मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के कथित सर्वे का एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल होने से सियासी तूफान खड़ा हो गया है। इस पत्र को लेकर कोई कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कराए गए सर्वे को लेकर संघ का कथित पत्र सोशल मीडिया पर शुक्रवार रात से वायरल हो रहा है।

बीजेपी सांसद का विवादित बयान, कहा- अयोध्या-काशी छोड़ो, पहले जामा मस्जिद तोड़ो

इस पत्र में कहा गया है कि राज्य में आगामी चुनाव में भाजपा की सत्ता में वापसी कठिन है। इस बार कांग्रेस सत्ता की तरफ बढ़ रही है।

संघ के इस पत्र में क्षेत्रवार स्थिति का ब्यौरा भी दिया गया है। इसमें कहा गया है कि राज्य के कई हिस्सों में भाजपा की स्थिति अच्छी नहीं है, टिकट वितरण को लेकर भी कई हिस्सों में असंतोष है। संघ के इस कथित पत्र को लेकर भाजपा और कांग्रेस कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

bjp

यह कथित पत्र संघ के लेटर पैड पर है, जो भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह को लिखा गया है। इसमें संघ के सर्वे एवं जनमत दल प्रमुख प्रमोद नामदेव के हस्ताक्षर भी हैं। इस पत्र पर अभी तक संघ की ओर से भी कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।