथ प्रसाद महतो ने ‘हर घर को जल’ को बिहार की नीतीश सरकार की योजना बताते हुये उसे अपनाने के लिए वित्त मंत्री को धन्यवाद दिया। उन्होंने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की माँग की। 

जम्मू से भाजपा सदस्य जुगल किशोर शर्मा ने कहा कि हर वर्ग के लिए इस बजट में कुछ न कुछ है। कर न बढ़कर सरकार ने मध्यम वर्ग को राहत दी है। 

नगालैंड से एनडीपीपी सदस्य टी। येपथोमी ने कहा कि साल में एक करोड़ रुपये से ज्यादा का कैश निकालने पर दो प्रतिशत कर के प्रावधान से नकली नोट और लूट-पाट की घटनाओं पर रोक लगेगी तथा कर संग्रह बढ़गा। भाजपा के ही रमेश बिधुड़ ने बजट को चहुँमुखी और सबका विकास करने वाला बताया। 

चर्चा में भाजपा के हरीश द्विवेदी, रक्षा निखिल खडसे, शिव सेना के श्रीरंग अप्पा तथा आम आदमी पार्टी के भगवंत मान ने भी हिस्सा लिया। चर्चा अधूरी रही।