BREAKING NEWS

असम के लोगों से PM की अपील, कांग्रेस बोली- मोदी जी, वहां इंटरनेट सेवा बंद है◾केंद्र सरकार महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संविधान की आत्मा छलनी करने वाला बिल लाई : प्रियंका ◾पाकिस्तान की ओर से हो रहे घुसपैठ की कोशिशों को नजरअंदाज कर रही है सरकार: शिवसेना ◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले में SC ने 3 सदस्यीय जांच आयोग का किया गठन◾आईयूएमएल ने नागरिकता संशोधन विधेयक को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती ◾असम के लोगों से PM मोदी की अपील, बोले- कोई नहीं छीन सकता आपके अधिकार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: तीसरे चरण में 17 सीटों पर 9 बजे तक 13 फीसदी मतदान◾झारखंड विधानसभा चुनाव : PM मोदी ने मतदाताओं से बड़ी संख्या में मतदान का किया आग्रह◾गोवा : CM प्रमोद सावंत ने संसद में CAB पारित होने पर प्रधानमंत्री को दी बधाई◾नागरिकता बिल पर असम में व्यापक विरोध प्रदर्शन, कई जिलों में इंटरनेट बंद◾राज्यसभा में पूर्वोत्तर की सभी पार्टियों ने नागरिकता विधेयक के पक्ष में वोट किया : गोयल ◾येचुरी ने सरकार पर लगाया आरोप कहा- भाजपा CAB के जरिए द्विराष्ट्र के सिद्धांत को फिर से जिंदा करने की कोशिश कर रही है ◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच मुख्यमंत्री के घर पर किया गया पथराव ◾नागरिकता संशोधन विधेयक को निकट भविष्य में अदालत में चुनौती दी जाएगी : सिंघवी ◾नागरिकता विधेयक को संसद की मंजूरी मिलने पर भाजपा ने खुशी जताई ◾सुप्रीम कोर्ट में खारिज हो जाएगा CAB : चिदंबरम ◾नागरिकता विधेयक पारित होना संवैधानिक इतिहास का काला दिन : सोनिया गांधी◾मोदी सरकार की बड़ी जीत, नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में हुआ पास◾ राज्यसभा में अमित शाह बोले- CAB मुसलमानों को नुकसान पहुंचाने वाला नहीं◾कांग्रेस का दावा- ‘भारत बचाओ रैली’ मोदी सरकार के अस्त की शुरुआत ◾

देश

न्यायाधीश ने एफटी के नये सदस्यों से एनआरसी दावों को बेहद ध्यान से जांचने को कहा

 nrc rally

गुवाहाटी : गुवाहाटी उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश (कार्यवाहक) अरूप कुमार गोस्वामी ने शनिवार को असम में विदेशी नागरिक न्यायाधिकरणों (एफटी) के नव नियुक्त सदस्यों से एनआरसी की अंतिम सूची से बाहर रखे गए लोगों के दावों को बहुत ध्यान से जांचने का आग्रह किया। 

असम सरकार ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी की 31 अगस्त को प्रकाशित हुई अंतिम सूची से बाहर रखे गए लोगों की अपील पर सुनवाई के लिए 200 से ज्यादा अपीलीय विदेशी नागरिक न्यायाधिकरणों के गठन को अधिसूचित किया था। इस सूची से 19 लाख से ज्यादा लोगों को बाहर रखा गया है। 

यहां अनुस्थापन कार्यक्रम के पहले दिन नव नियुक्त सदस्यों को संबोधित करते हुए न्यायमूर्ति गोस्वामी ने उनसे विदेशी नागरिक न्यायाधिकरण में अपने कर्तव्यों का निर्वाह करते हुए अत्यंत सावधानी से दावों एवं आपत्तियों की जांच को कहा। 

अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह एवं राजनीतिक विभाग) कुमार संजय कृष्ण ने कहा कि 200 नये विदेशी नागरिक न्यायाधिकरण बहुत जल्द काम करना शुरू करेंगे और 200 अन्य की स्थापना की जाएगी। 

कृष्ण ने कहा कि इन नये न्यायाधिकरणों की स्थापना दूर-दराज के इलाकों से आने वाले दावेदारों की समस्याओं को ध्यान में रख कर की गई है।

 

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया कि विशेष पुलिस महानिदेशक (सीमा) भास्कर ज्योति महंत ने नव गठित इलेक्ट्रॉनिक विदेशी नागरिक न्यायाधिकरण के उद्देश्यों एवं फायदों के बारे में विस्तार से बताया।