BREAKING NEWS

UP के BJP विधायक का विवादित बयान, कहा- ‘राक्षसी’ संस्कृति की है ममता बनर्जी, उनके डीएनए में दोष◾किसानों की परेशानियों को सुनने और समझने की बजाए सरकार उन्हें आतंकवादी कहती है : राहुल गांधी◾लालू प्रसाद की बिगड़ी तबीयत पर बोले मुख्यमंत्री नीतीश- वे जल्द ठीक हों, मेरी शुभकामना उनके साथ◾असम में गरजे अमित शाह- कांग्रेस बताए इतने सालों तक रक्तरंजित क्यों रहा राज्य◾कृषि कानून को लेकर 60वें दिन आंदोलन जारी, 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली की तैयारी में जुटे किसान ◾LAC विवाद : भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक मोल्डो में जारी ◾दिल्ली में आधी रात को लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, छह लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ा◾गणतंत्र दिवस पर 2 बजे के बाद खुलेगी कनॉट प्लेस मार्केट, बंद रहेंगे ये 4 मेट्रो स्टेशन◾उत्तर भारत में सर्दी का सितम जारी, शीतलहर से फिर कांपेगी राजधानी दिल्ली ◾राहुल गांधी का तंज- जनता महंगाई से त्रस्त, मोदी सरकार टैक्स वसूली में मस्त◾CM उद्धव ठाकरे की साइन की हुई फाइल से छेड़छाड़, PWD इंजीनियर के खिलाफ जांच के दिए थे आदेश◾BJP सांसद साक्षी महाराज का आरोप-कांग्रेस ने कराई थी नेताजी की हत्या◾देश में कोरोना के 14849 नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 1 करोड़ 65 लाख के पार ◾TOP 5 NEWS 24 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 9.86 करोड़ तक पहुंचा◾ममता बनर्जी के लिये ‘जय श्री राम’ का नारा सांड को लाल कपड़ा दिखाने के समान है : अनिल विज◾ सात और राज्य अगले सप्ताह से स्वदेशी तौर पर विकसित ‘कोवैक्सीन’ टीका लगाएंगे : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾ वायुसेना प्रमुख भदौरिया बोले- भारत पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमानों पर काम कर रहा है◾आज का राशिफल (24 जनवरी 2021)◾गुजरात में फरवरी में होंगे स्थानीय निकाय चुनाव ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना के एक या दो मामले पर पूरे कार्यालय को बंद करने की जरूरत नहीं, पर ऐतिहात अपनाएं : स्वास्थ्य मंत्रालय

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के एक या दो मामले आने पर कार्यालय के समूचे भवन को बंद करने की जरूरत नहीं होगी और निर्देशों के तहत संक्रमणमुक्त बनाने के बाद काम बहाल किया जा सकता है । कार्यस्थल पर कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती उपायों पर दिशानिर्देश में कहा गया है कि हालांकि बड़े स्तर पर मामले सामने आने पर समूची इमारत को 48 घंटे के लिए बंद किया जाएगा। इमारत को संक्रमण मुक्त बनाए जाने और फिर से इसे काम बहाली के लिए उपयुक्त घोषित किए किए जाने तक सभी कर्मचारी घर से काम करेंगे। 

मंत्रालय के दस्तावेज में कार्यस्थल पर कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए एहतियाती उपायों को रेखांकित किया गया है। इसमें कहा गया है कि बुखार जैसी स्थिति में किसी भी कर्मचारी को कार्यालय नहीं आना चाहिए और स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों से चिकित्सा सलाह लेनी चाहिए । अगर ऐसे व्यक्ति में कोविड-19 के लक्षण मिलते हैं या उनमें संक्रमण की पुष्टि होती है तो तुरंत कार्यालय के अधिकारियों को सूचित करना चाहिए । 

दिशानिर्देश में कहा गया है, ‘‘किसी कर्मचारी को उनके रिहायशी इलाके में निषिद्ध क्षेत्र के आधार पर घर पर पृथक-वास में रहने को कहा जाता है तो उन्हें घर से काम करने की अनुमति मिलनी चाहिए। बैठकें करने, आगंतुकों के आने के संबंध में डीओपीटी के निर्देशों का पालन होना चाहिए। ’’

मंत्रालय ने दिशानिर्देश में कहा है कि संक्रमण के अत्यधिक जोखिम वाली स्थिति में 14 दिन पृथक वास में रहना होगा, घर पर पृथक-वास में रहने के लिए निर्देशों का पालन करना होगा और आईसीएमआर द्वारा तय प्रक्रिया के मुताबिक जांच कराना होगा । 

इसमें कहा गया है कि चूंकि कार्यालय और अन्य कार्यस्थल चारों ओर से बंद होते हैं और इसमें सीढ़ियां, कैफेटेरिया, बैठक कक्ष और कॉन्फ्रेंस रूम साझा तौर पर इस्तेमाल होता है, ऐसे में कर्मचारियों, आगंतुकों के बीच संक्रमण के तेजी से फैलाने का खतरा हो सकता है । 

मंत्रालय ने दस्तावेज में कहा है, ‘‘इसलिए कार्यस्थल पर संक्रमण को रोकने की जरूरत है और संदिग्ध मामले की स्थिति में समय से और प्रभावी कदम उठाने की जरूरत है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। ’’ कम से कम एक मीटर शारीरिक दूरी बनाए रखने, मास्क पहनने या चेहरा ढकने, लगातार हाथ धोने जैसे उपायों पर भी अमल करने को कहा गया है । 

दिशानिर्देश में कहा गया है, ‘‘अगर एक या दो मामले आते हैं ऐसे क्षेत्र को संक्रमण मुक्त बनाना होता जहां पर मरीज पिछले 48 घंटे में गया हो । समूचे भवन को बंद करने या कार्यालय के अन्य हिस्से में काम रोकने की जरूरत नहीं है। तय प्रक्रिया के तहत संक्रमण मुक्त बनाने के बाद काम बहाल किया जा सकता है । ’’ 

दिल्ली में इन पाबंदियों के साथ बसें चलाने की अनुमति, बाजारों में ऑड - इवन आधार पर खुलेंगी दुकानें