BREAKING NEWS

देश भर में कोरोना का प्रकोप जारी, मरने वालों का आंकड़ा 190 के पार, 6500 लोग इससे संक्रमित◾देश भर में कोरोना का कहर का प्रकोप जारी, मरने वालों का आंकड़ा 190 के पार, 6500 लोगों इससे संक्रमित◾कोरोना की चपेट में आया सऊदी का शाही परिवार, किंग सलमान आइसोलेशन में◾Coronavirus : महाराष्ट्र में 24 घंटे के भीतर 25 मौतें, राज्‍य में 1,364 लोग संक्रमित ◾कोविड-19 : राजधानी दिल्ली में कोरोना के 51 नए मामले, राज्य में संक्रमितों की संख्या 720 तक पहुंची◾डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के खिलाफ की जाएगी सख्त कार्रवाई : CM केजरीवाल◾शिया वक्फ बोर्ड ने तबलीगी जमात पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- 1 लाख से ज्यादा लोग मारने की बनाई थी योजना◾कोरोना वायरस : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में आवश्यक उपकरणों का स्टॉक मौजूद, PPE और वेंटिलेटर की खरीद शुरु◾देश में कोरोना फैलने के लिए अनिल देशमुख ने दिल्ली पुलिस को ठहराया जिम्मेदार◾कोरोना संकट से जारी जंग में मदद के तौर पर केंद्र सरकार ने राज्यों के लिए आपात पैकेज की दी मंजूरी◾महाराष्ट्र कैबिनेट ने उद्धव ठाकरे को MLC बनाने का लिया निर्णय, राज्यपाल को भेजेंगे प्रस्ताव ◾कोरोना संकट : ओडिशा सरकार ने 30 अप्रैल तक बढ़ाई लॉकडाउन की अवधि, केंद्र से किया ये अनुरोध◾गुजरात में कोरोना के 55 नए मरीज, अकेले अहमदाबाद के 50 लोग हुए संक्रमित◾PM मोदी ने किया ट्रम्प का समर्थन, कहा- मुश्किल वक्त ही दोस्तों को लाती है करीब◾जमात प्रमुख मौलाना साद के ठिकाने का हुआ खुलासा, पुलिस फिलहाल नहीं करेगी पूछताछ ◾झारखंड में कोरोना वायरस से 1 की मौत, मरीजों की संख्या एक दिन में तिगुनी हुई ◾Coronavirus : अमेरिका में मरने वालों की संख्या 14000 के पार, 11 भारतीयों के मौत की पुष्टि◾चीन में कोविड-19 के 63 नए मामलें सामने आए, अबतक करीब 3,335 लोगों की हुई मौत ◾पूरे विश्व कोरोना वायरस का कहर जारी, अब तक वायरस से संक्रमितों की संख्या 15 लाख से अधिक हुई ◾कोविड-19 : देश में 5,734 संक्रमित मामलों की पुष्टि वहीं 166 लोगों की अब तक मौत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा ने रविवार को कहा कि अभी तक ऐसे कोई सकारात्मक संकेत नहीं हैं कि इस यात्रा का कोई महत्वपूर्ण परिणाम होगा। 

हालांकि पूर्व विदेश मंत्री एस एम कृष्णा का मानना है कि यह यात्रा महत्व रखती है क्योंकि अमेरिका और भारत दोनों को अपने बीच संबंध को पोषित करने और उसे बरकरार रखने की जरूरत है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप 24 से 25 फरवरी तक भारत की यात्रा पर रहेंगे। शर्मा ने कहा कि यात्रा इस तथ्य के मद्देनजर महत्वपूर्ण है कि अमेरिका एक बड़ी शक्ति है, लेकिन केवल इतना ही है। 

शर्मा ने कहा, ‘‘अभी तक मुझे किसी प्रमुख नतीजे का कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिला है। यह रक्षा एवं सुरक्षा सहयोग और अंतरिक्ष एवं परमाणु विज्ञान में हमारे सहयोग की पुन: पुष्टि होगी। यह चल रहा है और यह कोई नयी बात नहीं होगी।’’ 

वहीं संप्रग सरकार में विदेश मंत्री रहे और अब भाजपा में आ चुके कृष्णा का मानना है कि ट्रंप की यात्रा यद्यपि अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव के वर्ष हो रही है और वहां बड़ी संख्या में प्रवासी भारतीय वोट करेंगे लेकिन ‘‘इसे अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘इसे एक व्यापक परिप्रेक्ष्य में देखा जाना चाहिए कि क्षेत्र में क्या हो रहा है।’’ 

कृष्णा ने कहा कि चीन भी इस यात्रा और इस दौरान होने वाली बातचीत पर निगाह रखेगा। 

उन्होंने पीटीआई से कहा, ‘‘यह एक बहुत महत्वपूर्ण यात्रा है। अमेरिका और भारत के बीच बहुत घनिष्ठ और महत्वपूर्ण संबंध हैं, विशेष तौर पर परमाणु समझौते के बाद। हम एकदूसरे के रणनीतिक रूप से निकट आये हैं और संबंध को पोषित करना और उसे बरकरार रखना महत्वपूर्ण है।’’ 

इसके संभावित परिणामों के बारे में पूछे जाने पर कृष्णा ने कहा कि ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी के एजेंडे से वह अवगत नहीं हैं। हालांकि कुछ समझौतों पर निश्चित रूप से हस्ताक्षर किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जब इस तरह की बैठक होती हैं तो दोनों देशों से संबंधित मुद्दे जरूर आते हैं। 

उन्होंने कहा, ‘‘इसका द्विपक्षीय होना जरूरी नहीं है क्योंकि हो सकता है कि परिणाम के ऐसे प्रभाव हो सकते हैं जो क्षेत्र से संबंधित हों। उन्होंने कहा कि चीन और पाकिस्तान पर निश्चित रूप से चर्चा होगी। 

कांग्रेस नेता शर्मा ने दावा किया कि यात्रा के दौरान न कोई व्यापार समझौता होगा न ही सामान्यीकृत वरीयता प्रणाली (जीएसपी) के तहत भारत के दर्जे की बहाली होगी, जो पूर्व में थी। 

उन्होंने कहा, ‘‘कोई व्यापार समझौता नहीं होगा। मिल रहे संकेतों और अमेरिका के नकारात्मक बयानों को देखते हुए जीएसपी की बहाली नहीं होने जा रही।’’ 

शर्मा ने कहा, ‘‘भारत को विकसित देशों की सूची में डालकर, अमेरिका एच1बी वीजा और उन पहुंच में काफी कटौती करेगा जो भारत को एक विकासशील देश के तौर पर उपलब्ध थे। .. इसलिए देखते हैं। एक हेलीकाप्टर सौदे के अलावा कुछ भी दिखायी नहीं दे रहा है।’’ 

उन्होंने कहा कि ‘‘हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि क्या कोई परिणाम सामने आते हैं।’’ 

राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता शर्मा ने कहा, ‘‘अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप आज एक संदेश देंगे और कल दूसरा संदेश देंगे। उन्होंने पूर्व में ऐसा किया है। मत भूलिये कि ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम के बाद कैसे वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मिले थे। इसलिए हमें इंतजार करना होगा।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘वे (अमेरिका) जो अफगानिस्तान में कर रहे हैं उसके लिए उन्हें पाकिस्तान की भी जरूरत है।’’ 

शर्मा ने कहा कि ट्रंप की यात्रा को चीन की बढ़त को संतुलित करने के एक प्रयास के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए। 

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘चीन हमसे पांच गुना बड़ा है। भारत ऐसी स्थिति में नहीं कि संतुलन बना सके। 

अमेरिका के चीन के साथ अपने समीकरण हैं (जिसे) किसी को भूलना नहीं चाहिए। वे बातें करते हैं लेकिन जल्दी ही समझौते कर लेते हैं। उनका एक व्यापार समझौता है। देखते हैं।’’