BREAKING NEWS

दिल्ली एयरपोर्ट से 28 करोड़ की 7 घड़ियां जब्त, मात्र एक की कीमत 27 करोड़, मुम्बई एयरपोर्ट से 80 करोड़ का ड्रग्स पकड़ा! ◾दक्षिण भारत में अपना प्रचार करने के दौरान बोले थरूर - कांग्रेस को युवाओं की पार्टी बनाना मकसद ◾66 बच्चों की मौत के बाद सिरफ के खिलाफ चलाया गया वापस लेने का अभियान◾कौन हिंदू बिना मूंछ दाढ़ी रखता हैं, रामायण के इस्लामीकरण पर 'आदिपुरूष' डायरेक्टर को लीगल नोटिस ◾एनी एरनॉक्स ने जीता नोबेल पुरस्कार, बाधाओं को उजागर करने वाली लेखनी के लिए दिया गया पुरस्कार◾कोर्ट से जमानत लेकर फरार हुआ यूटयूबर बॉबी कटारिया, हाथ पर हाथ धरी रह गई उत्तराखंड पुलिस की तैयारी◾बाजवा के बाद पाक सेना का जनरल कौन ? सेना को लेकर इमरान पर बरसे ख्वाजा आसिफ ◾उत्तराखंड हिमस्खलन त्रासदी : खराब मौसम के चलते रेस्क्यू ऑपरेशन में देरी, 9 लाश बरामद, बाकी की तलाश जारी ◾सचिन पायलट की खामोशी ने बढ़ाया सियासी सस्पेंस, किसके 'हाथ' है राजस्थान?◾TRS में टूट की अटकलें ? राष्ट्रीय पार्टी की घोषणा कार्यक्रम में नहीं पहुंची बेटी के कविता, सियासी हलचल तेज ◾Mexico News : मेक्सिको के सिटी हॉल में अंधाधुंध फायरिंग, मेयर समेत 18 की मौत◾शिवसेना सिंबल पर चुनाव आयोग का फैसला जल्द, शिंदे गुट की टिकी निगाह ◾मोहन भागवत के बयान पर भड़के लालू , कहा - सज्जन बिन मांगा ज्ञान बांटने चले आते है ◾बिहार उपचुनाव : दोनों सीटों पर महिलांए तय करेंगी भाजपा का भविष्य, जेडीयू ने अनंत सिंह की पत्नी पर खेला दांव ◾Mulayam Singh Health Update : हालत में बही भी कोई सुधार नहीं, CRRPT सपोर्ट पर रखा ◾नागपुर में संघ के हेडक्वार्टर को घेरने की कोशिश, ईलाके में धारा144 लागू, ◾थाईलैंड : चाइल्ड सेंटर में सामूहिक गोलीबारी, 32 लोगों की मौत, मृतकों में 22 बच्चे शामिल◾छत्तीसगढ़ : बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने की तीन साधुओं की बेरहमी से पिटाई◾महाराष्ट्र : सीएम शिंदे की रैली के आगे फीकी पड़ी उद्धव ठाकरे की दशहरा रैली ◾उत्तर प्रदेश : मैनपुरी में B.SC छात्रा की रेप के बाद हुई हत्या, बहन ने कहा-गला घोंटाकर मारा गया ◾

राज्यसभा में उठा मंडी हाउस पर प्रदर्शन कर रहे दिव्यांगों को हटाए जाने का मुद्दा

राज्यसभा में गुरूवार को बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्र ने दिल्ली के मंडी हाउस पर पिछले 16 दिनों से प्रदर्शन कर रहे दिव्यांगों को ‘जबरन’ हटाए जाने का मुद्दा उठाया और आरोप लगाया कि उनके साथ बर्बर व्यवहार किया गया। मिश्र ने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाया और कहा कि उन लोगों को रेलवे में नौकरियों के लिए चयन हो गया था और उन्हें नियुक्तियां नहीं मिल रही हैं।

वे अपने हक के लिए शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे। लेकिन अर्धसैनिक बल द्वारा उन्हें हटा दिया गया और उनके साथ अमानवीय व्यवहार किया गया। उन्होंने रेल मंत्री से इस मुद्दे पर गौर करने और दिव्यांग लोगों को न्याय दिलाने की मांग की। इस पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में रेल मंत्री से मुलाकात की थी और बाद में उनके विभाग के अधिकारियों ने रेल अधिकारियों से भेंट की। उन्होंने कहा कि वह फिर से रेल मंत्री से इस संबंध में गौर करने का आग्रह करेंगे। 

शून्यकाल में ही भाजपा के सत्यनारायण जटिया ने विभिन्न प्रकार के हादसों से बचाव के लिए सावधानी बरतने पर जोर दिया और कहा कि ऐसे मामलों में प्रशासन के साथ ही सामाजिक संगठनों को भी मदद ली जानी चाहिए।शून्यकाल में ही मनोनीत नरेंद्र जाधव ने विभिन्न राज्यों में खाद्य पदार्थों में मानकों का पालन नहीं होने का जिक्र किया और कहा कि यह लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ है।

 उन्होंने जांच के लिए पर्याप्त प्रयोगशालाएं नहीं होने की ओर भी सरकार का ध्यान आकृष्ट किया। उन्होंने खाद्य पदार्थों के मानकों का पालन किए जाने तथा जरूरी तंत्र विकसित किए जाने की मांग की। पीएमके सदस्य अंबुमणि रामदास ने कावेरी और गोदावरी नदियों को जल्दी जोड़े जाने की मांग की और विभिन्न नदियों के राष्ट्रीयकरण का सुझाव दिया। 

शून्यकाल में ही अन्नाद्रमुक सदस्य ए विजय कुमार और भाजपा के टीजी वेंकटेश ने भी लोक महत्व के अपने अपने मुद्दे उठाए। शून्यकाल में ही बीजद के सस्मित पात्रा, सरोजिनी हेम्ब्रम, प्रसन्न आचार्य और अमर पटनायक, तृणमूल कांग्रेस के मो. नदीमुल हक और कांग्रेस के राजमणि पटेल आदि ने विशेष उल्लेख के जरिए लोक महत्व के अपने अपने मुद्दे उठाए।