BREAKING NEWS

महागठबंधन में फूट : कांग्रेस बोली - मिले सम्मानजनक सीट नहीं तो 243 सीटों पर लड़ेंगे◾कृषि विधेयकों के मुद्दे पर अकाली दल ने NDA से तोड़ा 22 साल पुराना गठबंधन◾PM मोदी ने श्रीलंका में अल्पसंख्यक तमिलों के लिये सत्ता में भागदारी की हिमायत की◾देश के हितों की रक्षा करने में अपने सशस्त्र बलों की क्षमता पर विश्वास करने की जरूरत है : जयशंकर ◾KKR vs SRH (IPL 2020) : केकेआर ने सनराइजर्स हैदराबाद को 7 विकेट से हराया◾देश में कोरोना वायरस का कहर जारी, संक्रमितों की संख्या 60 लाख के करीब पहुंची◾UN के मंच से पीएम मोदी की नसीहत, कोरोना महामारी से निपटने में संयुक्त राष्ट्र कहां है? ◾संयुक्त राष्ट्र के मंच से पीएम मोदी का संबोधन: UN की निर्णायक इकाई से भारत को आखिर कब तक दूर रखा जाएगा◾अमित शाह ने लद्दाख के जन प्रतिनिधियों से की मुलाकात◾ड्रग केस : श्रद्धा कपूर, सारा अली खान से एनसीबी की पूछताछ खत्म, किसी को नया समन नहीं भेजा गया ◾राहुल ने किया केंद्र से आग्रह : प्रस्तावित कृषि कानूनों को वापस ले सरकार, एमएसपी की गारंटी दे◾ड्रग्स केस : एनसीबी के सामने दीपिका पादुकोण ने कबूली ड्रग चैट की बात, पांच घंटे तक हुई पूछताछ ◾वैज्ञानिकों ने हर मुश्किल और सामने आई सभी चुनौतियों को अवसर में बदला है: हर्षवर्धन◾वीरेंद्र सहवाग ने CSK का उड़ाया मजाक, कहा - टीम के बल्लेबाजों को ग्लूकोज चढ़वाने की जरूरत ◾भारत ने श्रीलंका में अल्पसंख्यक तमिलों के लिये सत्ता में भागदारी की हिमायत की : विदेश मंत्रालय◾BJP की नई टीम का ऐलान, राम माधव सहित 4 महासचिव बदले, देखें पूरी लिस्ट◾कांग्रेस का तीखा वार : श्रम सुधार संबंधी संहिताएं मजूदर विरोधी, सरकार के ‘डीएनए में’ है निर्णय थोपना◾ड्रग केस : अभिनेत्री श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर एनसीबी ने दागे तीखे सवाल , पूछताछ जारी◾पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर राजौरी में LOC पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया ◾पीएम मोदी UNGA को आज करेंगे संबोधित, आतंकवाद समेत इन मुद्दों पर होगी चर्चा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- कोरोना के रोजाना बढ़ते मामलों से राज्यों को अधिक चिंतित नहीं होना चाहिए

देशभर में कोरोना वायरस का कहर बरकरार है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि राज्यों को कोविड-19 संक्रमण के मामलों में रोजाना की मामूली वृद्धि से चिंतित नहीं होना चाहिए और आक्रामक तरीके से जांच करने, समग्र तरीके से संक्रमितों का पता लगाने और सही उपचार करने पर ध्यान रखने की नीति का पालन करना चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि 31 मार्च को कोविड-19 का इलाज करा रहे रोगियों की संख्या देश में संक्रमण के कुल मामलों का 88.83 प्रतिशत थी जो आज की तारीख में कम होकर 28.21 फीसदी हो गई है। उन्होंने कहा, ‘‘इस समय कोविड-19 के रोगियों में से एक प्रतिशत से भी कम रोगी वेंटिलेटर पर हैं, तीन प्रतिशत से भी कम ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं और चार प्रतिशत से भी कम आईसीयू में हैं।’’

भूषण ने कहा, ‘‘हमें व्यापक तस्वीर को अनदेखा नहीं करना चाहिए इसलिए हम कहते हैं कि रोजाना संक्रमण के मामलों में बहुत कम बढ़ोतरी से अत्यधिक चिंतित नहीं होना चाहिए। उन्हें आक्रामक तरीके से जांच करने, समग्र तरीके से संक्रमितों का पता लगाने, उन पर नजर रखने और सक्षम उपचार की नीति का पालन करते रहना चाहिए।’’

उन्होंने कहा कि देश में कोविड-19 से मृत्युदर दो प्रतिशत से भी कम हो गयी है और इस समय 1.99 प्रतिशत है। यह पहले लॉकडाउन के बाद से सबसे कम है और घट रही है। भूषण ने कहा कि कोविड-19 के मामलों के प्रभावी और त्वरित क्लीनिकल प्रबंधन के कारण राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमण से स्वस्थ होने की दर बढ़कर 69.80 प्रतिशत हो गयी है। उन्होंने कहा, ‘‘कुल ढाई करोड़ नमूनों की जांच की जा चुकी है और स्वस्थ हुए संक्रमितों की संख्या 15 लाख के पार चली गयी है।’’ भूषण ने बताया कि देश में प्रतिदिन दस लाख आबादी पर इस समय 506 नमूनों की जांच की जा रही है।