BREAKING NEWS

अनुभवहीनता और गलत नीतियों के कारण देश में आर्थिक मंदी - कमलनाथ◾वायुसेना प्रमुख ने अभिनंदन की शीघ्र रिहाई का श्रेय राष्ट्रीय नेतृत्व को दिया ◾न तो कोई भाषा थोपिए और न ही किसी भाषा का विरोध कीजिए : उपराष्ट्रपति का लोगों से अनुरोध◾अनुच्छेद 370 फैसला : केंद्र के कदम से श्रीनगर में आम आदमी दिल से खुश - केंद्रीय मंत्री◾TOP 20 NEWS 20 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾राहुल का प्रधानमंत्री पर तंज, कहा- ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम ‘आर्थिक बदहाली’ को नहीं छिपा सकता◾रेप के अलावा चिन्मयानंद ने कबूले सभी आरोप, कहा-किए पर हूं शर्मिंदा◾डराने की सियासत का जरिया है NRC, यूपी में कार्रवाई की गई तो सबसे पहले योगी को छोड़ना पड़ेगा प्रदेश : अखिलेश यादव◾नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव में NDA की बड़ी जीत का किया दावा, कहा- गठबंधन में दरार पैदा करने वालों का होगा बुरा हाल◾कॉरपोरेट कर में कटौती ‘ऐतिहासिक कदम’, मेक इन इंडिया में आयेगा उछाल, बढ़ेगा निवेश : PM मोदी◾PM मोदी और मंगोलियाई राष्ट्रपति ने उलनबटोर स्थित भगवान बुद्ध की मूर्ति का किया अनावरण◾कांग्रेस नेता ने कारपोरेट कर में कटौती का किया स्वागत, निवेश की स्थिति बेहतर होने पर जताया संदेह◾वित्त मंत्री की घोषणा से झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1900 अंक उछला◾पीड़िता की आत्मदाह की धमकी और जनता के दबाव में हुई चिन्मयानंद की गिरफ्तारी : प्रियंका गांधी ◾यौन शोषण के आरोप में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए चिन्मयानंद, 3 और गिरफ्तार◾सरकार ने घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर की दर घटाकर की 25.17 प्रतिशत : वित्तमंत्री◾कश्मीर मुद्दे को उठाकर पाकिस्तान नीचे गिरेगा, तो हम ऊंचा उठेंगे : सैयद अकबरुद्दीन ◾शाहजहांपुर यौन शोषण केस में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद गिरफ्तार◾अमेरिका : व्हाइट हाउस के नजदीक गोलीबारी में 1 की मौत, 5 घायल◾LIC का पैसा घाटे वाली कंपनियों में लगा रही है मोदी सरकार : प्रियंका गांधी ◾

देश

नितिन गडकरी बोले- कड़े यातायात नियमों का लक्ष्य सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाना

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर लगाये गये भारी-भरकम जुर्माने का लक्ष्य सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाना है। गडकरी ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति नियमों का पालन करता है तो उसे जुर्माने का भय नहीं होना चाहिये। 

उन्होंने कहा, "यदि कोई व्यक्ति यातायात नियमों का पालन कर रहा है तो उसे जुर्माने का डर क्यों? लोगों को खुश होना चाहिये कि भारत में विदेश की तरह सड़कें सुरक्षित हो जाएंगी, जहां लोग अनुशासन के साथ यातायात नियमों का पालन करते हैं। क्या इंसानों के जान की कीमत नहीं है?"

गडकरी ने कहा कि कठोर नियम आवश्यक थे क्योंकि लोग यातायात नियमों को हल्के में लेते थे और लोगों में इन नियमों का कोई भय या सम्मान नहीं था। उन्होंने कहा, "मैं इस मुद्दे को लेकर संवेदनशील हूं। उन लोगों से पूछिये जिन्होंने सड़क दुर्घटनाओं में किसी करीबी को खोया है। सड़क दुर्घटनाओं के 65 प्रतिशत शिकार 18 से 35 वर्ष के होते हैं, उनके परिजनों से पूछिये कि उन्हें कैसा लगता है। मैं खुद सड़क दुर्घटना का पीड़ित हूं। यह सोच-समझकर उठाया गया कदम है और चाहे कांग्रेस हो या तृणमूल और टीआरएस, सभी दलों की सहमति ली गयी है।"

उन्होंने कहा कि कानून नियमों का उल्लंघन करने वालों पर समान रूप से कार्रवाई करता है। उसे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है उल्लंघन करने वाला कोई केंद्रीय मंत्री है या मुख्यमंत्री, कोई बड़ा अधिकारी है या पत्रकार। नियमों का जो कोई भी उल्लंघन करेगा, उसे जुर्माना देना ही होगा।