BREAKING NEWS

IPL 2020 : राजस्थान रायल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को 4 विकेट से हराया ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम बरकरार, बीते 24 घंटे में 18,056 नए केस, 380 की मौत ◾IPL 2020 RR vs KXIP : पंजाब की तूफानी बल्लेबाजी, राजस्थान को दिया 224 रनों का लक्ष्य◾मप्र उपचुनाव : कांग्रेस ने 9 और उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट की जारी, भाजपा के तीन नेताओं को मिला टिकट◾कोविड-19 : सत्येंद्र जैन ने कहा- पिछले 10 दिनों में दिल्ली में मृत्यु दर एक फीसदी से नीचे रही◾संसद से पारित तीनों कृषि संबंधी विधेयकों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी◾IPL 2020 RR vs KXIP : राजस्थान ने जीता टॉस, पंजाब को दिया बल्लेबाजी का न्योता◾फिल्मकार अनुराग कश्यप की गिरफ्तारी में देरी होने पर पायल घोष ने उठाए सवाल ◾बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय जेडीयू में हुए शामिल, कहा- नहीं समझता राजनीति◾विधानसभा चुनाव के लिए बिहार में तैनात होंगे 30,000 जवान, गृह मंत्रालय ने दिए निर्देश◾मतदाताओं को लुभाने की कवायद में जुटे राजनीतिक दल, तेजस्वी ने 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का किया वादा◾पूर्व सैन्य अधिकारी होने के बावजूद एक दक्ष नेता के तौर पर जसवंत ने हमेशा दिखाई राजनीतिक ताकत◾चीन को जवाब देने के लिए भारत पूरी तरह तैयार, लद्दाख में तैनात किए T-90 और T-72 टैंक◾मन की बात : PM मोदी बोले-देश का कृषि क्षेत्र, हमारे किसान, गांव आत्मनिर्भर भारत का आधार◾जिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं, मैं उसको NDA नहीं मानता : संजय राउत◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 60 लाख के करीब, पिछले 24 घंटे में 1124 लोगों की मौत◾राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज- काश, कोविड एक्सेस स्ट्रैटेजी ही मन की बात होती◾क्या ड्रग चैट्स का होगा खुलासा, एनसीबी ने दीपिका, सारा और श्रद्धा के फोन किए जब्त ◾पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, पीएम मोदी ने शोक व्यक्त किया◾पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती कोरोना से संक्रमित, खुद को किया क्वारनटीन◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

करगिल युद्ध में बाप-बेटे की इस जोड़ी ने दिया वीरता का परिचय, जिसे देख देश ने भी किया सलाम !

आज कारगिल युद्ध को 20 साल पूरे हो गए हैं। आज पूरा देश 'करगिल विजय दिवस' की 20वीं वर्षगांठ मना रहा है। साल 1999 में आज ही के दिन भारत माता के वीर सपूतों ने करगिल में पाकिस्तान को करारा जवाब दिया था। 

यह युद्ध करीब दो महीने तक चला था जिसमें भारतीय सेना ने साहस और जाबांजी का ऐसा उदाहरण पेश किया था जिसपर सभी देशवासियों को गर्व है। इस युद्ध में हिस्सा लेने वाले सैनिकों के जहन में आज भी इसकी यादें ताजा हैं।

वही , विजय की लड़ाई लड़ रहे जांबाज़ों में पिता और पुत्र की एक ऐसी भी जोड़ी (Father Lt Gen Am Aul Son Colonel Amit Aul Pair ) थी, जिन्होंने एक नई मिसाल कायम की। बता दे कि उन्‍होंने इस मौके पर करगिल युद्ध के शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि भी दी।

जी हाँ ,1999 में पाकिस्‍तान के साथ हुए इस युद्ध में लेफ्टिनेंट जनरल औल 56 माउंटेन ब्रिगेड के कमांडर थे। जिसने द्रास सब सेक्‍टर में रणनीतिक रूप से महत्‍वपूर्ण टाइगर हिल पहाड़ी पर कब्‍जा किया था। लेफ्टिनेंट जनरल औल वेस्‍टर्न कमांड के चीफ ऑफ स्‍टाफ के पद से रिटायर हो चुके हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल ऑल उस समय बिग्रेडियर थे और 56 माउंटेन ब्रिगेड का नेतृत्‍व कर रहे थे। इस ब्रिगेड ने तोलोलिंग और टाइगर हिल पर विजय पाई थी। 

वहीं , अमित उस समय 3/3 गोरखा राइफल्‍स में सेकंड लेफ्टिनेंट थे। अमित मारपो ला एरिया में तैनात थे। अब औल परिवार पंचकुला में रहता है, इन दोनों को ही सेना में बहादुरी के लिए पदकों से सम्‍मानित किया गया है। जनरल ऑल को उत्तम युद्ध सेवा मेडल और अमित को सेना मेडल मिला था। 

अमित ऑल ने बताया कि मुझे मेरे पिता ने सलाह दी थी कि इस बारे में माँ को सबकुछ नहीं बताना क्युकी तुम एक सिपाही हो जिसका कर्म है युद्ध करना। 

आगे अमित ऑल ने बताया कि उनकी और उसके पिता कि युद के दौरान बातचीत नहीं हो पाई थी और हम युद्ध के करीब दो माह के बाद ही मिले। अमित ऑल ने कहा कि मैंने अपना आखिर खत यूनिट को भेज दिया था। अगर कोई सैनिक युद्ध के मैदान में शहीद हो जाता है तो ये खत उसके परिवार को भेज दिया जाता है।  

वही , जब जनरल औल से पूछा गया कि क्‍या उन्‍हें अपने इकलौते बेटे की चिंता नहीं थी तो जनरल औल ने कहा कि युद्ध में ऐसे विचारों के लिए कोई जगह नहीं है। 

वह एक सैनिक था और आदेशों का पालन कर रहा था जोकि हर सैनिक को करना चाहिए। मुझे गर्व है कि उसने बहादुरी से युद्ध लड़ा और इसके लिए उसे पदक भी मिला।

वही इस बात पर जनरल औल की पत्‍नी का कहना है कि साल 1999 कारगिल युद्ध के इन ढाई महीनों में उन्‍होंने अपने पूरे जीवन भर की प्रार्थनाएं कर डाली थीं।