BREAKING NEWS

ईरान में कोरोना संकट के बीच फंसे 275 भारतीयो को दिल्ली लाया गया ◾कोरोना वायरस से अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 121,000 के पार हुई, अबतक 2000 अधिक से लोगों की मौत ◾कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾

भारत, बांग्लादेश के बीच बढ़ते विश्वास के कारण उनकी साझेदारी को नया आयाम और दिशा मिली : PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि भारत और बांग्लादेश ने आपसी संबंधों का एक सुनहरा अध्याय लिखा है और दोनों देशों के बीच बढ़ते विश्वास के कारण उनकी साझेदारी को नया आयाम और दिशा मिली है। 

शेख मुजीब-उर-रहमान की जन्मशती के मौके पर मोदी ने वीडियो संदेश में कहा कि 'बंगबंधु' ने अपने जीवन का हर पल बांग्लादेश को तबाही और नरसंहार के दौर से बाहर निकालने के लिए समर्पित कर दिया। 

प्रधानमंत्री ने परोक्ष रूप से पाकिस्तान का जिक्र करते हुए कहा, ''हम सभी इस बात के साक्षी हैं कि किस तरह आतंकवाद और हिंसा को राजनीति और कूटनीति का हथियार बनाकर एक समाज और राष्ट्र का विनाश किया गया। दुनिया यह भी देख रही है कि वर्तमान में आतंक और हिंसा के समर्थक कहां हैं और उनकी क्या हालत है, वहीं बांग्लादेश नई ऊंचाइयों को छू रहा है।'' 

उन्होंने कहा कि बंगबंधु के नाम से मशहूर मुजीब-उर-रहमान 21वीं सदी की दुनिया को महान संदेश देते हैं। 

मोदी ने उस समय के पूर्वी पाकिस्तान में पाकिस्तानी सेना की भूमिका की ओर इशारा करते हुए कहा, ''हम सभी अच्छी तरह जानते हैं, एक दमनकारी और क्रूर शासन ने कैसे सभी लोकतांत्रिक मूल्यों को नकारते हुए, 'बांग्ला भूमि' के साथ अन्याय किया और उसके लोगों को तबाह कर दिया।'' 

उन्होंने कहा कि मुजीब ने बांग्लादेश को एक सकारात्मक और प्रगतिशील समाज की ओर मोड़ दिया। ''वे इस बात को लेकर स्पष्ट थे कि नफरत और नकारात्मकता कभी भी किसी भी देश के विकास की नींव नहीं हो सकती।'' 

मोदी ने कहा कि बंगबंधु से प्रेरित होकर बांग्लादेश शेख हसीना के नेतृत्व में समावेशी और विकास उन्मुख नीतियों के साथ आगे बढ़ रहा है। “और यह वास्तव में सराहनीय है।” 

चाहे वह अर्थव्यवस्था हो, अन्य सामाजिक सूचकांक हों या खेल हों, आज बांग्लादेश नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि बांग्लादेश ने कौशल, शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला सशक्तिकरण जैसे कई क्षेत्रों में अभूतपूर्व प्रगति की है। 

मोदी ने कहा, ''मुझे इस बात की भी खुशी है कि बीते पांच वर्षों में भारत और बांग्लादेश ने आपसी रिश्तों का भी सुनहरा अध्याय गढ़ा है। अपनी साझेदारी को नयी दिशा और नये आयाम दिये हैं। यह हम दोनों देशों में बढ़ता हुआ विश्वास है, जिसके कारण हम दशकों से चले आ रहे भूमि सीमा और समुद्री सीमा से जुड़े पेचीदा मुद्दों को शांतिपूर्ण ढंग से सुलझाने में सफल रहे हैं।''