BREAKING NEWS

AIIMS अस्पताल में लगी भीषण आग, मोके पर दमकल की कई गाड़ियां भेजी◾पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद◾प्रियंका गांधी बोलीं- देश में 'भयंकर मंदी' लेकिन सरकार के लोग खामोश◾ मायावती का ट्वीट- देश में आर्थिक मंदी का खतरा, इसे गंभीरता से लें केंद्र◾AAP के पूर्व विधायक कपिल मिश्रा भाजपा में शामिल◾चिदंबरम बोले- मीर को नजरबंद करना गैरकानूनी, नागरिकों की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें अदालतें◾राजनाथ के आवास पर ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक शुरू, शाह समेत कई मंत्री मौजूद◾भूटान पहुंचे मोदी का PM लोटे ने एयरपोर्ट पर किया स्वागत, दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर◾शरद पवार बोले- पता नहीं राणे का कांग्रेस में शामिल होने का फैसला गलत था या बड़ी भूल◾उत्तर कोरिया ने किया नए हथियार का परीक्षण, किम ने जताया संतोष◾12 दिन बाद आज से घाटी में फोन और जम्मू समेत कई इलाकों में 2G इंटरनेट सेवा बहाल◾राम माधव बोले- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को मिलेगा देश के कानूनों के अनुसार लाभ◾वित्त मंत्रालय के अधिकारियों संग PMO की बैठक आज, इन मुद्दों पर होगी चर्चा◾कोविंद, शाह और योगी जेटली को देखने AIIMS पहुंचे, जेटली की हालत नाजुक : सूत्र ◾आर्टिकल 370 : UNSC में Pak को बड़ा झटका, कश्मीर मामले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में पाकिस्तान को सिर्फ चीन का मिला समर्थन◾जम्मू में हमारे ''नेताओं की गिरफ्तारी'' निंदनीय, आखिर यह पागलपन कब खत्म होगा : राहुल ◾परमाणु हथियार के पहले प्रयोग न करने की नीति पर बोले राजनाथ: परिस्थितियों पर निर्भर करेगा फैसला◾कश्मीर में किसी की जान नहीं गई, कुछ दिनों में हालात होंगे सामान्य◾कश्मीर मुद्दे पर UNSC में बोले अकबरुद्दीन- जेहाद के नाम पर हिंसा फैला रहा है PAK◾भूटान की यात्रा समय की कसौटी पर खरी उतरने वाली मित्रता को और मजबूत करेगी : PM मोदी◾

देश

अनुच्छेद 370 हटाने के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आज करेगा सुनवाई

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ और कश्मीर में पत्रकारों पर प्रतिबंध लगाने पर केंद्र सरकार के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट आज सुनवाई करेगा। दरअसल, एक वकील की ओर से दायर याचिका में अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को लेकर जारी की गई अधिसूचना को असंवैधानिक बताया गया है।

पहली याचिका में एमएल शर्मा ने कहा कि सरकार ने अनुच्छेद  370 हटाकर मनमानी की है, उसने संसदीय रास्ता नहीं अपनाया, राष्ट्रपति का आदेश असंवैधानिक है। वहीँ, दूसरी याचिका में कश्मीर टाइम्स की एक्जीक्यूटिव एडिटर अनुराधा भसीन ने कहा कि अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद पत्रकारों पर लगाए गए नियंत्रण खत्म किए जाएं। 

इन याचिका पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, एस अब्दुल नज़ीर और जस्टिस एस ए बोबड़े की बेंच पर सुनवाई करेंगे।  इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा था कि जम्मू-कश्मीर का मसला संवेदनशील है, इस पर केंद्र सरकार को थोड़ा समय देना होगा।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए गए इतने दिन हो गए हैं लेकिन अभी भी वहां पर धारा 144 लागू है। जिस कारण से स्कूल-कॉलेज, इंटरनेट, मोबाइल कॉलिंग आदि सेवाएं बंद है। साथ ही टीवी-केबिल पर भी रोक लगी हुई है। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, सज्जाद लोन समेत मर अब्दुल्ला को नज़रबंद किया गया है। बता दें कि मोदी सरकार ने जब अनुच्छेद 370 पर फैसला लिया। तभी से इस फैसले पर कांग्रेस समेत विपक्ष की कुछ पार्टियों ने सवाल खड़े किये हैं।

पहलू खान मामले में सभी आरोपी बरी, प्रियंका गांधी ने बताया चौंकाने वाला फैसला